नागौर के लालाप में विदेशी पक्षियों का शिकार

नागौर के लालाप में विदेशी पक्षियों का शिकार

babulal tak | Publish: Dec, 23 2016 11:25:00 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

ग्राम लालाप में गुरुवार रात को शिकारियों ने जहरीला दाना डालकर दर्जनभर विदेशी पक्षियों (साइबेरियन क्रेन) का शिकार कर लिया। रात होने के कारण शिकारी ग्रामीणों की पकड़ में नहीं आ पाए।

सुबह जब घटना की जानकारी आस-पास के गांवों के लोगों एवं वन्य जीव प्रेमियों को मिली तो वो घटना स्थल पर एकत्रित हो गए। मामला बढ़ता देख मौके पर पुलिस एवं वन विभाग के अधिकारी भी पहुंचे। मृत पक्षियों का चिकित्सकों से पोस्टमार्टम करवाया गया। ग्रामीणों की रिपोर्ट पर पुलिस ने शिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। लालाप गांव स्थित तालाब की अंगोर में गुरुवार शाम को शिकारियों ने करीब एक दर्जन विदेशी पक्षियों का जहरीला दाना डालकर शिकार कर लिया। ग्रामीणों को जब इसकी भनक लगी तो शिकारी आधा दर्जन पक्षियों को लेकर भाग गए तथा आधा दर्जन पक्षी मौके पर ही छोडक़र फरार हो गए। ग्रामीणों ने शिकारियों की तलाश की, लेकिन रात होने के कारण वे ग्रामीणों के हत्थे नहीं चढ़ पाए। शुक्रवार को जब वन्य जीव प्रेमियों को घटना की जानकारी मिली तो वह मौके पर पहुंच गए और आस-पास के गांवों से बड़ी तादाद में ग्रामीणों को बुला लिया। सूचना मिलने पर पांचौड़ी थाना प्रभारी मनीष वैष्णव व वन विभाग के एसईएफ भगवानसिंह राठौड़ भी मौके पर पहुंचे।
ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन
लालाप में बढ़ती शिकार की घटनाओं पर वन विभाग की गश्त लगाने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन भी किया। श्री जम्भेश्वर पर्यावरण एवं जीव रक्षा संस्था के खींवसर तहसील अध्यक्ष ओमप्रकाश विश्रोई ने घटना स्थल से वन विभाग के उच्चाधिकारियों से फोन पर बात कर कार्यवाही नहीं करने पर उग्र आन्दोलन की चेतावनी दी। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में बड़ी संख्या में आए दिन वन्य जीवों के शिकार हो रहे है लेकिन विभाग संसाधन विहीन बताकर हाथ खड़े कर रहा है। वन्य जीव प्रेमियों में रोष बढ़ता जा रहा है। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए वन विभाग एवं पुलिस के अधिकारियों द्वारा शिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने का आश्वासन देने पर ग्रामीण शांत हुए। वन विभाग ने मौके से पांच मृत साइबेरियन क्रेन कब्जे में लिए। कई जगह मृत पक्षियों के अंग भी मिले है। ग्रामीण हुक्माराम ने शिकार की घटना को लेकर भावण्डा पुलिस थाने में शिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।
इस मौके पर ओमप्रकाश विश्रोई, रामकरण, रूपाराम जाट, मनीराम मुण्डेल, भुंडाराम ढोली, वन्य जीव रक्षा प्रदेश संस्था के प्रदेश महामंत्री अनोपाराम डूडी, महामंत्री हनुमानराम लेगा, मंत्री सहीराम, बी.आर. मिर्धा कॉलेज के पूर्व उपाध्यक्ष शिवपाल विश्रोई, मालाराम लेगा, मनफूल, सुगनाराम चौकीदार, श्रवणदास साद, सहदेव, अर्जुन जाट, बंशीलाल मेघवाल, पांचाराम प्रजापत सहित बड़ी संख्या में वन्य जीव प्रेमी मौजूद थे।
पहले भी हुआ था बड़ा शिकार
कुछ समय पहले ग्राम लालाप के इसी तालाब के समीप शिकारियों ने हरिणों को शिकार किया था। उस समय भी ग्रामीणों ने बड़ा आन्दोलन किया,था, लेकिन शिकारी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ पाए। इस कारण शिकार की घटनाओं में लगातार इजाफा हो रहा है। ग्रामीणों ने पास ही स्थित गोवां कला गांव में भी शिकार की घटनाएं होने की जानकारी दी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned