महायज्ञ में आहूतियं देने के लिए उमड़ा शहर

श्रीलक्ष्मी-नृसिंह यज्ञ में काशी के पंडितों के गूंजे मंत्रों के स्वर -
वैदिक मंत्रोच्चारण के दौरान अर्पित आहूतियों से बदला वातावरण
- नृसिंह बगीची में चल रहे पंचकुण्डीय श्रीलक्ष्मी-नृसिंह महायज्ञ में उमड़ा आस्था का ज्वार

By: Sharad Shukla

Published: 12 May 2019, 12:06 PM IST

Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

नागौर. गिनाणी तालाब के पास नृसिंह बगीची में चल रहे पंचकुण्डीय श्रीलक्ष्मी-नृसिंह महायज्ञ में काशी के पंडितों के वैदिक मंत्रो के स्वर गूंजते रहे। यज्ञ में विशेष बात यह रही कि काशी से आए दो दर्जन से अधिक पंडित एवं एक आचार्य के निर्देशन में वैदिक मंत्रोच्चारण से पूरा माहौलद आस्था के रंग में बदला रहा। । सुबह आठ से दोपहर 12 बजे तक , और इसके बाद अपराह्न तीन बजे से शाम को सात बजे तक श्रद्धालुओं ने लगातार आहूतियां अर्पित की।मंत्रोच्चार से पूरा वातावरण मंत्रमय बना रहा। वैदिक मंत्रों के गूंजते स्वरों से श्रद्धालुओं में आस्था का रंग नजर आया।
तेज अंधड़ ने गिराए पोल, तोड़े तार, उड़ते रहे धूल के बवंडर
नागौर. जिले में शनिवार को दोपहर में 42 डिग्री के तापमान ने झुलसाया, वहीं रात्रि करीब साढ़े नौ बजे चले तेज अंधड़ चलने से करीब एक दर्जन से अधिक गिर गए। कई जगहों पर तार ही उखड़ गए। इससे बिजली व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो गई। शहर पूरी तरह से अंधेरे में डूब गया। इस दौरान हुई बूंदाबांदी और तेज हवाओं की वजह से कई जगहों पर रात्रि में हालात बेहद खराब हो गए। चारों ओर धूलभरे गुबारों के कारण सडक़ों पर वाहन चालकों को सर्वाधिक दिक्कतें हुई। विद्युत व्यवस्था के संदर्भ में निगम के अधिकारियों से संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन सफलता नहीं मिली।
शहर में शनिवार को आए तेज अंधड़ ने जिले की बिजली व्यवस्था को पूरी तरह से अस्तव्यस्त कर दिया। कई जगहों पर तारों एवं पोलों के गिरने से स्थिति बेहद ही खराब हो गई। नागौर शहर तो पूरी तरह से अंधेरे में कैद रहा। शहर के कलक्ट्रेट, रेलवे स्टेशन, मूण्डवा चौराहा, नया शहर, सदर बाजार, गांधी चौक, तहसील चौक आदि क्षेत्रों में पूरी तरह से अंधेरा पसरा रहा। इसी दौरान हल्की बारिश की चली फुहारों के साथ ही धूलभरे अंधड़ लोगों को परेशान करते रहे। शहर की सडक़ों पर करीब 20 मिनट तक केवल अंधड़ का राज रहा। अंधड़ के साथ ही कुचामन, मुण्डवा, परबतसर, मकराना और नागौर में कहीं बूंदाबांदी हुई तो, कहीं पर आंशिक रूप से हल्की बारिश का असर नजर आया। इस संबंध में जिले के अधीक्षण अभियंता से बातचीत हुई तो उनका कहना था कि तेज अंधड़ के कारण अव्यवस्थित हुई विद्युत व्यवस्था को सुचारु किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned