मकराना. एसोसिएट प्रोफेसर एवं चार्टड एकाउंटेट (सी.ए.) राजश्री मुंदड़ा ने कहा कि सकारात्मक सोच से सफलता प्राप्त की जा सकती है। मुंदड़ा राज स्कूल में दो दिवसीय सांस्कृतिक कार्यक्रम के समापन पर शनिवार को आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में उद्बोधन दे रही थी। उन्होंने कहा कि विषम परिस्थितियों में भी हौसला नहीं छोडऩे एवं आशावादी बन निरंतर प्रयास करने पर जीवन के किसी भी क्षेत्र में मुकाम हासिल कर अपनी अलग पहचान बनाई जा सकती है। माहेश्वरी महिला मण्डल प्रदेश उपाध्यक्ष शशि लढ़ा ने बच्चों से सहशैक्षणिक गतिविधियों की भी महत्ता बतलाई। कक्षा नर्सरी से पांचवी तक के बच्चों के लिए आयोजित नृत्य प्रतियोगिता में जाह्नवी, रूद्राक्षी, माधव, जोया, अलकनंदा, आशीष, सानिया, दिव्यांशी, रघुवीर, सिद्धार्थ, देवांशु, दीपिका, खुशी, विदुषी, अदित, प्रियांशु, आकांशा, युवराज, अरमान, यासमीन, रिया, ऋ्रषभ, जिया, भव्य, अरहम, लक्ष, दर्शील, सुहाना, सलोनी, अक्षिता, सिद्धि, पलक आदि बच्चों ने हर एक फ्रेंड जरूरी होता है, यही उम्र है करले गलती से मिस्टेक, तू जरूरत है तू हकीकत है, मय्या यशौदा तेरा कन्हेया, उड़ी-उड़ी जाए, देखो उड़ी-उड़ी जाए, तुझे सब है पता मेरी माँ आदि गीतों पर मनमोहक नृत्य की प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि डॉ. रमेश धाभाई, सतींद्र कौर, अनु राठी, राजकुमारी सोनी सहित शाला प्रधानाचार्य अनिल कुमार तिवाड़ी, निकिता बियानी, आई. वी. मोरिस, भगवानदास, नीरू चौधरी, अनिता तिवाड़ी, योगेश पलोड़, शबाना खान, अजय पाण्डे, दिनेश शर्मा आदि शिक्षकों ने भाग लिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned