गैस से नहीं चूल्हे पर पकता है पोषाहार, निरीक्षण में सामने आई खामियां

मिड डे मील योजना के तहत जिलास्तरीय औचक निरीक्षण, गैर हाजिर मिले चार शिक्षकों की लगाई छुट्टी, दिए निर्देश

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 01 Mar 2020, 12:53 PM IST

नागौर. स्कूलों में संचालित मिड डे मील (एमडीएम) योजना का शनिवार को जिलास्तरीय अधिकारियों ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कई खामियां सामने आई। जिनमें सुधार को लेकर निर्देश दिए गए। कुछ जगह पोषाहार पकाने में अनियमितता सामने आई तो कहीं नामांकन ही कम मिला। एक स्कूल में बगैर बताए शिक्षक अनुपस्थित पाए गए। इनकी अनुपस्थिति दर्ज की गई। वहीं पोषाहार पकाने में गुणवत्ता रखने के निर्देश दिए गए। प्राथमिक शिक्षा एडीइओ मोतीलाल नवल ने जिला स्तर का औचक निरीक्षण किया। राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय रूपातल में सुबह 10 बजे जायजा लिया गया। प्रधानाचार्य बलदेवराम से नामांकन की स्थिति जांची। विद्यालय का कुल नामांकन कक्षा एक से 8वीं तक 121 छात्र-छात्राओं का था, लेकिन 51 छात्र ही उपस्थित थे। स्कूल में 60 छात्र अनुपस्थित थे। वहीं चार अध्यापक भी अनुपस्थित पाए गए। भोजन व्यवस्था का अवलोकन करने पर रसोई में भोजन लकड़ी चूल्हे पर बनाते हुए मिले, जो नियम अनुसार अवैध था। उनको हिदायत दी गई कि गैस पर ही खाना बनाना अनिवार्य है। भविष्य में लकड़ी से खाना नहीं बनाएंगे। गैस के अलावा चूल्हे पर खाना पकाते मिलने पर नियमानुसार कार्रवाई की चेतावनी दी। विद्यालय में एमडीएम भोजन रखने का रजिस्टर मौके पर नहीं मिला। अस्थाई एमडीएम स्टॉक रजिस्टर भी मौके पर नहीं था। व्यवस्थाओं में सुधार के निर्देश दिए गए।अनुपस्थित अध्यापकों की छुट्टी लगाई गई। राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय जावला में व्यवस्थाएं संतोषजनक पाई गई, लेकिन एमडीएम का अस्थाई स्टॉक रजिस्टर उपलब्ध नहीं था। इसे संधारित करने की हिदायत दी गई।

माना संस्था प्रधान की लापरवाही

राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय भकरी परबतसर में भी एमडीएम की व्यवस्था संतोषजनक मिली, लेकिन बालकों की दैनिक उपस्थिति डायरी नहीं मिली। बताया कि इसे संस्था प्रधान की लापरवाही का कारण माना जाता है। उन्हें एमडीएम अस्थाई स्टॉक रजिस्टर व दैनिक डायरी संधारित करने की हिदायत दी गई।

रजिस्टर रखने की जानकारी ही नहीं थी

राजकीय प्राथमिक विद्यालय सिपाहियों की ढाणी भेरूंडा में एमडीएम व्यवस्था लगभग संतोषजनक थी, लेकिन रिकॉर्ड संपूर्ण संतोषजनक नहीं पाया गया। भोजन चखने का रजिस्टर व अस्थाई स्टॉक रजिस्टर नहीं था। अध्यापकों से पूछा गया यह रजिस्टर आपने क्यों नहीं डाला तो बताया कि इस संबंध में जानकारी नहीं दी गई है। आगे से आदेशों की पालना करते हुए रजिस्टर संधारित कर देंगे।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned