आबकारी विभाग को शराब दुकानों के आवेदनों से मिले 36 करोड़ रुपए, 256 शराब दुकानों के लिए हुए 12 हजार से ज्यादा आवेदन

आबकारी विभाग को शराब दुकानों के आवेदनों से मिले 36 करोड़ रुपए, 256 शराब दुकानों के लिए हुए 12 हजार से ज्यादा आवेदन

By: rohit sharma

Published: 03 Mar 2019, 10:00 PM IST

नागौर।

जिले में शराब दुकानों के आवंटन को लेकर आबकारी विभाग द्वारा मांगे गए आवेदनों के तहत गत 9 फरवरी से 2 मार्च तक कुल 12 हजार 934 आवेदन भरे गए हैं। शराब दुकानों की लॉटरी 5 मार्च को जिला मुख्यालय स्थित टाउन हॉल में जिला कलक्टर की अध्यक्षता में निकाली जाएगी। विभाग को मिले इन आवेदनों के शुल्क से आबकारी विभाग को कुल 36 करोड़ 20 लाख रुपए का राजस्व मिला है।

 

गौरतलब है कि दो साल पहले लिए गए आवेदनों से विभाग को 35.28 करोड़ रुपए की आय हुई थी। उम्मीद के अनुरूप नहीं मिले आवेदन हालांकि आबकारी विभाग को इस बार गत बार की तुलना में आवेदशन शुल्क से करीब एक करोड़ रुपए की आय अधिक हुई है, लेकिन इस राज्य सरकार ने आबकारी नीति में थोड़ा संशोधन कर शराब विक्रेताओं को लुभाने के लिए आवेदन के साथ अमानत राशि जमा कराने की अनिवार्यता समाप्त कर दी थी, ताकि आवेदनों की संख्या के साथ सरकार की कमाई भी बढ़े।

 

इसको देखते हुए नागौर जिले की 256 शराब दुकानों के लिए विभाग को करीब 20 हजार आवेदन मिलने की उम्मीद थी, लेकिन दो बार आवेदन की तिथि बढ़ाने (पहले 26 फरवरी से एक मार्च व बाद में 2 मार्च) के बावजूद 12 हजार 934 आवेदन ही भरे गए। हालांकि विभागीय अधिकारियों के अनुसार कुल ऑनलाइन आवेदन 15 हजार से अधिक भरे गए, लेकिन आवेदन शुल्क का डीडी या चेक जमा नहीं कराने के चलते 12 हजार 934 आवेदनों का ही वेरिफिकेशन हो पाया।

 

एक दुकान के औसत 50 आवेदन

गौरतलब है कि जिले में देसी व अंग्रेजी शराब की कुल 256 दुकानें हैं, जिसमें 229 देसी मदिरा समूह हैं, जबकि 27 दुकानें अंग्रेजी शराब की हैं। देसी मदिरा के 229 समूहों के लिए 11 हजार 613 आवेदन मिले हैं, इसका औसत देखें तो एक दुकान के लिए करीब 50 आवेदन भरे गए हैं, इसी प्रकार अंग्रेजी शराब की 27 दुकानों के लिए 1321 आवेदन यानी एक दुकान के लिए औसत 49 आवेदन भरे गए हैं।

rohit sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned