हवाई अड्डे के रूप में विकसित होगी नागौर हवाई पट्टी

Dharmendra gaur | Publish: May, 18 2018 05:54:52 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

हवाई अड्डा प्राधिकरण की टीम ने किया निरीक्षण, राज्य सरकार को सौंपेंगे विस्तृत रिपोर्ट

नागौर. सब कुछ योजना के मुताबिक रहा तो वह दिन दूर नहीं जब नागौर देश-विदेश के नक्शे पर होगा। नागौर शहर से 56 सीटर से लेकर 200 सीटर विमान भी उड़ान भर सकेंगेे। हवाई पट्टी का विस्तार कर हवाइ अड्डे के रूप में विकसित करने को लेकर नागौर पहुंची भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) की टीम ने गुरुवार को हवाई पट्टी को निरीक्षण किया। गौरतलब है कि केन्द्रीय मंत्री सीआर चौधरी ने नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु से नागौर हवाई पट्टी को हवाई अड्डा बनाने का आग्रह किया था। इसके बाद गुरुवार को प्राधिकरण की टीम नागौर पहुंची।
हवाई अड्डे का बनेगा प्रस्ताव
जानकारी के अनुसार हवाई अड्डे के निर्माण की संभावनाओं को तलाशने के लिए आई एएआई के आर्किटेक्चर व अन्य विभागों के अधिकारियों ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता श्रवण कुमार के साथ हवाई पट्टी की फिजिबिलिटी देखी। टीम ने बीकानेर रोड छोर व इंदास रोड के पास दूसरे छोर तक पट्टी की वर्तमान स्थिति देखी। टीम हवाई अड्डा बनाने का प्रस्ताव बनाकर सरकार को विस्तृत रिपोर्ट सौंपेगी। उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। जानकारी के अनुसार दिन व रात्रि में बड़े विमानों के आवागमन के लिए पट्टी को करीब 400 मीटर चौड़ा व लगभग 4 किमी लम्बाई तक विस्तार किया जाएगा।

संसाधनों की ली जानकारी
सूत्रों के अनुसार अधिकारियों ने जिला प्रशासन को भी निरीक्षण के दौरान मिली स्थिति व हवाई अड्डा निर्माण के लिए आवश्यक संसाधनों के बारे में जानकारी दी। टीम ने बीकानेर रोड स्थित एक होटल को लेकर आपत्ति जताई। टीम सदस्यों का कहना था कि हवाई पट्टी को हवाई अड्डे के रूप में विकसित करने व डे-नाइट में विमानों की आवाजाही में होटल का तय मापदंड से अधिक ऊंचाई वाला भाग बाधक बन सकता है। गौरतलब है कि पूर्व में भी समय-समय पर नागौर हवाई पट्टी पर विमान लेकर आए कई पायलट इस होटल को लेकर अपनी आपत्ति जता चुके हैं। नागौर हवाई अड्डा वाणिज्यिक के साथ-साथ सामरिक दृष्टि से भी महत्वपूर्ण होगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned