VIdeo : बिना किसी खर्च के योजना से मिटा बरसों पुराना मर्ज

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना : बीकानेर के हल्दीराम मूलचंद कार्डियोलॉजी सेंटर में नागौर के जसवंतगढ़ निवासी कुसुम देवी की वॉल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी हुई नि:शुल्क

By: shyam choudhary

Published: 27 Jun 2021, 08:20 PM IST

नागौर. जिले के जसवंतगढ़ की मूल निवासी कुसुम देवी पिछले 14-15 साल से हार्ट की बीमारी से पीडि़त थी। थोड़ा से चलने पर सांस फूल जाती थी और तेज सिर दर्द भी रहता था। डॉक्टर को दिखाया तो उन्होंने बताया कि दिल में छेद है। वॉल्व रिपलेसमेंट सर्जरी करानी होगी, जिस पर लगभग दो से ढाई लाख रुपए खर्च आएगा। एक साथ इतने पैसों की व्यवस्था करना कुसुम के लिए संभव नहीं था। इसलिए 2011 से बीकानेर में रहते हुए छोटा-मोटा काम कर रही थी और अपने हार्ट की बीमारी का इलाज ले रही थी। ऑपरेशन के लिए पैसे बचाने की कोशिश में थे और पैसा जमा नहीं हो पा रहा था। घर के खर्च में ही सब खत्म हो जाता था। बीमारी से कभी तबीयत थोड़ी सही होती तो कभी ज्यादा खराब होने पर अस्पताल ले जाना पड़ता। प्राथमिक उपचार लेकर वापस घर आ जाते। ऑपरेशन कराना जरूरी था पर पैसों की कमी आड़े आ रही थी। बड़ी मुश्किलों से जीवन गुजर रहा था।

ऐसे में प्रदेश में इस साल मई से शुरू हुई मुख्यमंत्री नि:शुल्क बीमा योजना से किरण की उम्मीद जगी। योजना में सभी लोग चाहे वो किसी भी वर्ग, आयु और आय के हो, पंजीकृत हो सकते हैं, ये बात सुनकर कुसुम को ऑपरेशन की उम्मीद जगी। ई-मित्र केन्द्र पर जाकर 850 रुपए देकर योजना में खुद का पंजीकरण करवाया। इसके बाद बीकानेर संभाग के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पीबीएम अस्पताल के हल्दीराम मूलचंद कार्डियोलॉजी सेंटर में जाकर डॉक्टर जयकिशन सुथार को दिखाया। जांचें की गई और उसके आधार पर कुसुम के वॉल्व रिप्लेंसमेंट सर्जरी का ऑपरेशन करना तय हुआ। 10 जून 2021 को कुसुम की हल्दीराम मूलचंद कार्डियोलॉजी सेंटर के डॉ. सुथार ने सर्जरी की। ऑपरेशन सफल रहा और अभी वह स्वास्थ्य लाभ ले रही है।

कुसुम ने बताया कि पैसों की तंगी इलाज में बाधा बन रही थी। सोचा, पूरी जिंदगी ऐसे ही निकालनी पड़ेगी। बीमारी के कारण काम भी नहीं कर पा रही थी, जिससे परिवार का कुछ अच्छा कर सकूं। मुख्यमंत्री ने ये योजना शुरू करके कितना अच्छा किया। मेरे जैसे कितने गरीब लोग होंगे, जिनके बड़ी बीमारी के ऑपरेशन और इलाज पैसों के कारण रूके पड़े थे, जो अब हो पा रहे हैं।

अस्पताल के डॉ. सुथार ने बताया कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में इस सर्जरी के पैकेज की कीमत एक लाख 60 हजार रुपए है, जो मरीज को नि:शुल्क मिला। मरीज को इसके लिए एक रुपया भी नहीं देना होता है। मरीज की जांच, दवाइयां, उपचार और चिकित्सकीय सामग्री सभी कुछ नि:शुल्क होता है। प्राइवेट अस्पताल में इसी सर्जरी के दो से ढाई लाख रुपए खर्च करने होते हैं।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned