नागौर जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने सुनाया ऐसा फरमान कि रीको अधिकारियों के उड़ गए होश

कलक्टर कुमार पाल गौतम ने नागौर जिले में औद्योगिक क्षेत्रों में रीको के कार्यों की एक कमेटी से जांच करवाने के दिए निर्देश।

By: Dharmendra gaur

Published: 26 Jan 2018, 09:09 AM IST

नागौर. जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने कहा कि जिले के समस्त औद्योगिक क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाएं सुचारू रखने के लिए रीको अधिकारी औद्योगिक क्षेत्रों का भ्रमण करें। जिले में औद्योगिक विकास होने से ही यहां के युवाओं को रोजगार के ज्यादा अवसर मिलेंगे। गौतम गुरुवार को कलक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय औद्योगिक सलाहकार समिति की बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी औद्योगिक क्षेत्रों में पानी, बिजली, सडक़ सहित अन्य सभी सुविधाए जिले के सातों औद्योगिक क्षेत्र में आवश्यक रूप से होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उद्योग धंधों की स्थापना से स्थानीय बेरोजगार युवकों को फायदा मिलेगा।
कार्यालय में रखें सुझाव पेटिका
जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि रीको कार्यालय में एक सुझाव पेट्टिका रखी जाए। पेट्टिका में आने वाले सुझाव व शिकायतों को प्रत्येक माह होने वाली जिला स्तरीय औद्योगिक सलाहकार समिति की बैठक में सदस्यों के सम्मुख खोली जाए। बैठक में आने वाले उद्योगपति अपनी समस्याएं और सुझाव इस पेटिका में रख देंगे तथा आवश्यक कार्रवाई के निर्देश बैठक में ही दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जो मनोनीत सदस्य पिछले 6 माह से लगातार समिति की बैठक से अनुपस्थित रहने वाले सदस्यों की सदस्यता समाप्त कर नए सदस्यों का मनोनीयन किया जाए।
रीको के कार्य का निरीक्षण करेगी समिति
कलक्टर गौतम ने अतिरिक्त जिला कलक्टर को निर्देश दिए कि जिले की सातों औद्योगिक क्षेत्रों में रीको द्वारा अब तक मूलभूत सुविधाओं के लिए किए गए कार्यों की जांच एक पांच सदस्यीय कमेटी के माध्यम से करवाई जाए। कमेटी में संबंधित क्षेत्र का उपखंड अधिकारी, नगर पालिका का अधिकारी, सार्वजनिक निर्माण विभाग, विद्युत तथा जलदाय विभाग के प्रतिनिधि शामिल होंगे। यह समिति जिले की समस्त औद्योगिक क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं पानी,बिजली और सुरक्षा से संबंधित पहलुओं को देखेगी तथा कमेटी रिपोर्ट जिला कलक्टर को प्रस्तुत की जाएगी।
व्यय राशि की हो तथ्यात्मक जांच
गौतम ने कहा कि कलक्टर कार्यालय में कार्यरत लेखाअधिकारी रीको द्वारा अब तक व्यय की गई कुल धन राशि जिन कार्यों पर की जांच कर तथ्यात्मक रिपोर्ट जिला प्रशासन को प्रस्तुत करेंगे। जिला कलक्टर ने नगर परिषद आयुक्त श्रवण चैधरी को निर्देश दिए कि जिले के मास्टर प्लान में ट्रांसपोर्ट नगर की स्थापना करने के लिए जो भूमि चिन्हित की गई है। उस स्थान पर आवश्यक जनसुविधाएं उपलब्ध करवाने की कार्य योजना बनाएं ताकि जल्द से ट्रांसपोर्ट नगर की स्थापना की जा सके। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर अशोक कुमार, उद्योग विभाग महाप्रबंधक सुग्रीव मीणा, समिति के सदस्य भोजराज सारस्वत सहित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Dharmendra gaur Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned