scriptProposals sought in seven days to create a new district in Nagaur | नागौर में नया जिला बनाने को सात दिन में मांगे प्रस्ताव | Patrika News

नागौर में नया जिला बनाने को सात दिन में मांगे प्रस्ताव

जिला कलक्टर ने एडीएम व एसडीएम की बैठक लेकर दिए निर्देश

- जिले में कुचामन, डीडवाना व मेड़ता को जिला बनाने की उठ रही है मांग

नागौर

Updated: May 18, 2022 12:44:00 pm

नागौर. क्षेत्रफल की दृष्टि से प्रदेश के पांचवें सबसे बड़े जिले नागौर का पुनर्गठन कर दो जिले बनाने की मांग अब पूरी होने की उम्मीद जगी है। इसके लिए अधिकारियों को प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। मंगलवार को जिला कलक्टर पीयूष समारिया ने जिले के सभी अतिरिक्त जिला कलक्टर व उपखण्ड अधिकारियों को नवीन जिला सृजन के सम्बन्ध में प्रस्ताव, ज्ञापन व मांग पत्र प्राप्त कर 7 दिन में जिला मुख्यालय भिजवाने के निर्देश दिए हैं।
Proposals sought in seven days to create a new district in Nagaur
Proposals sought in seven days to create a new district in Nagaur
कलक्टर ने बताया कि प्रदेश में नए जिलों के पुनर्गठन व सृजन के सम्बन्ध में सेवानिवृत आईएएस राम लुभाया की अध्यक्षता में गठित उच्च स्तरीय समिति की प्रथम बैठक गत 5 मई को आयोजित की गई, जिसमें नवीन जिला बनाए जाने के लिए प्राप्त प्रस्तावों व मांगों पर चर्चा की गई।उन्होंने बताया कि उच्च स्तरीय समिति द्वारा प्रस्तावित निर्णय अनुसार नवीन जिला सृजन के सम्बन्ध में सांसद, विधायक, जनप्रतिनिधि एवं आमजन आदि से प्रस्ताव, मांग व ज्ञापन प्राप्त किए जाएंगे।
इन मापदंडों पर देंगे ध्यान
कलक्टर समारिया ने बताया कि नवीन जिलों के सृजन के लिए जिले की भौगोलिक स्थिति व मांग की पृष्ठभूमि, जिले की जनसंख्या की स्थिति, जिला मुख्यालय से दूरस्थ तहसील की दूरी, जिला पुनर्गठन का औचित्य एवं नवीन जिले की आवश्यकता, प्रस्तावित जिले में न्यूनतम तहसील संख्या एवं उपलब्ध प्रशासनिक आधारभूत संख्या, क्षेत्र के पिछड़ेपन व गरीबी की स्थिति के दृष्टिगत विकास, सुशासन व सुप्रबन्ध एवं त्वरित अभाव अभियोग निस्तारण प्रस्तावित मुख्य मानदंड रहेंगे।
सांसद-विधायक सहित आमजन से भी लेंगे प्रस्ताव

कलक्टर ने बताया कि जिले के सभी अतिरिक्त जिला कलक्टर व उपखण्ड अधिकारियों को नवीन जिला सृजन के सम्बन्ध में सांसद, विधायक, जनप्रतिनिधियों व आमजन आदि से प्रस्ताव, मांग व ज्ञापन प्राप्त कर सात दिवस में जिला कलक्ट्रेट में भिजवाने के लिए निर्देशित किया है।
पत्रिका ने उठाया था मुद्दाक्षेत्रफल की दृष्टि से प्रदेश का पांचवां व जनसंख्या की दृष्टि से चौथा सबसे बड़ा जिला होने से नागौर के नावां, परबतसर, लाडनूं, मकराना, कुचामन आदि क्षेत्रों के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। साथ ही कुचामन व डीडवाना को जिला बनाने की मांग पिछले काफी समय से की जा रही है। कुचामन व डीडवाना में जिला बनाने के हिसाब से पुलिस व प्रशासनिक स्तर पर काफी व्यवस्थाएं स्थापित की जा चुकी हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: संजय राउत का बड़ा दावा, कहा-मुझे भी गुवाहाटी जाने का प्रस्ताव मिला था; बताया क्यों नहीं गएक्या कैप्टन अमरिंदर सिंह बीजेपी में होने वाले हैं शामिल?कानपुर में भी उदयपुर घटना जैसी धमकी, केंद्रीय मंत्री और साक्षी महाराज समेत इन साध्वी नेताओं पर निशानाआतंकी सोच ऐसी कि बाइक का नम्बर भी 2611, मुम्बई हमले की तारीख से जुड़ा है नंबर, इसी बाइक से भागे थे दरिंदेपाकिस्तान में चुनावी पोस्टर में दिख रहीं सिद्धू मूसेवाला की तस्वीरें, जानिए क्या है पूरा मामला500 रुपए के नोट पर RBI ने बैंकों को दिए ये अहम निर्देश, जानिए क्या होता है फिट और अनफिट नोटनूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट लिखने पर अमरावती में दुकान मालिक की हुई हत्या!Maharashtra Politics: उद्धव और शिंदे के बीच सुलह कराना चाहते हैं शिवसेना के सांसद, बीजेपी का बड़ा दावा-12 एमपी पाला बदलने के लिए तैयार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.