फिर नागौर-मेड़ता के ट्रेक पर दौड़ेगी लीलण

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेड़ता रोड. कोरना लॉकडाउन में बंद हुई जैसलमेर -जयपुर-जैसलमेर के बीच चलने वाली सुपरफास्ट लीलण एक्सप्रेस ट्रेन का पुन: संचालन 11 अप्रेल से नियमित शुरू होगा। यह ट्रेन नागौर- मेड़तारोड- डेगाना मार्ग से होकर ही संचालित होगी। इसके लिए रेलवे बोर्ड ने स्वीकृति जारी कर दी है। ट्रेन का संचालन फिलहाल स्पेशल ट्रेन (02467 व 02468)के रूप में किया जाएगा।

By: Ravindra Mishra

Published: 10 Apr 2021, 01:05 PM IST

खास बात यह है कि इसके रूट को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था। अंत में बोर्ड व रेल मंत्री की मंूरी मिलने के बाद नागौर जिले के लोगों को फिर से इस ट्रेन का फायदा मिलेगा। यह ट्रेन वाया नोखा, नागौर, मेड़ता रोड, रेन, डेगाना, मकराना होते हुए जयपुर जाएगी। यह स्पेशल रेल सेवा जैसलमेर से रात 1.40 बजे रवाना होकर बीकानेर प्रात: 6.20 बजे, देशनोक 7.05 बजे,नोखा 7.31 बजे, नागौर 8.07 बजे, मूंडवा 8.30, मेड़ता रोड 9.12, रेन 9.42 ,डेगाना 10.15, गच्छीपुरा 10.28 ,मकराना 11.04 ,कुचामन सिटी 11.20 बजे होते हुए जयपुर 14.20 बजे पहुंचेगी। वापसी में यह गाड़ी जयपुर से शाम 4.35 बजे रवाना होकर कुचामन सिटी 6.21 , मकराना 6.35 ,गच्छीपुरा 7.09,डेगाना 7.23,रेन 7.45 , मेड़ता रोड 8.06,मारवाड़ मूंडवा 8.56, नागौर 9.17,नोखा 9.56, देशनोक 10.37 , बीकानेर 12.35 बजे तथा जैसलमेर प्रात: 5.00 बजे पहुंचेगी। ट्रेन के नागौर जिले से होकर गुजरने का समाचार मिलने ही नागौर जिले के लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई।
पत्रिका ने चलाया था अभियान
लोक देवता वीर तेजाजी की घोड़ी के नाम पर संचालित होने वाली लीलण एक्सप्रेस ट्रेन का रूट गत वर्ष सितम्बर में रेलवे ने बदल दिया था। नागौर जिले के लोगों के लिए यह ट्रेन जयपुर आने-जाने का महत्वपूर्ण साधन होने के कारण एक ओर लोगों ने काफी रोष जताया, वहीं राजस्थान पत्रिका ने रेलवे के इस निर्णय को बदलवाने के लिए अभियान चलाया था। इसके बाद राजसमंद सांसद दीयाकुमारी व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने रेल मंत्री को पत्र लिखा। बेनीवाल ने व्यक्तिगत रूप से रेल मंत्री से मुलाकात कर ट्रेन को यथावत रखने की मांग की थी। इधर, जिले के कई संगठनों ने भी मंत्री को ज्ञापन भेजे थे।
इस प्रकार चली प्रक्रिया
कोरोना के समय ट्रेनों का संचालन बंद होने के बाद लीलण एक्सप्रेस के रूट में परिवर्तन करने से नागौर की जनता में काफी रोष था। मामले को लेकर सांसद बेनीवाल ने 15 सितम्बर को रेल मंत्री को पत्र लिखा, जिस 23 सितंबर 2020 को मंत्री गोयल ने सांसद को पत्र लिखकर बताया कि इस मामले को लेकर रेलवे निदेशालय को अवगत करवा दिया गया है। बेनीवाल ने संसद सत्र में भी यह मुद्दा उठाया था और रेल मंत्री से व्यक्तिगत रूप से मिलकर लीलण का संचालन पुन: नागौर से करने की मांग की थी। इसके बाद गत 2 फरवरी को रेल मंत्री ने सांसद बेनीवाल के लिखित सवाल का जवाब देते हुए बताया कि जैसलेमर से बीकानेर-नागौर के मार्ग से होते हुए जयपुर जाने वाली लीलण एक्सप्रेस (ट्रेन संख्या 12467/12468) का संचालन एक बार फिर नागौर-मेड़ता रूट से होगा।

Ravindra Mishra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned