scriptPatwari's work, wrong assessment of crop damage due to fake sign | पटवारी की कारगुजारी, जाली साइन से फसल खराबे का गलत आंकलन | Patrika News

पटवारी की कारगुजारी, जाली साइन से फसल खराबे का गलत आंकलन

रोल (nagaur). कस्बे के किसानों के साथ बीमा कंपनी व पटवारी ने मिलीभगत कर धोखा किया है। खरीफ की फसल अतिवृष्टि के कारण खराब हो गई थी। राजस्थान सरकार ने भी पूरी जायल तहसील में फसल खराबा माना है और मुआवजे की घोषणा की है।

नागौर

Published: March 28, 2022 10:31:03 pm

फसल खराबे का गलत आंकलन करने का विरोध, किसान धरने पर बैठे
- पटवारी की गलत रिपोर्ट के कारण बीमा क्लेम से वंचित किसानों का पटवार घर के सामने धरना।

- पटवारी ने घर बैठे ही किसानों के फर्जी हस्ताक्षर कर की क्रॉप कटिंग
-बीमा क्लेम नहीं मिलने तक जारी रहेगा धरना
पटवारी की कारगुजारी, जाली साइन से फसल खराबे का गलत आंकलन
रोल. धरना स्थल पर वार्ता करते जायल तहसीलदार, कृषि उप निदेशक व किसान
दूसरी ओर रोल कस्बे के आसपास की सीमा से लगते सभी गांवों के किसानों को फसल खराबे पर बीमा क्लेम की राशि प्राप्त हो चुकी है, लेकिन रोल राजस्व गांव में पटवारी ने फसल खराबे का आंकलन घर बैठे कर बीमा कम्पनी के पक्ष में कर दिया, जिससे नाराज किसानों ने सोमवार से अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू किया है।
धरना स्थल पर पहुंचे जायल तहसीलदार अमीलाल मीणा व कृषि उपनिदेशक हरीश मेहरा को किसानों ने बताया कि फसल खराबे का आंकलन झूठा है । इस पर तहसीलदार ने फसल आंकलन में नामजद किसानों से बयान लिए, किसान बाबूलाल डिडेल, प्रेमसुख भाकर, किशोरराम डिडेल,मामून, रसीद ,बाबूलाल शर्मा व अन्य 16 किसानों ने लिखित में बयान देकर बताया कि रोल पटवारी रविंद्र कुमार ने घर बैठे ही किसानों के जाली हस्ताक्षर कर रिपोर्ट बनाकर भेज दी। जिन किसानों के खेत में कपास की फसल बोई हुई थी उन किसानों के ज्वार बाजरा व अन्य फसलें बताकर झूठी रिपोर्ट पेश कर दी और नुकसान की जगह अच्छी फसल पैदावार होना बता दिया। इसके कारण फसल खराबे के बावजूद भी किसानों को बीमा क्लेम नहीं मिला। इसे लेकर आक्रोशित किसानों ने रोल पटवार घर के सामने धरना शुरू किया है। किसानों का आरोप है कि पटवारी ने बीमा कंपनी से मोटी रकम लेकर गलत रिपोर्ट पेश की। किसानों को अतिवृष्टि से हुआ नुकसान भी मुनाफे का बताकर पेश किया गया है जिससे यह प्रमाणित होता है कि पटवारी व बीमा कम्पनी के बीच बड़ी मिलीभगत है।
पटवारी करता रहा गुमराह, नाराज किसानों ने दिया धरना तो खुली पोल
किसानों को जब आसपास के गांवों में बीमा क्लेम आने की सूचना मिली तो उन्होंने रोल पटवारी से इस संबंध में पूछताछ की। पटवारी ने ग्रामीणों को बताया कि रोल बड़ा कस्बा है इसलिए उनका बीमा क्लेम 10 अप्रेल तक आ सकता है । उसने रोल में अतिवृष्टि से फसल खराबे की रिपोर्ट भेजी है। क्लेम धीरे-धीरे आएगा ,लेकिन क्लेम नहीं आने पर नाराज किसानों ने पटवार घर के सामने धरना शुरू कर दिया। सूचना मिलने पर नागौर से कृषि अधिकारी व जायल तहसीलदार मौके पर पहुंचे । उन्होंने पटवारी द्वारा भेजी गई क्रॉप कटिंग की रिपोर्ट पेश की तो वहां उपस्थित किसान अचंभित रह गए,क्योंकि पटवारी की जिस रिपोर्ट में किसानों के खेत में ग्वार मूंग बताया गया दरअसल उनके यहां कपास की फसल बोई गई थी।
राज्य सरकार ने माना खराबा पटवारी ने बताई अच्छी पैदावार
खरीफ फसल में राज्य सरकार ने सम्पूर्ण जायल तहसील को अतिवृष्टि व अकाल ग्रस्त माना है वहीं रोल राजस्व गांव को 50 से 75 प्रतिशत फसल खराबे की श्रेणी में रखकर फसल खराबे का मुआवजा देने की घोषणा की है । रोल गांव की सीमा लगते गावों के पटवारियों ने इस आधार पर फसल खराबे का आंकलन सही करके खराबा माना, लेकिन रोल के पटवारी ने गलत रिपोर्ट पेश कर किसानों को नुकसान व बीमा कम्पनी को फायदा पहुंचाने की कोशिश की है।
इस मामले में रोल सरपंच मनफूल सिंह डिडेल व किसान सभा के रामप्रसाद जाट व अन्य किसानों ने जायल विधायक से मामला संज्ञान में लेकर किसानों को बीमा क्लेम दिलाने व पटवारी पर गलत रिपोर्ट तैयार करने पर कार्यवाही की मांग की है। इस दौरान खेराज राम पट्टीदार, ओमप्रकाश डिडेल, मनीराम भाकर, राजू डिडेल, रामनारायण डिडेल,व अन्य किसान मौजूद रहे
मौके पर पहुंचे शंकरलाल सियाग, सीताराम फरड़ौदा श्रवण जाटोलिया ने दूसरे किसानों के बयान लेकर बताया कि रिपोर्ट से उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

भीषण गर्मी : देश में 140 में से 60 बड़े बांधों का पानी घटा, राजस्थान के भी तीन बांध01 जून से दुर्लभ संधि योग में शुरू होगा राम मंदिर के गर्भगृह का निर्माण, वर्षों बाद बन रहा शुभ मुर्हूतलंदन में राहुल गांधी के दिए बयान पर BJP हमलावर, बोली- 1984 से केरोसिन लेकर घूम रही कांग्रेसमंकीपॉक्स पर WHO की आपात बैठक में अहम खुलासा: यूरोप में अब तक 100 से अधिक मामलों की पुष्टि, जानिए 10 अपडेटJNU कैंपस में एमसीए की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तारकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीमाता वैष्णो देवी के प्रमुख पुजारी अमीर चंद का निधन, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल सहित कई नेताओं ने जताया दुख
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.