संदिग्धों की तलाश में तीन दिन से दौड़ रही है पुलिस

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
ह्म्ड्डद्भड्डह्यह्लद्धड्डठ्ठश्चड्डह्लह्म्द्बद्मड्ड.ष्शद्व
नागौर. ग्राम रातंगा के जंगल में मिली संदिग्ध बदमाशों की आई-20 कार लावारिस हालत में मिलने पर उसकी बरामदगी का एक प्रकरण रोल थाने में दर्ज किया गया है।

By: Ravindra Mishra

Published: 16 Jun 2021, 11:34 PM IST

लावारिस मिली कार का मामला दर्ज, आरोपियों की तलाश जारी

सोमवार को संदिग्ध बदमाशों की इस कार को पकडऩे के लिए एसपी अभिजीत सिंह ने पूरे जिले में नाकाबंदी कराई थी और खुद भी राउण्ड पर रहे। सख्त नाकाबंदी के चलते जायल इलाके में कार के मांगलोद की तरफ जाना हुआ।
जायल सीओ रामेश्वर लाल के सुपरविजन में रोल थानाधिकारी रामनिवास मय जाप्ता के वहां पंहुचा तो एसबीआई बैंक के सामने उक्त कार दिखी, इसे रोकने की कोशिश की तो पुलिस की गाड़ी को टक्कर मारकर बदमाश भाग छटूे। मंगलवार को यह गाड़ी जंगल में मिली। गाड़ी में दो नंबर प्लेट से लगता है कि गाड़ी अवैध काम में जुटी हुई है। ऐसा माना जा रहा है कि सख्त नाकाबंदी के आगे जब बदमाश घिर गए तो गाड़ी अनजाने रास्तों में भगाकर रातंगा के जंगल में खड़ी कर भाग गए। हालांकि पुलिस का कहना है कि बदमाशा आसपास छिपे होंगे। उनकी तलाश बुधवार को भी जारी रही। बताया जा रहा है कि भीलवाड़ा में पुलिस जवानों पर हमला करने वाले तस्कर राजू भगौड़ा और उसके साथी इस गाड़ी में थे। उक्त कार को जब्त कर कब्जा फरार बदमाशों पर राजकार्य मे बाधा पहुंचाने, सरकारी सम्पति को नुकसान पहुंचाने का मामला दर्ज किया है।


तीनों आरोपी आठ दिन के रिमाण्ड पर

नागौर . भीलवाड़ा के बनेड़ा पुलिस के हत्थे चढ़े 25 लाख के डोडा -चूरा तस्करी के आरोपी जिस वाहन में मादक पदार्थ ले जा रहे थे वह चोरी की थी। यह पिकअप गुजरात से चुराई थी। जिले में प्रवेश करते हुए उस पर भीलवाड़ा पॉसिंग की नम्बर प्लेट लगा ली, ताकि पुलिस को गच्चा दें। पुलिस ने तस्करी के आरोप में गिरफ्तार नागौर जिले के तीन आरोपियों को बुधवार को अदालत में पेश किया। जहां से उनको आठ दिन के रिमाण्ड पर सौप दिया। मामले की अग्रिम जांच सदर थानाप्रभारी कर रहे है। भीलवाड़ा की सदर पुलिस ने नागौर के मेड़ता रोड निवासी सहदेवराम विश्नोई, कुचेरा निवासी बाबूलाल जाट तथा डेगाना निवासी रामनिवास विश्नोई को बुधवार को अदालत में पेश किया। वहां से उन्हेंआठ दिन के रिमाण्ड पर लिया गया। रिमाण्ड के दौरान आरोपियों से पता करना है कि मादक पदार्थ जावद में किसने भरा। इसका सप्लायर कौन था। नागौर के मेड़ता में किसे पहुंचाना था। इसके अलावा चुराई पिकअप किससे किराए पर ली थी। थानेदार पर तानी गई पिस्टल कहां से लाए थे? इसे लेकर उनसे पूछताछ की जानी है और अन्य आरोपियों का पता लगाना है।
यह था मामला
मंगलवार को भीलवाड़ा के बनेड़ा पुलिस ने डेढ़ किलोमीटर पीछा कर कमालपुरा के निकट तस्करों को पकड़ा। पिकअप चालक ने बनेड़ा थानाप्रभारी नंदलाल रिणवा पर पिस्टल तान दी थी। पुलिसकर्मियों ने तीन जनों को घेराबंदी कर पकड़ लिया था। पिकअप से 25 लाख का डोडा चूरा बरामद किया था। पिकअप के साथ एस्कॉर्ट के काम आ रही लग्जरी जीप भी बरामद की थी। चार कारतूस भी मिले।

Ravindra Mishra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned