मार डाला बेजुबानों को, और देखते रहे तमाशा

मार डाला बेजुबानों को, और देखते रहे तमाशा

Sharad Shukla | Updated: 13 Jun 2019, 11:05:51 AM (IST) Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

चिंकारा हरिणों का शिकार, दो कटे सिर, सींग बरामद

नागौर. श्रीबालाजी थानाक्षेत्र के करणेतपुरा की सरहद में सुबह प्रतिबंधित चिंकारा हरिणों का मांस पकाते शिकारी को पुलिस पकड़ लिया। मौके पर से एक शिकारी फरार होने में सफल रहा, जबकि एक अन्य बाल अपचारी को निरुद्ध करने की कार्रवाई की गई। आरोपियों के खिलाफ प्रतिबंधित वन्य जीव प्रतिषेध अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। हरिणों के दो कटे सिर, तीन खाल एवं दो किलो मांस बरामद किया गया है। जानकारी मिलने पर वन विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे, और विभागीय स्तर पर जांच शुरू कर दी।
श्रीबालाजी थाना पुलिस के अनुसार सुबह करीब साढ़े आठ बजे मुखबिर से सूचना मिली कि गांव में रामेश्वर नायक, भंवरलाल व एक अन्य बाल अपचारी ने मिलकर हरिणों का शिकार कर उसे पकाकर खाने की तैयारियों में लगे हुए हैं। जानकारी मिलने पर थानाधिकारी रमेश सिंह बीठू मयफोर्स मौके पर पहुंचे। पुलिस के आने की भनक मिलते ही एक शिकारी घर से निकलकर फरार हो गया, जबकि दूसरे को थोडी दूरी पर पीछाकर दबोच लिया गया। पकड़े आरोपी ने अपना नाम भंवरलाल बताया। प्रारंभिक पड़ताल में मिली जानकारी के आधार पर पुलिस ने भंवरलाल व रामेश्वर के घर तलाशी ली तो मांस ,खाल अन्य अंग सींग, कांटा, धारदार चाकू, मांस तोलने के काम में ली गंई तराजू ,बाट आदि बरामद हुए। जानकारी मिलने पर सहायक उप वन संरक्षक सुनील गौड़, क्षेत्रीय वन अधिकारी टीकूराम गडवाल, वनपाल अशोक आदि मौके पर पहुंचे। बाद में पुलिस ने पशुपालन विभाग के चिकित्सकों के मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्मार्टम कराया गया। चिकित्सकों ने फोरेंसिक जांच के लिए सेंपल सुरक्षित रखने के बाद उसे पुलिस को सौंप दिया। थानाधिकारी बीठू ने बताया कि भंवरलाल से प्रकरण से जुड़े सहित अन्य शिकार की हुई घटनाओं के साथ फरार हुए आरोपी के संदर्भ में बिंदुवत पड़ताल की जा रही है। फरार आरोपी की तलाश के लिए पुलिस दल का गठन कर संदिग्ध ठिकानों पर दबिश भी दी जा रही है।
ग्रामीणों ने जताया रोष
घटना की सूचना मिलने पर श्री जंभेश्वर पर्यावरण एवं जीवरक्षा प्रदेश संस्था के प्रदेश अध्यक्ष रामरतन बिश्नोई, प्रदेश महामंत्री अनिल बिश्नोई, हनुमान गढ़ ,नागौर के जिला महामंत्री एवं पंचायत समिति सदस्य,हीरालाल डेलू. सेवड़ी के सरपंच गजानंद शर्मा , अलाय से गोपीराम गिला ,सथेरण से किशनाराम देहड़ू,डूंगरराम माल , वेदप्रकाश धारणिया,जगदीश धारणिया ,अशोक सियाग, बजरंग गिला सहित श्रीबालाजी,सथेरण,अलाय,सेवड़ी आदि पहुंचे। इन्होनें घटना पर असंतोष जताते हुए कहा कि आदतन शिकारियों की सक्रियता और वन विभाग की निष्क्रियता से ऐसी घटनाओं में बढ़ोत्तरी हुई है। इस पर यथोचित कदम उठाए जाने की मांग की गई।
जोधपुर सीमा पर भी करेंगे गश्त
डीएफओ मोहित गुप्ता ने बताया कि प्रारंभिक स्तर पर हुई विभागीय दल की ओर से हुई छानबीन में संकेत मिले हैं कि जोधपुर सीमावर्ती क्षेत्रों से भी लोग परस्पर क्षेत्रों में शिकार कर चले जाते हैं। इस पर लगाम लगाने के लिए वन विभाग की ओर से विशेष टीम का गठन किया गया है। इस संबंध में जल्द ही जोधपुर रेंज के वन विभाग की ओर से बातचीत कर संयुक्त रूप से गश्त की जाएगी। इसके अलावा संदिग्ध स्थानों के तौर पर चिह्नित जगहों पर भी विभागीय टीम की ओर से दबिश दिए जाने का काम शुरू कर दिया गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned