सरकारी विभाग डिस्कॉम को दे रहे ‘गोडा’

सरकारी कनेक्शनों के 85 करोड़ बकाया, फिर भी डिस्कॉम ने की 99.29 फीसदी राजस्व वसूली
- वित्तीय वर्ष 2020-21 में नागौर वृत्त ने 2081 करोड़ रुपए वसूले, लक्ष्य था 102 प्रतिशत वसूली का
- वित्तीय वर्ष 2021-22 में छीजत 15 प्रतिशत से कम करने का लक्ष्य

By: shyam choudhary

Published: 11 Apr 2021, 08:57 AM IST

नागौर. नागौर जिले में सरकारी विभाग ही डिस्कॉम को ‘गोडा’ देने का काम कर रहे हैं। जिले में 31 मार्च तक सरकारी विभागों से जुड़े बिजली बिलों के 85 करोड़ रुपए बकाया हैं, इसमें सबसे अधिक 40 करोड़ रुपए अकेले जलदाय विभाग के बकाया हैं, वहीं जनता जल योजना के 11 करोड़, सरपंचों से जुड़े 19 करोड़ तथ सार्वजनिक प्रकाश (पीएसएल) के 10 करोड़ रुपए बकाया हैं। हालांकि इसके बावजूद डिस्कॉम के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने अपनी जान जोखिम में डालकर गत वित्तीय वर्ष में 99.29 प्रतिशत राजस्व वसूली करने में सफलता प्राप्त की है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में नागौर वृत्त को कुल 2096 करोड़ रुपए की राजस्व वसूली (102 प्रतिशत) करने का लक्ष्य दिया गया था, जिसके विरुद्ध डिस्कॉम अधिकारियों ने 2081 करोड़ रुपए वसूल कर एक कीर्तिमान रचा है।

वित्तीय वर्ष 2020-21 में खास बात यह रही कि जिले की छीजत (एटीसी लोसेज) 35.54 प्रतिशत से घटकर 28.38 प्रतिशत किया गया, यानी बिजली की कुल 7.16 प्रतिशत छीजत कम हुई। गत वर्ष किए गए कार्य को देखते हुए इस बार अजमेर डिस्कॉम ने जिले को छीजत 15 प्रतिशत से कम करने का लक्ष्य दिया है।

कुचामन व मेड़ता में सबसे अधिक वसूली
नागौर वृत्त में कुचामन व मेड़ता खंड में गत वित्तीय वर्ष में सबसे अधिक राजस्व वसूली की गई। कुचामन में 100.75 प्रतिशत और मेड़ता में 100.17 प्रतिशत राजस्व वसूली हुई। इसी प्रकार नागौर खंड में 99.60 प्रतिशत, मकराना में 97.70 प्रतिशत, डीडवाना में 97.06 प्रतिशत तथा लाडनूं खंड में 99.04 प्रतिशत वसूली की गई। डिस्कॉम अधिकारियों के अनुसार यदि सरकारी कनेक्शनों का बकाया बिल जमा हो जाता तो नागौर जिले की राजस्व वसूली निर्धारित लक्ष्य 102 प्रतिशत की तुलना में 104 प्रतिशत हो जाता।

मासिक आधार पर होगी राजस्व वसूली
बिजली चोरी व छीजत को लेकर नागौर जिले की स्थिति सुधारने के लिए अब डिस्कॉम अधिकारी नए साल में मासिक आधार पर राजस्व वसूली का लक्ष्य तय कर काम करेंगे। इसके साथ बिजली चोरी रोकने के लिए भी प्रतिदिन के हिसाब से कार्रवाई की जाएगी।

99.29 प्रतिशत राजस्व वसूली हुई
नागौर वृत्त में डिस्कॉम के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की मेहनत एवं उपभोक्ताओं द्वारा दिए गए सहयोग की बदौलत 99.29 प्रतिशत राजस्व वसूली की गई तथा छीजत भी 7.16 प्रतिशत कम करके 28.38 प्रतिशत तक लाए हैं। नए वित्तीय वर्ष में भी छीजत कम करने व राजस्व वसूली पर फोकस किया जाएगा। बिजली चोरी रोकने के लिए नियमित कार्रवाई की जाएगी।
- आरबी सिंह, अधीक्षण अभियंता, नागौर वृत्त

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned