मंत्रोच्चार के साथ महागणपति को किया गया विदा

Nagaur. वैदिक मंत्रोच्चार के साथ महागणपति का तालाबों में विसर्जन
-रीको हाउसिंग बोर्ड, गिनाणी, एवं जाजोलाई नाडी में गाजे-बाजे के साथ झूमते-नाचते व गाते गणपति की शोभायात्रा लेकर पहुंचे श्रद्धालू, अबीर एवं गुलाल सरीखे रंगों की बौछार से सडक़ें हुई लाल

By: Sharad Shukla

Published: 19 Sep 2021, 09:54 PM IST

नागौर. लगातार दस दिनों तक लगातार अर्चन के बाद रविवार को अनंत चतुदर्शी पर विराजित गणपति का विसर्जन किया गया। विभिन्न क्षेत्रों में पंडालों एवं घरों में विराजित गणपति को वैदिक मंत्रोच्चार के साथ तालाबों में लाकर विधिपूर्वक अर्चन के साथ गणपति विसर्जित किए गए। गिनाणी तालाब, रीको हाउसिंग बोर्ड तालाब एवं जाजोलाई नाडी में गणपति विसर्जन करने का काम देर शाम तक चलता रहा। डीजे की धुन के साथ कई जगहों पर शोभायात्रा के साथ लाल रंगे सिंदूर की बरसात में रंगे श्रद्धालू गणपति का जयघोष करते हुए चल रहे थे। बज रहे भजनों की धुन पर झूमते-नाचते चल रहे श्रद्धालुओं की धमक से शहर गणपति के रंग में रंगा नजर आया। हर ओर गणपति बप्पा मोरया के गूंजते स्वरों से वातावरण गंूजता रहा। हालांकि इस दौरान कोविड-19 का भी घ्यान रखा गया। इस दौरान तेलीनाडा सहित अन्य तालाबों के आसपास रविवार को चहल-पहल रही। इधर सांसद हनुमान बेनीवाल ने भी दस दिनों तक विराजित गणपति का सपरिवार चिमरानी ग्राम के तालाब में विसर्जन किया।
शहर के विभिन्न क्षेत्रों में विराजित गणपति का अनंत चतुदर्शी पर रविवार को विसर्जन की धूम रही। बाजरवाड़ा, लोहिया का चौका, काठडिय़ा, सावों की गली एवं हाथीचौक क्षेत्र में विराजित गणपति को लेकर श्रद्धालू शोभयात्रा के साथ श्रद्धालू भजन गाते हुए गिनाणी तालाब पहुंचे। यहां पर कोविड-19 गाइडलाइन की पालना करते हुए तालाब में गणपति का विसर्जन किया गया। इसी हाउसिंग बोर्ड, तेलीवाड़ा, नया तेलीवाड़ा, नया दरवाजा एवं नकासगेट क्षेत्र में विराजित गणपति को क्षेत्रवासी रीको हाउसिंग बोर्ड स्थित तालाब लेकर पहुंचे। यहां पर विधिपूर्वक गणपति का विसर्जन किया गया। खटिक समाज, भार्गव समाज एवं खाईं की गली क्षेत्र में विराजित गणपति का जुलूस भी जाजोलाई नाडी पहुंचा। धूमधाम के साथ महागणपति का विसर्जन किया गया। गणपति की शोभायात्रा के साथ चल रहे श्रद्धालू झूमते, नाचते एवं भजनों की धुन पर सुर से सुर मिलाते हुए चल रहे थे। इस दौरान अबीर एवं गुलाल सरीखे रंगों की बौछार से श्रद्धालू भी पूरी तरह से लाल रंग के रंग में रंगे नजर आए। सडक़ों पर गणपति बप्पा मोरया के जयघोषों से पूरा वातावरण गूंजता रहा।
घरों में विराजित गणपति भी विसर्जित
सार्वजनिक रूप से पंडालों में स्थापित गणपति के साथ ही घरों में दस दिनों से स्थापित गणपति का भी विसर्जन किया गया। कई घरों में तो मिट्टी के गणपति बनाकर विराजित किए गए थे। इनका विसर्जन भी घरों के गमलों में ही कर दिया गया। नकासगेट के पास स्थित मनोहर गणपति का विसर्जन विधिपूर्वक घर में ही किया। इस दौरान अंकित, दक्ष, चिंकू आदि ने गणपति का अर्चन करने के साथ ही अगले वर्ष आने के गणपति की कामना की।ञ
नागौर सांसद ने उत्साह के साथ किया गणपति विसर्जन
राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने अपने नागौर स्थित आवास पर गणेश चतुर्थी को स्थापित कि गणेश प्रतिमा का रविवार को विधिवत रूप से निकटवर्ती ग्राम चिमरानी के तालाब में विसर्जन किया ,आवास पर विधिवत रूप से पूजा अर्चना के बाद सांसद परिजनों के साथ उत्साह के साथ जुलूस के रूप में गणेश जी को लेकर गए जहां पुजारी की मौजुदगी में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ गणेश प्रतिमा का विसर्जन किया,इस अवसर पर सांसद की माताजी मोहनी देवी, भाई व खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल पुत्र आशुतोष, पुत्री दिया, शंकर बेनीवाल,हर्षित पत्नी कनिका बेनीवाल सहित परिजन सहित अन्य श्रद्धालू मौजूद थे। इस मौके पर सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा कि सनातन धर्म के यह पर्व हमारी आस्था के साथ सांस्कृतिक धरोहर का हिस्सा है और ऐसे उत्सवों से हमारी संस्कृति जिंदा रहती है।

Sharad Shukla Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned