ये कैसे जनप्रतिनिधि, जनता की आवाज उठाने में दिखा रहे कंजूसी

ये कैसे जनप्रतिनिधि, जनता की आवाज उठाने में दिखा रहे कंजूसी

Dharmendra gaur | Publish: Sep, 05 2018 11:18:47 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

-भाजपा के आठ विधायकों ने नहीं लगाए सवाल , निर्दलीय विधायक बेनीवाल ने लगाए 30 प्रश्न
नागौर.राजधानी जयपुर में बुधवार से शुरू हो रहा राजस्थान विधानसभा का सत्र 14वीं विधानसभा का संभावित अंतिम सत्र होगा। नागौर जिले के विधायकों का संपूर्ण रिपोर्ट कार्ड देखे तो सवाल लगाने से लेकर मुद्दे उठाने में जिले के विधायक फिसड्डी साबित हुए हैं। हालांकि खींवसर से निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल ने सवाल लगाए हैं। पत्रिका ने राजस्थान विधानसभा की पोर्टल पर पड़ताल की तो सामने आया कि एक विधायक द्वारा इस सत्र में लगाए जाने वाले कुल 30 प्रश्नों में से केवल हनुमान बेनीवाल ने ही पूरे 30 सवाल लगाए हैं। हालांकि जायल विधायक डॉ. मंजू बाघमार ने चार सवाल लगाए, लेकिन वो सवाल उनके क्षेत्र या जिले से संबंधित नहीं है।


सवाल पूछने में रूचि नहीं
सत्तारूढ भाजपा के आठ अन्य विधायकों ने कोई सवाल तक पूछना मुनासिब नहीं समझा। ऐसे में जनता द्वारा सदन में चुनकर भेजे गए प्रतिनिधियों की उनके दायित्व और संवेदनशीलता पर सवालिया निशान उठता है। जानकारी के अनुसार विधानसभा मात्र 3 दिन ही चलेगी, हालांकि संभावना है कि सत्र की अवधि बढ़ भी सकती है। विधायक बेनीवाल ने डार्क जॉन, जिले में लचर चिकित्सा व्यवस्था, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, बढ़ती चोरियों, संविदा कार्मिकों का न्यूनतम वेतन 18 हजार करने,जिला सतर्कता समिति की मीटिंग मिनट्स की पालना नहीं होने सहित विभिन्न मुद्दों को सवालों के माध्यम से रखा है।


ये सवाल भी है सूचीबद्ध
पोर्टल पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार आगामी 6 तारीख को सुप्रीम कोर्ट के निर्णय अनुसार पूर्व मुख्यमंत्रियों को नियमों के विपरीत दी जा रही सुविधाओं, सस्ती दरों पर जमीन लेकर बड़े निजी अस्पतालों द्वारा इलाज में आनाकानी करने का सवाल सूचीबद्ध है। नागौर नगर परिषद के पार्षदों व भू-माफियाओं द्वारा अवैधानिक तरीके से करवाए गए नियमन की जांच तथा डार्क जॉन क्षेत्र में भू-जल स्तर बढ़ाने के लिए सरकार की ओर से किए गए प्रयासों व खर्च राशि सम्बंधी सवाल 7 सितम्बर को सूचीबद्ध है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned