बिना अनुमति लगाए पोस्टर-बैनर टीम ने किए जब्त, होगी कार्रवाई

नगरीय निकाय आम चुनाव (Urban body general election)- नागौर रिटर्निंग अधिकारी ने किया शहर का दौरा, बिना अनुमति कार्यालय खोलने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई

By: shyam choudhary

Published: 24 Jan 2021, 11:59 AM IST

नागौर. नगर परिषद चुनाव को लेकर प्रत्याशियों को चुनाव चिह्न आवंटित होने के बाद अब उम्मीदवारों ने प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी है। अधिकतर प्रत्याशियों ने बिना अनुमति अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र में पोस्टर, बैनर एवं प्रचार सामग्री लगा दी है। इसको लेकर शनिवार को निर्वाचन विभाग की टीम सक्रिय हुई और शहर में जगह-जगह लगाई गई चुनाव प्रचार सामग्री को हटाकर जब्त किया।

नागौर रिटर्निंग अधिकारी अमित कुमार चौधरी ने टीम गठित कर शहर के सभी वार्डों में आदर्श आचार संहिता की अक्षरश: पालना कराने के निर्देश दिए। टीम प्रभारी ओमप्रकाश सेन, नरपतराम चायल, गंगासिंह राजपुरोहित, सोनाराम, हरवीर काला, नवीन परिहार, संजय व्यास, लोकेश निरंजनी, गुणेशराम व रामदेव आदि ने शहर के कई वार्डों से बिना अनुमति लगाए गए पोस्टर, होर्डिंग्स, बैनर, पर्दे, झंडियां आदि हटाकर जब्त की। एसडीएम चौधरी ने दौरे के दौरान प्रत्याशियों से समझाइश की तथा बताया कि बिना अनुमति खोले गए कार्यालयों को बंद कराया जाएगा तथा उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि शहर में यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।

98 मतदान केन्द्र संवेदनशील और अति संवेदनशील घोषित
जिले के नौ नगरीय निकायों में 28 जनवरी को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन तथा मतदान केंद्र पर मतदान दिवस को कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए एहतियात के तौर पर 60 मतदान केंद्रों को अति संवेदनशील तथा 38 मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित किया गया है। इन मतदान केन्द्रों को संबंधित रिटर्निंग अधिकारी व पुलिस अधिकारियों से प्राप्त सूचना के आधार पर संवेदनशील व अतिसंवेदनशील घोषित किया गया है।
जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) डॉ. जितेंद्र कुमार सोनी द्वारा जारी आदेशानुसार नागौर नगर परिषद के वार्ड 1 से 30 तक के 62 मतदान केंद्रों में से 11 को अति संवेदनशील और 3 मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित किया है। इसी प्रकार वार्ड संख्या 31 से 60 तक के 65 मतदान केंद्रों में से 7 को अति संवेदनशील व 4 को संवेदनशील श्रेणी में रखा है। इन मतदान केंद्रों पर साधारण तौर पर नियुक्त किए जाने वाले पुलिस जाब्ता के अतिरिक्त पुलिस जाब्ता एवं वीडियोग्राफी मय कैमरा नियुक्त किए जाएंगे ।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मूण्डवा नगरपालिका के 28 मतदान केंद्रों में से तीन को, कुचेरा के 26 मतदान केंद्रों में से तीन को तथा मेड़ता नगरपालिका के 56 मतदान केंद्रों में से 6 को अति संवेदनशील घोषित किया गया है। इसी प्रकार डेगाना नगरपालिका के 29 मतदान केंद्रों में से 3 मतदान केंद्र, परबतसर के 25 मतदान केंद्रों में से 5 व नावां के 31 मतदान केंद्रों में से तीन को अतिसंवेदनशील लोकेशन में रखा गया है, वहीं कुचामन नगरपालिका के 45 वार्डों के चुनाव होने हैं जिसमें 80 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, इनमें 16 मतदान केंद्रों को अतिसंवेदनशील बनया गया हैं। वहीं लाडनूं के 45 वार्डों के 84 मतदान केंद्रों में से मात्र 4 को ही अति संवेदनशील लोकेशन में रखा गया है। इस प्रकार नागौर जिले के 9 नगर निकायों के चुनाव में 98 मतदान केंद्रों को अति संवेदनशील या संवेदनशील घोषित किया गया है ।

मतदान दिवस पर सवैतनिक अवकाश
नागौर. राज्य निर्वाचन आयोग के द्वारा जारी घोषणा के तहत जिले के नौ नगरीय निकायों में 28 जनवरी को मतदान होना है। इसको लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने आदेश जारी कर जिले के नगर परिषद नागौर, नगरपालिका मेड़ता, डेगाना, परबतसर, नावां, कुचामन, मूण्डवा, कुचेरा व लाडनूं के निर्वाचन क्षेत्र के सरकारी एवं अद्र्ध सरकारी कार्यालयों में मतदान दिवस 28 जनवरी को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है। उन्होंने बताया कि ऐसे कार्मिक जो चुनाव वाले निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाता के रूप में पंजीकृत है, लेकिन वह अन्यत्र पदस्थापित हैं, उन्हें अपने मताधिकार का उपयोग करने के लिए मतदान दिवस को सवैतनिक अवकाश देय होगा। साथ ही इन निर्वाचन क्षेत्रों में स्थित औद्योगिक, वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, कारोबार, व्यवसाय एवं अन्य किसी स्थापन में नियोजित कामगार को मतदान दिवस पर सवैतनिक अवकाश देय होगा।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned