scriptMany auspicious coincidences will remain on Nakshatradhiraj Guru Pushya Nakshatra on 28 | 28 को नक्षत्राधिराज गुरु पुष्य नक्षत्र पर रहेंगे कई शुभ संयोग | Patrika News

28 को नक्षत्राधिराज गुरु पुष्य नक्षत्र पर रहेंगे कई शुभ संयोग

Nagaur. गुरु-पुष्य को साथ सर्वार्थ सिद्धि योग और रवि योग से बना विशेष योग
-पुष्य नक्षत्र गुरु पुष्य नक्षत्र 25 घंटे 57 मिनिट रहेगा

नागौर

Published: October 26, 2021 10:48:02 pm

नागौर. इस साल धनतेरस के चार और दीपावली के छह दिन पहले खरीदी का महामुहूर्त गुरु पुष्य 28 अक्टूबर को होगा। स्वर्ण आभूषण, भूमि-भवन के साथ चल-अचल संपत्ति की खरीदी के लिए नक्षत्रों का राजा पुष्य 25 घंटे 57 मिनिट रहेगा। गुरु-पुष्य के संयोग को कार्य में सिद्धि देने वाला सर्वार्थ सिद्धि और रवि योग ओर भी खास बना रहा है। ज्योतिर्विद के मुताबिक गुरु पुष्य में की गई खरीदारी चिर स्थायी फल प्रदान करने वाली होती है। इस खास मौके के लिए इंदौर सराफा बाजार को व्यापारियों द्वारा आकर्षक विद्युत सज्जा से सजाया जाएगा। ज्योतिर्विद् राजेश चौबे के मुताबिक इस दिन सोना-चांदी और भूमि-भवन की खरीदारी विशेष लाभदायक मानी गई है। कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि पर 28 अक्टूबर गुरुवार को पुष्य नक्षत्र गुरु पुष्य नक्षत्र 25 घंटे 57 मिनिट रहेगा। गुरु पुष्य नक्षत्र गुरुवार 28 अक्टूबर को सुबह 9 बजकर 40 मिनट से दूसरे दिन 11 बजकर 37 मिनट तक रहेगा। इस साल गुरु-पुष्य को साथ सर्वार्थ सिद्धि योग और रवि योग और भी खास बना रहा है। साथ ही गुरुवार को साध्य नामक शुभ योग भी रहेगा। पंडित सुनील दाधीच ने बताया कि गुरु पुष्य में व्यक्ति अपने लक्षय साधकर जिस भी कार्य का श्रीगणेश करता है। उसमें सफलता प्राप्त होती है। 27 नक्षत्रों में से एक पुष्य नक्षत्र को नक्षत्रों का राजा कहा गया है। यह नक्षत्र गुरुवार को आता है तो इसका महत्व कई गुना बढ़ जाता है। इसे श्रेष्ठतम मंगलकारी योग में से एक माना गया है। इस दिन जो नई वस्तु, जमीन-मकान, वाहन, स्वर्ण आभूषण के अलावा नया व्यापार शुरू करते हैं। उन पर देवी महालक्षमी की विशेष कृपा होती है। पुष्य नक्षत्र को नक्षत्रों का राजा कहा गया है। पुष्य नक्षत्र के नाम पर एक माह पौष है। 24 घंटे के अंतर्गत आने वाले तीन मुहूर्तों में से एक 20वां मुहूर्त पुष्य भी है। पुष्य नक्षत्र का संयोग जिस भी वार के साथ होता है उसे उस वार से कहा जाता है। जैसे- गुरुवार को आने पर गुरु पुष्य नक्षत्र रविवार को रवि-पुष्य, शनिवार के दिन शनि-पुष्य और बुधवार के दिन आने पर बुध-पुष्य नक्षत्र कहा जाता है। सभी दिनों का अलग-अलग महत्व होता है। गुरु-पुष्य और रवि-पुष्य योग सबसे शुभ माने जाते हैं।
पुष्य नक्षत्र में यह करें काम
1. पुष्य नक्षत्र पर गुरु, शनि और चंद्र का प्रभाव होता है तो ऐसे में स्वर्ण, लोह (वाहन आदि) और चांदी की वस्तुएं खरीदी जा सकती है। मान्यता अनुसार इस दौरान की गई खरीदारी अक्षय रहेगी। अक्षय अर्थात जिसका कभी क्षय नहीं होता है।
2. इस नक्षत्र में शिल्प, चित्रकला, पढ़ाई प्रारंभ करना उत्तम माना जाता है। इसमें मंदिर निर्माण, घर निर्माण आदि काम भी शुभ माने गए हैं।
3. गुरु-पुष्य या शनि-पुष्य योग के समय छोटे बालकों के उपनयन संस्कार और उसके बाद सबसे पहली बार विद्याभ्यास के लिए भेजा जाता है।
4. इस दिन बहीखातों की पूजा करना और लेखा-जोखा कार्य भी शुरू कर सकते हैं। इस दिन से नए कार्यों की शुरुआत करें, जैसे दुकान खोलना, ?व्यापार करना या अन्य कोई कार्य।
5. इस दिन धन का निवेश लंबी अवधि के लिए करने पर भविष्य में उसका अच्छा फल प्राप्त होता है। इस शुभदायी दिन पर महालक्ष्मी की साधना करने, पीपल या शमी के पेड़ की पूजा करने से उसका विशेष व मनोवांछित फल प्राप्त होता है।

Many auspicious coincidences will remain on Nakshatradhiraj Guru Pushya Nakshatra on 28
Many auspicious coincidences will remain on Nakshatradhiraj Guru Pushya Nakshatra on 28

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.