नागौर में प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती मनाई

नागौर में प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती मनाई

shyam choudhary | Publish: Nov, 15 2017 11:53:07 AM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

नेहरू के पद चिह्नों पर चलने का संकल्प

नागौर. जिला कांग्रेस कार्यालय में मंगलवार को देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती मनाई गई। ब्लॉक अध्यक्ष दिलफराज खान की अध्यक्षता में आयोजित जयंती कार्यक्रम में नागौर प्रधान ओमप्रकाश सेन ने कहा की पंडित जवाहर लाल नेहरू महात्मा गांधी के सहयोग के तौर पर भारतीय स्वतंत्रा के मुख्य नेता थे। जो अंत तक भारत की स्वंतत्रा के लिए लड़ते रहे। नेहरू जी एक सच्चे देश भक्त थे। नेहरू जी बच्चों से काफी प्यार करते इसलिए के जन्मदिन को बाल दिवस के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। हाजी अब्दुल कय्यूम गौरी ने नेहरू जल के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि नेहरू जी का जन्म 14 नवम्बर 1889 को उत्तर प्रदेश के इलाहबाद में हुआ। आपके पिता का नाम मोतीलाल नेहरू था। आपका विवाह 1916 में कमला के साथ हुआ। नेहरू जी अपने भाषण से लोगों का दिल जीत लेते इसलिए नेहरू जी आजादी के बाद देश के प्रथम प्रधानमंत्री बने। यूथ कांग्रेस के प्रदेश महा सचिव हनुमाराम बांगड़ा ने कहा कि नेहरू जी 1920 में भारतीय राष्ट्रीय कांगे्रस में शामिल होकर उनके महान और प्रमुख नेता बने। और बाद में पुरी कांग्रेस पार्टी ने उन्होंने विश्वसनिय सलाहकार माना जिनमें गांधी जी भी शामिल थे। 1929 में कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में नेहरू जी ने बिट्रीश से सम्पूर्ण छूटकारा पाने की घोषणा की। और भारत को सम्पूर्ण राष्ट्र बनाने की मांग की। नेहरू और कांग्रेस ने 1930 में भारतीय स्वतंत्रता का अभियान का मोर्चा संभाला। ताकि देश को आसानी से आजादी दिला सके।

नेहरू जी के पद चिह्नों पर चलने का संकल्प दिलाया
वक्ताओं ने कहा कि नेहरू धर्म निरपेक्षता के समर्थक थे तथा उनका कहना था कि देश की तरक्की सभी धर्मों के लोग एकजुट होकर ही कर सकते हैं। नेहरू जी के पद चिह्नों पर चलने का संकल्प दिलाया गया।
इस दौरान सोहनराम खिलेरी, सूरजकरण जावा, विक्रम जोशी, मनोज देवल, महावीर कोठारी, एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र डूकिया, भंवरलाल खुडख़ुडिय़ा, तबरेज खान, जगदीश बागडिय़ा, धर्मपाल विश्नोई, उस्मान खां, पार्षद पप्पू तंवर सहित कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned