scriptIn this city, instead of roads, pits are now found | इस शहर में सडक़ों की जगह अब मिलते हैं गड्ढे | Patrika News

इस शहर में सडक़ों की जगह अब मिलते हैं गड्ढे

Nagaur. सडक़ की बिगड़ी हालत को लेकर अब जिला कलक्टर पीयूष सामरिया से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया गया है

नागौर

Updated: June 02, 2022 10:10:01 pm

नागौर. शहर के लोहारपुरा में वार्ड संख्या 43 में बस्ती में किदवई कॉलोनी तक क्षतिग्रस्त सडक़ की हालत बेहद खराब हो चुकी है। इस संबंध में पूर्व पार्षद अब्दुल वहीद मुल्तानी ने जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर सडक़ का निर्माण कराए जाने की मांग की है। मुल्तानी ने ज्ञापन के माध्यम से बताया कि इस सडक़ की स्वीकृति पूर्व में होने के साथ ही पीडब्ल्यूडी की ओर से इसके लिए कार्यादेश भी जारी किए जा चुके हैंं। इसके बाद भी संबंधित ठेकेदार की ओर से इस सडक़ का निर्माण नहीं कराया गया। सडक़ पर बड़े खड्डों के साथ स्थिति खराब होने के कारण आए दिन हादसे होते रहते हैं। इस बाबत पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को कई बार अवगत कराया गया, लेकिन सडक़ नहीं बनाई गई।
नागौर. लोहारपुरा स्थित किदवई कॉलोनी तक बिगड़ी सडक़ की हालत
भाविप कार्यकारिणी का दायित्व ग्रहण समारोह 5 जून को
नागौर. भारत विकास परिषद का दायित्व ग्रहण समारोह पांच जून को शाम छह बजे एक होटल में आयोजित किया जाएगा। मुख्य अतिथि राजसमंद सांसद दिया कुमारी रहेंगी। कार्यक्रम के अध्यक्ष परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री श्याम शर्मा रहेंगे। अन्य अतिथियों में नागौर विधायक मोहनराम चौधरी व परिषद के रीजनल महासचिव त्रिभुवन शर्मा आदि रहेंगे। कार्यक्रम में संरक्षक,अध्यक्ष,सचिव और वित्त सचिव सहित नवनिर्वाचित कार्यकारिणी को शपथ दिलाई जाएगी। सचिव रवि प्रकाश सोनी ने बताया कि इससे पूर्व चार जून को क्षेत्रीय कार्यशाला में राजस्थान क्षेत्र से प्रांतीय,क्षेत्रीय एवं अखिल भारतीय स्तर के पदाधिकारी भाग लेंगे। इस संबंध में गुरुवार को हुई बैठक में इससे जुड़े बिंदुओं पर चर्चा की गई। कार्यक्रम में परिषद के सदस्य परिवार सहित सम्मिलित होंगे।

sadk.jpg

सामरिया के अनशन को विहिप का समर्थन
नागौर. पशुपालन विभाग कार्यालय के पास ही क्रमिक आमरण अनशन पर परिवार सहित बैठे अमृतलाल सामरिया से मिलने गुरुवार को विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारी व कार्यकर्ता पहुंचे। इस दौरान यह सहयोग स्वरूप अनशन पर भी थोड़ी देर बैठे रहे। जिला उपाध्यक्ष राधेश्याम टोगसिया ने कहा कि लंबे समय से वेतन के लिए सामरिया को चक्कर कटवाया जा रहा है। राजनीतिक संरक्षण के चलते सामरिया के साथ पूर्व में अन्याय करने के साथ वर्तमान में अभी भी किया जा रहा है। इन्होंने पांच सूत्रीय मांगपत्र कलक्टर एवं मुख्यमंत्री आदि को भी भेजा है। इसके बाद भी इनकी सुनवाई नहीं हो रही है। इस मौके पर विश्व हिंदू परिषद के जिला मंत्री मेघराज राव, पर्यावरण गतिविधि के संयोजक शिवनाथ सिद्ध, नरसिंहराम सांखला आदि मौजूद थे।
समाजोपयोगी शिविर में विद्यार्थियों को दी जानकारी
नागौर. जोधियासी के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में विद्यार्थियों के लिए चल रहे पंद्रह दिवसीय समाज सेवा शिविर का समापन गुरुवार को हुआ। प्रधानाचार्य मनोज व्यास ने बताया कि इसमें विद्यार्थियों ने चयनित चार गतिविधियों- राष्ट्रीय एकता और सद्भाव, पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन, विद्यालय का सौंदर्यीकरण व वस्तुओं के निर्माण के बारे में बताया गया। इस दौरान सामाजिक रूप से कार्य भी कराए गए। शिविर में धनसुखराम, प्रहलाद सहाय, गुफरान गौरी व मोहम्मद शाहिद आदि मौजूद थे।
पोस्टर का किया विमोचन
नागौर. निस्वार्थ गौ सेवा गौ माता परिवार की ओर से पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। निस्वार्थ गौसेवा परिवार के मुकेश गौड़ ने बताया कि शिविर शहर के किले की ढ़ाल में स्थित बलदेवराम मिर्धा धर्मशाला में आयोजित किया जाएगा। शिविर सुबह नौ बजे से शाम को पांच बजे तक रहेगा। शिविर के पोस्टर का विमोचन केशवदास बगीची में महंत जानकीदास के सानिध्य में किया गया। इस दौरान नरेंद्र घोटिया, टीकमचंद भाटी, वीरेंद्र जोशी, मुकेश चौधरी, विश्व हिंदू परिषद के राधेश्याम टोगसिया, राहुल सोनी आदि मौजूद थे।
नागौर रामद्वारा के महंत जानकीदास महाराज के सानिध्य में यह विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन 5 जून को सुबह 9 बजे से सायं 5 बजे तक रखा गया है इसे रक्तदान शिविर के प्रचार प्रसार हेतु आज नागौर के केशवदास महाराज की बगीची में महंत जानकीदास महाराज के सानिध्य में पोस्टर का विमोचन किया गया। इस मौके पर गौ सेवा परिवार के नरेंद्र घोटिया, टीकमचंद भाटी, वीरेंद्र जोशी, मुकेश चौधरी, विश्व हिंदू परिषद के राधेश्याम टोगसिया, राहुल सोनी, कमल शर्मा, पूरणमल भाटी, हितेश टाक, सुरेंद्र गोलियां, मुकेश गोदारा, बजरंग शर्मा, संत लक्षआनंद, कल्याण दास, सहित रामद्वारा के संत महात्मा और गौ सेवा परिवार के सदस्य उपस्थित रहे ।।
महाराणा प्रताप की जयंती पर श्रद्धासुमन अर्पित
नागौर. राजस्थानी भाषा प्रसार संस्थान के संस्थापक व राजस्थानी भाषा के वरिष्ठ साहित्यकार लक्ष्मणदान कविया ने महाराणा प्रताप की जयंती पर उनको श्रद्धासुमन अर्पित किया। कविया ने महाराणा प्रताप के कृतित्व-व्यक्तित्व पर चर्चा करते हुए कहा कि महाराणा प्रताप ने मातृभूमि की रक्षा के लिए जंगलों में भटके, पत्थरों की शिलाओं को अपनी शैया बनाई। घास की रोटिया खाकर संघर्ष की राह में अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया। महाराणा मातृभाषा राजस्थानी के प्रबल पैरोकार थे। संकट के दिनों में उनके क्षीण होते उत्साह को पृथ्वीराज राठौड़ ने राजस्थानी भाषा के दोहों का गान कर उनका संबल बढ़ाया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

PM Modi In Telangana: 6 महीने में तीसरी बार तेलंगाना के CM केसीआर एयरपोर्ट पर PM मोदी को नहीं किया रिसीवMaharashtra Politics: संजय राउत का बड़ा दावा, कहा-मुझे भी गुवाहाटी जाने का प्रस्ताव मिला था; बताया क्यों नहीं गएक्या कैप्टन अमरिंदर सिंह बीजेपी में होने वाले हैं शामिल?कानपुर में भी उदयपुर घटना जैसी धमकी, केंद्रीय मंत्री और साक्षी महाराज समेत इन साध्वी नेताओं पर निशानाउदयपुर हत्याकांड के दरिदों को लेकर आई चौंकाने वाली खबरपाकिस्तान में चुनावी पोस्टर में दिख रहीं सिद्धू मूसेवाला की तस्वीरें, जानिए क्या है पूरा मामला500 रुपए के नोट पर RBI ने बैंकों को दिए ये अहम निर्देश, जानिए क्या होता है फिट और अनफिट नोटनूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट लिखने पर अमरावती में दुकान मालिक की हुई हत्या!
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.