अब स्टेट हाई-वे 60 से हटेंगे अतिक्रमण

सानिवि ने कसी कमर, 21 अतिक्रमण चिन्हित, सानिवि की रिपोर्ट पर तहसीलदार ने थमाए नोटिस

By: Sandeep Pandey

Published: 23 Jul 2018, 09:33 PM IST

 

डीडवाना. शहर से गुजरने वाले स्टेट हाई-वे 7 डी को चौड़ा करने के बाद अब रेलवे स्टेशन रोड यानी स्टेट हाई-वे 60 को चौड़ा करने की तैयारी है। इसके तहत हाई-वे की जद में आने वाले सभी अतिक्रमणों पर अब शीघ्र ही गाज गिरेगी और आने वाले दिनों में इन अतिक्रमण पर बुलडोजर गरजेगा।

अतिक्रमण हटाने के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग ने कमर कस ली है। और इस हाई-वे की जद में आने वाले 21 अतिक्रमणों को चिन्हित कर लिया है। सानिवि की रिपोर्ट में यह अतिक्रमण शहर के बांगड़ अस्पताल चौराहा से लेकर रेलवे स्टेशन के पास स्थित धर्मशाला तक पाए गए हैं। इन पर विभाग ने निशानदेही भी कर दी है। खास बात यह है कि इस सूची में उद्योगपति बांगड़ परिवार का सीताराम बाग भी शामिल है।
यही नहीं सानिवि की ओर से अतिक्रमण की सूची बनाकर तहसीलदार को सौंपी गई है, जिसके बाद तहसीलदार ने संबंधित लोगों को धारा 91 के तहत नोटिस जारी कर २६ जुलाई तक जवाब मांगे हैं। आगामी दिनों में सानिवि की ओर से इन अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी।

इतने मिले अतिक्रमण
सानिवि की रिपोर्ट में जो अतिक्रमण पाए गए हैं, उनमें 26 दुकान शामिल है। इनमें से 5 दुकानें दो-दो मंजिला है। जबकि 3 मकान, एक हवेली तथा बाकी चारदीवारी है।

दस्तावेजों की होगी जांच
सानिवि की रिपोर्ट के आधार पर तहसीलदार दयानंद रूयल ने इस मार्ग पर अवस्थित २१ लोगों को अतिक्रमी मानते हुए नोटिस जारी कर उन्हें जवाब प्रस्तुत करने को कहा गया है। जवाब आने के बाद संबंधित अतिक्रमण के दस्तावेजों से जांच की जाएगी और उनका मिलान भी किया जाएगा।

50-50 फीट है चौड़ाई
सानिवि के अनुसार यह स्टेट हाई-वे अस्पताल चौराहा होते हुए रेलवे स्टेशन तक जाता है। सानिवि के रिकॉर्ड के अनुसार इस सडक़ की शहरी क्षेत्र में वास्तविक चौड़ाई सडक़ के मध्य बिन्दु से दोनों ओर 50-50 फीट है, लेकिन मौजूदा दौर में इस मार्ग पर बाईं ओर अधिकांश अतिक्रमण हो रखे हैं, जिसके कारण इस मार्ग की चौड़ाई निर्धारित मापदंड से काफी कम है।

यूटीलिटी एरिया के लिए चाहिए जगह
सानिवि के अनुसार हाल ही में अस्पताल चौराहा होते हुए रेलवे स्टेशन तक फोरलेन सडक़ का निर्माण हुआ है। अब दोनों ओर यूटीलिटी एरिया विकसित किया जाना है, जिसके तहत ड्रेनेज सिस्टम के लिए नाला-नाली निर्माण व पटरी निर्माण होना है, लेकिन अतिक्रमण के कारण लम्बे समय से यह कार्य नहीं हो पा रहा है। इसके लिए अब अतिक्रमण को चिन्हित कर संबंधितों को नोटिस थमाए गए हैं।

स्टेट हाई-वे 7 डी से हटाए थे अतिक्रमण
सानिवि ने करीब ढाई वर्ष पूर्व शहर से गुजर रहे स्टेट हाई-वे 7डी को चौड़ा करने के लिए अतिक्रमण हटाए थे। इसके लिए सानिवि द्वारा लम्बा अभियान चलाकर मार्ग की जद में आने वाले अनेक दुकान व मकानों को ध्वस्त किया गया था। अतिक्रमण हटाने से एकबारगी समूचा मार्ग मलबे के ढेर में तब्दील हो गया था। दुकान व मकानों के टूटने से पूरे मार्ग पर मलबे और पत्थरों का ढेर लग गया था। यह मामला काफी चर्चित रहा था और लोगों ने इस कार्रवाई का विरोध भी किया था।

इनका कहना है
अस्पताल चौराहा से रेलवे स्टेशन तक स्टेट हाई-वे 7 को हाल ही में फोरलेन सीसी सडक़ में तब्दील किया है। इस सडक़ के दोनों ओर सर्विस एरिया का विकास होना है। इसके तहत सडक़ की जद में आने वाले अतिक्रमण चिन्हित कर रिपोर्ट तहसीलदार को प्रस्तुत की गई है, ताकि अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जा सके।

जे. पी. यादव, अधिशासी अभियंता, सानिवि
सानिवि की रिपोर्ट के आधार पर इस मार्ग पर स्थित २१ लोगों को धारा ९१ के तहत नोटिस देकर 26 जुलाई तक जवाब मांगे गए हैं। जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

दयानंद रूयल, तहसीलदार, डीडवाना

Sandeep Pandey Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned