साफ्टवेयर फेल होते ही नागौर, गोटन, डेगाना एक्सचेंज ठप

साफ्टवेयर फेल होते ही नागौर, गोटन, डेगाना एक्सचेंज ठप

Sharad Shukla | Publish: Sep, 11 2018 12:15:06 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

जिला दूरसंचार कार्यालय परिसर में स्थापित सीडॉट एक्सचेंज मशीन का फूला दम

नागौर. जिला मुख्यालय के जिला कार्यालय के एक्सचेंज की सी.डॉट मशीन का साफ्टवेयर रविवार रात फेल हो गया। इससे नागौर, गोटन एवं डेगाना के करीब चार हजार बेसिक फोन कनेक्शन पूरी तरह ठप हो गए। एक-साथ इतने बेसिक फोन कनेक्शन सेवा बाधित होने की जानकारी सुबह अधिकारियों को मिली तो हडक़ंप मच गया। विशेषज्ञों की टीम सुबह करीब छह बजे से इस फॉल्ट को दुरुस्त करने में लग गई, लेकिन शाम तक स्थिति पूर्ववत बनी रही। इस संबंध में विभागीय अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही इसे दुरुस्त कर लिया जाएगा।
बीएसएनएल के अनुसार जिला कार्यालय में स्थापित एक्सचेंज से नागौर, गोटन एवं डेगाना आदि के टेलीफोन कनेक्शन संचालित होते हैं। रविवार को रात्रि अज्ञात समय में सीडॉट मशीन (दूरभाष एक्सचेंज मशीन) के साफ्टवेयर ने काम करना बंद कर दिया। इसके निष्क्रिय होते ही जिले के एक-तिहाई आबादी क्षेत्र में टेलीफोन कनेक्शन की गतिविधियां पूरी तरह से ठप हो गई। सोमवार सुबह करीब छह बजे तकनीकी स्टॉफ पहुंचा तो उसे सीडॉट का साफ्टवेयर फेल मिला। इसकी जानकारी उसने उपमंडल अभियंता भंवरसिंह राठौड़ को दी। राठौड़ ने इससे टीडीएम योगेश भास्कर को वस्तुस्थिति से अवगत कराया। इसके बाद टीडीएम भास्कर ने इसे दुरुस्त करने के लिए करीब आधा दर्जन विशेषज्ञों की टीम बनाकर उन्हें इसे दुरुस्त करने के काम में लगा दिया। टीम सुबह करीब छह से जुटी रही, लेकिन तमाम प्रयासों के बाद भी उसे सुव्यवस्थित करने में सफलता नहीं मिल पाई। समाचार लिखे जाने तक यही स्थिति बनी रही।
टेलीफोन पूरे दिन बंद रहा
जिले के गोटन, नागौर एवं डेगाना आदि में सरकारी एवं गैर सरकारी कार्यालयों सहित अन्य क्षेत्रों में लगे करीब चार हजार टेलीफोन कनेक्शन सोमवार को पूरी तरह से ठप रहने से लोग काफी परेशान रहे। जिला परिवहन कार्यालय, विद्युत वितरण निगम, कृषि विभाग, शिक्षा विभाग सहित सभी कार्यालयों में बेसिक टेलीफोन बंद रहने से लोग परेशान रहे। रिहायशी क्षेत्रों के व्यापारिक प्रतिष्ठानों में लगे बेसिक फोन बंद होने की वजह से लोग परेशान रहे।
इस तरह से काम करती है सीडॉट मशीन
बीएसएनएल अधिकारियों के अनुसार सीडॉट मशीन एक्सचेंज का महत्वपूर्ण हिस्सा होती है। इसके बिना कोई भी एक्सचेंज संचालित नहीं किया जा सकता है। इसके फेल होते ही एक्सचेंज की सभी गतिविधियां थम जाती है। नंबरों को स्थानांतरित करने में इसकी प्रमुख भूमिका होती है। उपभोक्ताओं की ओर से नंबरों को डॉयल करने पर उसे संबंधित कॉल तक इसी मशीन के माध्यम से संपर्क कराया जाता है। यह ऑटोमेटिक चलती है।
इनका कहना
&एक्सचेंज में सीडॉट मशीन साफ्टवेयर फेल होने से चार हजार टेलीफोन कनेक्शनों की सेवा बाधित रही। विशेषज्ञों की टीम इसे दुरुस्त करने में जुटी हुई है।
योगेश भास्कर, टीडीएम नागौर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned