नागौर कलक्टर के इस फरमान ने बढाई अधिकारियों की परेशानी

Dharmendra gaur | Publish: Feb, 15 2018 12:15:12 PM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 04:38:17 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

नागौर कलक्टर कुमारपाल गौतम ने उपखण्ड अधिकारियों की बैठक में कहा, समय पर हो जलापूर्ति व गुणवत्ता की जांच, बोर्ड परीक्षा में नहीं करें विद्युत कटौती।

नागौर. जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने उपखंड अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्र में जलापूर्ति व उसकी गुणवत्ता की जांच समय-समय पर करते रहें। गौतम बुधवार को कलक्ट्रेट सभागार में जिले के राजस्व अधिकारियों सहित अन्य अधिकारियों की बैठक में बोल रहे थे। कलक्टर ने कहा कि जलापूर्ति के समय अधिकारी आवश्यक रूप से क्षेत्र में घूमकर पानी के दबाव की जांच करें तथा लोगों से बातचीत कर पानी की नियमित आपूर्ति के बारे में जानकारी लेंं।
एक समान हो जलापूर्ति
कलक्टर ने कहा कि जरुरत के मुताबिक आवश्यक व्यवस्था कर पूरे उपखंड क्षेत्र में पानी की समानांतर व्यवस्था रह सके। ऐसा ना हो कि किसी एक स्थान पर पानी की अधिक आपूर्ति हो रही हो व ऊंचाई के स्थान पर पानी बहुत कम मात्रा में पहुंच रहा है। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम को देखते हुए सभी उपखंड अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में पानी की आपूर्ति के अभी से बंदोबस्त करने की कार्य योजना बना लें।
गुणवत्ता पर रखें नजर
कलक्टर ने कहा कि उपखंड अधिकारी जलदाय विभाग के कंटीजेंसी प्लान का मांग के अनुसार निरीक्षण कर जरूरत के अनुसार कार्य करवाने की जानकारी जलदाय विभाग को उपलब्ध कराएं। उन्होंने निर्देश दिए कि सडक़ों के पेचवर्क के अतिरिक्त उपखंड क्षेत्र में बन रहे विभिन्न सरकारी भवनों के निर्माण के दौरान निर्माण कार्य में प्रयुक्त की जाने वाली सामग्री सहित अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी उपखंड अधिकारी रखेंगे।
परीक्षा में विद्युत कटौती नहीं हो
जिला कलक्टर ने कहा कि बोर्ड परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए डिस्कॉम अभियंता यह सुनिश्चित कर लें कि रात के समय मेें बिजली कटौती नहीं की जाए। उपखंड अधिकारी भी अपने क्षेत्र में रात को बिजली कटौती की शिकायत प्राप्त होती है तो उस पर तत्काल कार्रवाई करें। परीक्षा के दिनों में होने वाली विद्युत कटौती के बारे में जिला प्रशासन को बताया जाए। उन्होंने उपखंड अधिकारी व संबंधित क्षेत्र के अभियंताओं की संयुक्त टीम बनाकर विद्युत छीजत रोकने की दिशा में भी प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
बेहतर हो योजनाओं की क्रियान्विति
कलक्टर गौतम ने कहा कि जिन क्षेत्रों में विद्युत चोरी अधिक होती है वहां पुलिस प्रशासन व विद्युत वितरण अभियंता संयुक्त रूप से कार्यवाही करें तथा दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाएं। कुमारपाल गौतम ने उपखंड अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनके क्षेत्र में सभी फ्लैगशिप योजनाओं की क्रियान्विति प्रभावी तरीके से होनी चाहिए। लाभार्थी को निश्चित समय में सरकार की सुविधाएं मिलनी चाहिए।
अतिक्रमण में करें प्रभावी कार्रवाई
गौतम ने कहा कि अराजीराज भूमि अथवा अनुसूचित जाति जनजाति के व्यक्तियों की भूमि पर अतिक्रमण करने पर दोषी के विरूद्ध कार्यवाही करें। बाधा डालने की कोशिश करने पर राजकार्य में बाधा डालने की प्राथमिकी दर्ज कराई जाए। उन्होंने तहसीलदारों को कहा कि अतिक्रमण करने वालों के विरुद्ध राजकीय नियमों के तहत मुकदमा दर्ज करें। जिसमें 3 माह की कारावास की सजा का प्रावधान है। प्रत्येक तहसीलदार यह सुनिश्चित कर लें कि अगर उसके क्षेत्र में कोई आदतन अतिक्रमी है तो उसके विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई अमल में लाई जाए।
संयुक्त टीम रोके अवैध खनन
गौतम ने अधिकारियों से कहा कि राजस्व, पुलिस व खनिज विभाग के अभियंता मिलकर अवैध खनन रोकने की प्रभावी कार्रवाई करें। संयुक्त दल समय-समय पर जांच कर वाहनों में कागज आदि देखें कि जिस वाहन में बजरी परिवहन हो रही है, उसके पास वैध कागज उपलब्ध है या नहीं है। साथ ही तीनों विभाग के अधिकारी समय-समय पर अलग-अलग स्थानों पर अस्थायी चौकियां स्थापित कर अवैध रोकने के लिए जांच करें।
जल्द हो राजस्व प्रकरणों का निस्तारण
जिला कलक्टर ने समस्त उपखण्ड अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनके राजस्व न्यायालय के अधीन लम्बित राजस्व प्रकरणों का निस्तारण जल्द करें। उन्होंने कहा कि दस साल से अधिक पुराने प्रकरणों की सूची बनाई जाए और उन्हें प्राथमिकता से निस्तारित करें। पुराने प्रकरणों में तारीख देने का कार्य ना करें बल्कि उनको जल्द निपटाकर परिवादी को लाभ पहुंचाएं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned