scriptPadmashree Bhambhu will now become a 'source of inspiration' | नागौर के पद्मश्री भांभू अब बनेंगे देशभर में पर्यावरण संरक्षण के ‘प्रेरणा स्रोत’ | Patrika News

नागौर के पद्मश्री भांभू अब बनेंगे देशभर में पर्यावरण संरक्षण के ‘प्रेरणा स्रोत’

‘ट्री मैन ऑफ राजस्थान पद्मश्री हिम्मताराम भांभू’ के नाम से बनेगी डॉक्यूमेंट्री फिल्म
- भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने जारी किए निर्देश

नागौर

Updated: January 19, 2022 11:05:17 am

नागौर. नागौर के पर्यावरण प्रेमी और पद्मश्री अवार्ड से नवाजे गए हिम्मताराम भांभू की कहानी अब जिले या प्रदेश में नहीं, बल्कि देशभर में पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के लिए दिखाई जाएगी। विद्यार्थियों के साथ बड़ों को भी हिम्मताराम भांभू द्वारा अपने जीवन काल में पर्यावरण संरक्षण व वन्य जीवों की सुरक्षा को लेकर किए गए कार्यों को एक फिल्म के माध्यम से बताया जाएगा। इसके लिए भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के फिल्म प्रभाग की सहायक प्रशासनिक अधिकारी अम्बिका आर. तर्नेजा ने डॉक्यूमेंट्री फिल्म बनाने के निर्देश जारी किए हैं।
गौरतलब है कि नागौर के सुखवासी निवासी हिम्मताराम भांभू ने पर्यावरण संरक्षण एवं वन्य जीवों की सुरक्षा में अपना जीवन समर्पित कर दिया है। भांभू द्वारा किए गए कार्यों के चलते ही उन्हें गत वर्ष 8 नवम्बर को राष्ट्रपति ने पद्मश्री अवार्ड से नवाजा था। भांभू ने पिछले दो साल में न केवल संसद को वर्चुअली संबोधित किया, बल्कि पिछले दिनों उत्तरप्रदेश के लखनऊ एवं शिमला में आयोजित जलवायु परिवर्तन सम्मेलन को संबोधित कर देश ही नहीं विदेशों तक अपना संदेश पहुंचाया है।
Padmashree Bhambhu will now become a 'source of inspiration'
Padmashree Bhambhu will now become a 'source of inspiration' for environmental protection across the country
हिन्दी व अंग्रेजी दोनों भाषा में तैयार होगी डॉक्यूमेंट्री फिल्म
पद्मश्री भांभू की जीवनी पर बनने वाली डॉक्यूमेंट्री फिल्म का शीर्षक ‘ट्री मैन ऑफ राजस्थान पद्मश्री हिम्मताराम भांभू’ रखा जाएगा। इसमें पर्यावरण के क्षेत्र में किए गए कार्यों को बताया जाएगा। करीब आधे घंटे की प्रेरणादायक फिल्म में भांभू द्वारा किए गए कार्यों का भी फिल्मांकन किया जाएगा। खास बात यह है कि फिल्म हिंदी व अंग्रेजी दोनों भाषा में बनाई जाएगी, जिसके चलते देश के साथ विदेशों में भी इसे देखा व समझा जा सकेगा। फिल्म बनाने के लिए विभाग ने करीब 9 माह का समय दिया है। इसके लिए भारत सरकार ने करीब पौने 3 लाख की राशि स्वीकृत की है। फिल्म मंत्रालय ने पद्म पुरस्कार विजेता कुल 24 व्यक्तियों का चयन किया है, जिसमें राजस्थान से अकेले भांभू ही हैं।
पद्मश्री भांभू ने पर्यावरण संरक्षण में लगा दिया पूरा जीवन
जिले के सुखवासी गांव के साधारण किसान परिवार में जन्मे हिम्मताराम भांभू पद्मश्री सहित कई पुरस्कारों से नवाजे जा चुके हैं। भांभू ने अपना जीवन पर्यावरण संरक्षण और वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए समर्पित कर दिया है। भांभू ने न केवल पिछले 35 वर्षों में 5 लाख से अधिक पौधे लगाए, बल्कि उनके द्वारा लगाए गए साढ़े तीन लाख पौधे आज पेड़ बन चुके हैं। भांभू ने नागौर के निकट हरिमा गांव के पास 25 बीघा जमीन खरीदकर उस पर 11 हजार पौधे लगाकर जंगल का रूप दिया है। ताकि लोगों को पर्यावरण का महत्व बता सकें। भाम्भू ने यहां पर्यावरण प्रदर्शनी भी बना रखी है।
वन्य जीवों के लिए खुद लड़ते हैं मुकदमे
भांभू पर्यावरण संरक्षण के साथ वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए भी हर वक्त तैयार रहते हैं। वन विभाग से ज्यादा सक्रिय रहकर शिकारियों के खिलाफ लड़ाई लड़ते हैं और कोर्ट में मुकदमे भी खुद के खर्चे से लड़ते हैं। कई बार वन विभाग कार्रवाई से पीछे हट जाता है, लेकिन भांभू डटकर मुकाबला करते हैं।
हिम्मताराम भांभू की उपलब्धियां

  • पर्यावरण प्रेमी भाम्भू को 23 मार्च 2015 को राजस्थान की तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा राजीव गांधी पर्यावरण संरक्षण पुरस्कार - 2014 प्रदान किया गया।
  • भाम्भू को 1999 में पर्यावरण यूनेस्को पुरस्कार व 1999 में ही राज्य सरकार द्वारा सर्वोत्तम वन प्रहरी पुरस्कार मिल चुका है।
  • 2003 में राज्य स्तरीय अमृता देवी विशनोई पुरस्कार दिया गया।
  • जिला प्रशासन, वन विभाग, पशुपालन विभाग और अनेक स्वयं सेवी संस्थाओं से कई बार सम्मानित हो चुके हैं। 'पीपुल फॉर एनिमल्स' की राष्ट्रीय अध्यक्ष मेनका गांधी ने भी भाम्भू को सम्मानित किया है।
  • भांभू को 2000-2016 तक राज्य सरकार ने मानद वन्य जीव प्रतिपालक की उपाधि से नवाजा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Constable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का साया30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्तदिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाडि़यांबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोलताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.