Nagaur : जेएलएन अस्पताल को मिली दो बड़ी सौगातें, मरीजों को मिलेगी राहत

निजी कम्पनी के सहयोग से 36 प्रकार की जांचें होंगी मुफ्त, एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस देगी गंभीर मरीजों को जिंदगी

By: shyam choudhary

Published: 10 Dec 2017, 11:27 AM IST

नागौर. जिला मुख्यालय के पंडित जवाहरलाल नेहरू राजकीय चिकित्सालय को बुधवार को दो बड़ी सौगातें मिली। एक तो राजस्थान सरकार, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं क्रस्ना डाइग्नोस्टिक्स की ओर से मुफ्त प्रयोगशाला जांच सेवा शुरू की गई, जिसमें 36 प्रकार की जांचें मुफ्त होंगी। वहीं दूसरी ओर नेशनल एम्बुलेंस सेवा (एनएएस) के तहत नागौर को एडवांस लाइफ सपोर्ट (एएलएस) एम्बुलेंस मिली है, जिसमें मरीजों को अत्याधुनिक सुविधाएं मिलेंगी, जिससे रास्ते में दम तोडऩे वाले गंभीर मरीजों की जान बचेगी।

पीपीपी मोड पर संचालित होगी प्रयोगशाला
क्रस्ना डाइग्नोस्टिक्स प्रा. लिमिटेड की ओर जेएलएन अस्पताल के 47 नम्बर कमरे में शुरू की गई मुफ्त प्रयोगशाला जांच सेवा पीपीपी मोड पर संचालित होगी। प्रयोगशाला के कर्मचारी ने बताया कि 36 प्रकार की जांचें निशुल्क होंगी, जिसके लिए आधार कार्ड व मोबाइल नम्बर देना अनिवार्य होगा। प्रयोगशाला में कई जांचें ऐसी हैं, जो बाजार में काफी महंगी दर पर की जाती है।

रास्ते में होने वाली मौतों पर लगेगी लगाम
एनएएस के तहत जेएलएन अस्पताल को मिली अत्याधुनिक उपकरणों से युक्त एएलएस एम्बुलेंस बुधवार को मेल नर्स नेमीचंद फिड़ौदा, लक्ष्मीनारायण आचार्य व वाहन चालक तेजाराम को टोंक से लेकर नागौर पहुंचे। इसके लिए बजरंग टाक, नेमीचंद फिड़ौदा, लक्ष्मीनारायण आचार्य व मीना कुमारी ने प्रशिक्षण प्राप्त किया है। एएलएस एम्बुलेंस में पोर्टेबल वेन्टीलेटर, एईडी (ऑटोमेटेड एक्टर्नल डेफिब्रिलेटर), सक्शन मशीन, नेबूलाइजर मरीज एवं फ्यूजन पम्प जैसी मशीनरी मरीजों की जान बचाने में सहयोगी साबित होंगी।


वार्डों में लगे हीटर, खिड़कियों में कांच लगाने के निर्देश
नागौर. जिला मुख्यालय के जेएलएन अस्पताल में सर्दी से ठिठुर रहे मरीजों को राहत देने के लिए अस्पताल प्रशासन के निर्देश पर बुधवार को कर्मचारियों ने वार्डों में हीटर लगाकर चालू कर दिए। वार्डों की खिड़कियों के टूटे कांच बदलने के लिए भी पीएमओ डॉ. अपूर्व कौशिक ने अस्पताल के स्टोर इंचार्ज को जल्द से जल्द कार्य पूरा करने क निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि जेएलएन अस्पताल के वार्डों की खिड़कियों में कांच नहीं होने से मरीजों को रही परेशानी को लेकर राजस्थान पत्रिका ने 6 दिसम्बर को समाचार प्रकाशित कर ध्यान आकृषित किया था। समाचार प्रकाशित होने के बाद अस्पताल प्रशासन जागा तथा स्टोर में पड़े हीटर बुधवार को ही बाहर निकालकर वार्डों में लगवा दिए। हीटर चलने से मरीजों को काफी हद तक सर्दी से राहत मिली। पीएमओ ने वार्डों की खिड़कियों के टूटे कांच भी नए लगाने के निर्देश दिए हैं।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned