scriptगुजरात से आ रहे पेटकॉक की ट्रांसपोर्ट के दौरान हो रही चोरी, उद्यमियों ने की कार्रवाई की मांग | Patrika News
नागौर

गुजरात से आ रहे पेटकॉक की ट्रांसपोर्ट के दौरान हो रही चोरी, उद्यमियों ने की कार्रवाई की मांग

ऑल इण्डिया लाइम मैन्युफेक्चर्स एसोसिएशन ने जिला कलक्टर को सौंपा ज्ञापन

नागौरJun 20, 2024 / 09:39 pm

shyam choudhary

All India Lime Manufacturers Association
नागौर. ऑल इण्डिया लाइम मैन्युफेक्चर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बुधवार को जिला कलक्टर अरुण कुमार पुरोहित को ज्ञापन सौंपकर ट्रांसपोर्ट के दौरान पेटकॉक की चोरी रोकने एवं अवैध उपयोग पर रोकथाम लगाने की मांग की। ऑल इण्डिया लाइम मैन्युफेक्चर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष मेघराज लोहिया, महासचिव महेंद्र पित्ती, उपाध्यक्ष मोहनलाल बूब, प्रह्लाद मेहरिया, लक्ष्मण बेनीवाल, राम कैलाश खदाव, सोहनराम, हड़मानराम, दीपक सोनी, गिरवर सिंह, कन्हैयालाल आदि ने ज्ञापन में बताया कि राज्य में पेटकॉक का उपयोग चार तरह की इण्डस्ट्री यथा कली-चूना उत्पादन, केल्शियमकार्बोनेट उत्पादन, सीमेन्ट उत्पादन व गैसीफायर में उपयोग के लिए परमिट किया गया है। राज्य में अधिकतर पेटकॉक गुजरात रिथत पेट्रोलियम रिफाइनरी, रिलायंस पेट्रोलियम, नायरा एनर्जी लिमिटेड व बड़ौदा स्थित इण्डियनऑइल कार्पोरेशन की रिफाइनरी से आ रहा है। यहां से आने वाले पेटकॉक को ट्रांसपोर्ट करने वाले ट्रक चालक अपनी गाडिय़ों से चोरी कर उसमें पानी डालकर अथवा अन्य पदार्थ मिलाकर ला रहे हैं और इस कार्य को करने के लिए गुजरात से चूना उद्योग जो कि बोरून्दा, गोटन, पीपाड़ एवं खींवसर तहसील में अधिकतर लगे हुए हैं, के मार्ग में अनेक सेन्टर बन चुके हैं। जहां पर पेटकॉक उतार कर उसमें पानी डालते हैं व उस पेटकॉक को अवैध रूप से उपयोग लेने के लिए अनधिकृत लोगों को बेच रहे हैं, जो कि सर्वोच्च न्यायालयव गजट नोटिफिकेशन के अनुसार अवैध है। इस चोरी के कारण यहां इस क्षेत्र में एक नए माफिया गैंग का उदय होना शुरू हो गया है, जो भट्टा धारकों की ओर से विरोध करने पर उन्हें डराने धमकाने एवं अभद्र व्यवहार करने लगते हैं। इसको लेकर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जिला कलक्टर से आग्रह किया कि ऐसे सेन्टर पर पेटकॉक का अवैध उपयोग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पुलिस विभाग को निर्देशित करें।
केमिकल ग्रेड चूना पत्थर को अलग करने की मांग

इसी प्रकार एसोसिएशन ने एक और ज्ञापन सौंपकर देश में बढ़ते औद्योगिक विकास में चूने की महत्ता को ध्यान में रखते हुए केमिकल ग्रेड चूना पत्थर को सीमेंट ग्रेड में से हटाकर एक अलग ग्रेड बनाने की मांग की। जो केवल चूना उद्योगों के लिए चिह्नित कर अप्रधान खजिन के रूप में आरक्षित हो।
अस्पतालों के लिए दिए उपकरण

एसोसिएशन की ओर से जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खींवसर व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रगोटन के लिए चिकित्सा उपकरण जिला कलक्टर को भेंट किए। एसोसिएशन अध्यक्ष मेघराज लोहिया ने बताया कि करीब चार लाख के चिकित्सा उपकरण भेंट करने के अलावा प्रदेश को हरित बनाने के लिए पौधरोपण कार्यक्रम भी हाथ में लिया है, जिसके तहत खींवसर, माणकपुर, गोटन, पुन्दलु, ताडावास, बेरावास एवं भावण्डा क्षेत्र में पौधरोपण करेंगे और पौधों की सुरक्षा के लिए ट्री गार्ड भी लगाए जाएंगे।

Hindi News/ Nagaur / गुजरात से आ रहे पेटकॉक की ट्रांसपोर्ट के दौरान हो रही चोरी, उद्यमियों ने की कार्रवाई की मांग

ट्रेंडिंग वीडियो