वातावरण में जहर घोल रही पॉलीथिन

वातावरण में जहर घोल रही पॉलीथिन

Pratap Singh Soni | Publish: Oct, 13 2018 06:58:56 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/nagaur-news/

नावां शहर. सब जानते है कि पॉलीथिन पर्यावरण के लिए जानलेवा है। बावजूद इसके प्रतिबंधित पॉलीथिन का धड़ल्ले से बााजरों में उपयोग किया जा रहा है। सब्जी मण्डी, किराना दुकान, फल ठेलों पर खुले में पॉलीथिन बिक रही है। जिम्मेदार अधिकारी अनजान बैठे हैं जबकि इसका उपयोग करने पर जुर्माने से लेकर सजा का प्रावधान है। नगरपालिका के कर्मचारी भी छोटी दुकानों पर कार्रवाई कर इतिश्री कर लेते हैं। जिला कलक्टर के स्पष्ट निर्देशों व न्यायालय की रोक के बावजूद शहर में प्रतिबंधित पॉलिथीन का उपयोग किया जा रहा है। कागज व कपड़े के थैले थैलियों का प्रयोग व्यापारियों को रास नहीं आ रहा। ऐसे में शहर के बाजारों में बिकने वाली सभी प्रकार की सामग्री पर पॉलिथीन का ही राज है। अकेले नावां क्षेत्र में ही रोज एक क्विंटल पॉलीथिन का उपयोग हो रहा है। शहर में हर तरफ पॉलीथिन का प्रयोग हो रहा है। इसे खाने से मवेशियों का जीवन संकट में पड़ रहा है वहीं मनुष्यों के लिए भी यह काफी खतरनाक है। नावां नगरपालिका की ओर से पॉलिथीन की रोकथाम के लिए कोई कार्रवाई नहीं की गई और न ही उपखण्ड एवं तहसील प्रशासन ने कोई प्रयास किए। जिसके चलते बाजार पॉलिथीन में पैक हो गए है। दुकानदार बेखौफ होकर पॉलिथीन में सामग्री तोल रहे हैं।

कपड़े के थैले गायब
पहले जब लोग बाजार से सामान लेने के घरों से निकलते थे तो कपड़े का थैला हाथ में लेकर ही निकलते थे। अब थैले मिलना मुश्किल हो गया है। लोग कागज के थैली का उपयोग इसलिए नहीं करते क्योंकि उसमें हैंडल नहीं होता। फटने के डर के चलते लोग सुविधा को देखते हुए पॉलीथिन का ही उपयोग करते हैं।

हो सकती है जेल
नियमानुसार यदि प्रशासनिक कार्रवाई की जाए तो प्रतिबंधित पॉलिथीन थैलियों में सामग्री बेचते हुए पाए जाने के बाद आरोप सिद्ध होने पर एक साल की कैद व एक लाख के जुर्माने का प्रावधान है, लेकिन अब तक शहर में ऐसी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। अधिकारियों की उदासीनता का मजा व्यापारी ले रहे हैं।

इनका कहना
पॉलीथिन के उपयोग करने पर व्यापारियों पर समय समय पर कार्रवाई की जाती है। यदि बाजार में पुन: पॉलीथिन का प्रयोग बढ़ रहा है तो कार्रवाई अवश्य की जाएगी।
प्रदीप गौतम, स्वास्थ्य निरीक्षक नगरपालिका नावां।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned