नागौर कृषिमंडी या फिर बैक्टीरिया-वायरस की पनाहगाह...!

Sharad Shukla

Publish: Apr, 18 2019 12:21:25 PM (IST) | Updated: Apr, 18 2019 12:21:26 PM (IST)

Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

नागौर. न तो बिजली , और न ही सफाई, नाले जाम, उसमें जमा कचरा से उठती दुर्गन्ध, प्याऊ के पास भी हालात बेहद खराब, पीने के लिए आने वाले किसान अपने साथ गंदगीजनित बैक्टीरिया ले जाने े के लिए मजबूर...! यह हालात किसी सुदूर ग्रामीण क्षेत्र के नहीं, बल्कि जिला मुख्यालय स्थित कृषि उपजमंडी के बन चुके हैं। स्थिति यह है कि मंडी प्रशासन को पता ही नहीं रहता है कि सफाई करने वाले ठेकाकर्मी आते भी की नहीं। मंडी प्रशासन की बेफिक्री ने करोड़ों का रोजाना कारोबार करने वाली ए श्रेणी में शामिल नागौर की कृषि उपजमंडी की हालत बिगाडक़र रख दी है। काश्तकारों का कहना था कि यहां आने पर न तो उन्हें पीने के लिए स्वच्छ जल मिलता है, और न ही बैठने के लिए साफ जगह। नतीजतन अनाज बेचने की विवशता उन्हें मंडी ले आती है, अन्यथा इससे ज्यादा साफ और व्यवस्थाएं तो बी श्रेणी की मंडियों में मिल जाती है। इस संबंध में कृषि उपजमंडी प्रशासन से बातचीत की गई, लेकिन उनकी ओर से यही रटारटाया जवाब मिला कि सफाई तो होती है, लेकिन कितने कर्मचारी सफाई करते हैं का जवाब नहीं मिल सका।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned