जिले में 22 फरवरी से संचालित होगा आधार सप्ताह

जिला कलक्टर ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में दिए निर्देश

By: shyam choudhary

Updated: 20 Feb 2021, 11:02 AM IST

नागौर. जिले में अब प्रत्येक ब्लॉक मुख्यालय के पंचायत समिति परिसर में भारत निर्माण राजीव गांधी आईटी सेंटर पर आधार नामांकन एवं अद्यतन सप्ताह आयोजित किया जाएगा। 22 फरवरी से आयोजित किए जाने वाले इस आधार नामांकन सप्ताह को लेकर जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने शुक्रवार की शाम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उपखण्ड अधिकारी, विकास अधिकारी व सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

डॉ. सोनी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कहा कि जिले में कोविड टीकाकरण प्रारम्भ हो चुका है और स्वास्थ्य कर्मियों एवं फ्रंटलाइन कार्मिकों के बाद अब शीघ्र ही 50 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों के टीकाकरण का अभियान प्रारम्भ हो जाएगा। टीकाकरण के लिए नागारिकों को कोविन प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण करवाना होगा और यह पंजीकरण ओ.टी.पी. आधारित आधार सत्यापन से किया जाएगा। इसके लिए यह आवश्यक हो जाता है कि आधार नामांकित नागरिक का मोबाइल नम्बर आधार के साथ जुड़ा हुआ हो। कोविन एप पर टीकाकरण पंजीकरण प्रारम्भ होते ही आम जन को आधार नामांकन व अद्यतन की आवश्यकता रहेगी, जिसके परिणामस्वरूप आधार नामांकन व अद्यतन केन्द्रों पर भीड़ उमडऩे की सम्भावना है। इस परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए जिले में आधार नामांकन एवं अद्यतन गतिविधियां अभियान के रूप में सम्पादित करने के लिए ‘आधार सप्ताह’ का आयोजन 22 से 27 फरवरी तक प्रत्येक ब्लॉक मुख्यालय के पंचायत समिति परिसर में स्थित भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केन्द्र पर शिविर आयोजित किए जाने हैं।

तीन आधार ऑपरेटर व तीन सीईएलसी ऑपरेटर रहेंगे मौजूद
आधार सप्ताह के तहत लगने वाले शिविरों में आधार नामांकन एवं आधार अद्यतन को लेकर तीन आधार ऑपरेटर व तीन सीईएलसी ऑपरेटर नियुक्त रहेंगे। कलक्टर ने शिविर स्थल पर इंटरनेट एवं निर्बाध बिजली व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने शिविर स्थल पर स्थल पर आमजन की भीड़ को नियंत्रित करने एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए आधार नामांकन अद्यतन के लिए टोकन व्यवस्था का प्रयोग करने के निर्देश दिए। डॉ. सोनी ने सख्त निर्देश दिए हैं कि आधार सप्ताह के दौरान शिविर में नियुक्त आधार ऑपरेटर सही व व्यवस्थित रूप से कार्य करें व नागरिकों से नियत राशि से ज्यादा राशि न वसूलें। सोनी ने यह भी निर्देश दिए कि उपखण्ड अधिकारी व विकास अधिकारी अनकवर्ड क्षेत्रों में किसी भी स्थान नए आधार केन्द्र की आवश्यकता महसूस करें तो इसके लिए प्रस्ताव तैयार करवाकर भेजे जाएं।

कई विभागों को दी जिम्मेदारी, वंचितों के बनाओ आधार कार्ड
कलक्टर ने निर्देश दिए कि जिन लोगों के आधार कार्ड नहीं बने हैं, उन्हें ई मित्र केन्द्र संचालक, उचित मूल्य के दुकानदार, गांव की सरकारी स्कूल के अध्यापक तथा ग्राम सेवा सहकारी समिति के व्यवस्थापक मोटिवेट करें, ताकि उनका आधार नामांकन हो सके। उन्होंने मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि सरकारी स्कूलों में ऐसे बच्चों को चिह्नित किया जाए, जिनके आधार कार्ड नहीं बनें हैं। ऐसे बच्चों का तत्काल आधार कार्ड बनवाने की प्रक्रिया अमल में लाई जाए।

कार्ड वितरण में नागौर प्रथम स्थान पर
कलक्टर डॉ. सोनी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान एक नम्बर, एक कार्ड और एक पहचान के उद्देश्य से शुरू की गई राज्य सरकार की महत्वकांक्षी जनआधार योजना का भी सफल क्रियान्वयन करने के निर्देश दिए। उन्होंने आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग तथा सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जन आधार कार्ड योजना का हर पात्र को लाभ दिया जाए। कलक्टर ने कहा कि जन आधार कार्ड योजना अंतर्गत 5 लाख 20 हजार 850 जन आधार कार्ड प्राप्त हुए हैं, जिनमें से 5,12,341 जन आधार कार्ड को ई मित्रों को एसाइन्ड कर दिया गया है और इसमें से 5 लाख 8 हजार 481 लोगों को कार्ड आमजन को वितरित किए जा चुके हैं, जो प्राप्त कार्ड का 99.25 प्रतिशत हैं। उन्होंने इस पर खुशी जाहिर कि टीम नागौर के प्रयासों के चलते जन आधार कार्ड वितरण में नागौर जिला राज्य में प्रथम स्थान पर है।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned