पीह पटवारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

पीह पटवारी शंकरलाल को तीन हजार रुपए की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार
- जमीन को रेवेन्यू रिकार्ड में यथास्थिति रखने की एवज में ली रिश्वत
- अजमेर एसीबी के निरीक्षक पारसमल के नेतृत्व में कार्रवाई

By: shyam choudhary

Updated: 04 Apr 2019, 07:20 PM IST

नागौर. अजमेर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने गुरुवार को नागौर जिले की पीह ग्राम पंचायत के पटवारी को तीन हजार रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी की कार्रवाई के बाद एसीबी आरोपी पटवारी को अपने साथ अजमेर ले गई।
अजमेर एसीबी की स्पेशल यूनिट के पुलिस निरीक्षक पारसमल ने बताया कि परबतसर तहसील क्षेत्र की पीह ग्राम पंचायत के कुंडरी गांव निवासी संजूलाल जाट ने एसीबी को शिकायत देकर बताया कि उसकी नानी द्वारा खरीदी गई 3.27 हैक्टेयर भूमि का उसके भाई ने फर्जी तरीके से दान पत्र तैयार करवा लिया। उसकी नानी की मृत्यु के बाद भूमि का नामांतरण उसकी नानी व उसकी मौसी के नाम हो गया, लेकिन उसके भाई हरेन्द्र ने फर्जी दान पत्र के आधार पर पटवारी व सरपंच से मिलकर इस जमीन का नामांतरण खुद के नाम करवा लिया। इसके विरुद्ध उसने परबतसर एडीजे कोर्ट में टीआई लगाई, जहां से यथास्थिति के आदेश हो चुके हैं, लेकिन पीह पटवारी शंकरलाल उससे इस यथास्थिति आदेश के रेवेन्यू रिकॉर्ड में इंद्राज करने के एवज में 5 हजार रुपए की मांग कर रहा है।

दो हजार दो दिन पहले लिए
एसीबी ने बताया कि परिवादी की शिकायत का सत्यापन करने के लिए 2 अप्रेल को परिवादी से आरोपी पटवारी को 2 हजार रुपए दिलवाए, जो उसने ले लिए। इसके बाद उसे ट्रेप करने के लिए गुरुवार को 3 हजार रुपए की रिश्वत लेते समय रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। एसीबी रिश्वत की राशि जब्त कर आरोपी को पूछताछ के लिए अजमेर ले गई। एसीबी के अनुसार आरोपी पटवारी जयपुर के कलवाड़ रोड स्थित जय भवानी विहार गोविन्दपुरा का रहने वाला है।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned