scriptकनिष्ठ सहायक ने एक हजार रुपए में बेच दिया ईमान, एसीबी ने धरा | Junior assistant sold his integrity for Rs 1000, ACB arrested him | Patrika News
नागौर

कनिष्ठ सहायक ने एक हजार रुपए में बेच दिया ईमान, एसीबी ने धरा

नागौर. रजिस्ट्री की नकल के एवज में एक हजार रुपए की घूस लेते सब रजिस्ट्रार ऑफिस के कनिष्ठ सहायक और एक सरकारी शिक्षक को एसीबी ने गिरफ्तार किया है। शिक्षक की पेंट की जेब से रिश्वत की राशि बरामद की गई। एसीबी की एएसपी कल्पना सोलंकी ने बताया कि दड़ा मोहल्ला निवासी मोहम्मद आरिफ ने […]

नागौरJun 26, 2024 / 06:55 pm

Nagesh Sharma

nagaur photo

नागौर एसीबी टीम ने पकड़े रिश्वत के आरोपी।

नागौर. रजिस्ट्री की नकल के एवज में एक हजार रुपए की घूस लेते सब रजिस्ट्रार ऑफिस के कनिष्ठ सहायक और एक सरकारी शिक्षक को एसीबी ने गिरफ्तार किया है। शिक्षक की पेंट की जेब से रिश्वत की राशि बरामद की गई।
एसीबी की एएसपी कल्पना सोलंकी ने बताया कि दड़ा मोहल्ला निवासी मोहम्मद आरिफ ने परिवाद दिया था कि उसके पिता के नाम रजिस्ट्री की तीन नकल के बदले कनिष्ठ सहायक कैलाशचंद्र सेन (38) पंद्रह सौ की रिश्वत मांग रहा है। इस पर पांच सौ रुपए देकर परिवादी से सत्यापन करवाया गया। उसके बाद टीम गठित की गई। आरिफ मंगलवार अपराह्न कार्यालय पहुंचा। कैलाश ने तब फीस के अतिरिक्त रिश्वत के बचे हजार रुपए पास खड़े एक व्यक्ति की पीछे की जेब में डालने को कहा। आरिफ के ऐसा करते ही टीम ने दबिश देकर दोनों को गिरफ्तार कर राशि बरामद कर ली।
कैलाश के साथ गिरफ्तार सीताराम जाट साडोकोन में सरकारी स्कूल का अध्यापक है। ये दोनों गगवाना तहसील के रहने वाले हैं और आपस में दोस्त हैं। बाद में शिक्षक सीताराम यह तर्क देता रहा कि कैलाश के कहने पर यह रकम जबरन डाल दी गई, लेकिन एसीबी की टीम ने जब दबिश दी थी तब वो कुछ नहीं कह पाया। सीताराम कैलाश से मिलने आया था। एएसपी ने बताया कि सरकारी कार्यालय में किसी भी तरह की अनाश्यकडिमाण्ड पर परिवादी एसीबी में अपनी शिकायत दें, ताकि घूसखोरी पर लगाम लगे।

Hindi News/ Nagaur / कनिष्ठ सहायक ने एक हजार रुपए में बेच दिया ईमान, एसीबी ने धरा

ट्रेंडिंग वीडियो