गैस सिलेंडर लेने व नम्बर रजिस्टे्रशन को लग रही कतार

एक ही समय कतार में लगे दिखे सौ से डेढ़ सौ उपभोक्ता, कतार के बीच टूटती रही सोशल डिस्टेंसिंग

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 07 Apr 2020, 09:12 PM IST

नागौर. शहर के अहिंसा सर्किल पर संचालित गैस एजेंसी के बाहर सोमवार को उपभोक्ताओं की कतार लगी रही। सौ से डेढ़ सौ तक उपभोक्ता एक ही समय यहां कतार में लगे दिखे। इस भीड़ में कई उपभोक्ता ऐसे भी रहे, जो अपना मोबाइल नम्बर रजिस्टर्ड करवाने आए थे। कई लोग सिलेंडर लेने के लिए कतार में खड़े दिखे। चाहे जो हो, लेकिन कतार के बीच सोशल डिस्टेंसिंग टूटती रही। एजेंसी के बाहर दोपहर तक लम्बी कतार लगी रही।

कोई बुकिंग करवाता दिखा तो कोई सिलेंडर लेकर जाता रहा। सड़क पर लगी कतार के बीच से होकर गुजरना राहगीरों के लिए भी मुश्किल सा रहा। इस एजेंसी में सोमवार को करीब डेढ़ सौ उपभोक्ताओं की बुकिंग व नम्बर रजिस्ट्रेशन किया गया। कई लोग दो-दो के ग्रुप में आए। इससे एक ही समय में कई लोग एकत्र हो गए। कतार में खड़े कई लोग सोशल डिस्टेंसिंग की पालना कर रहे थे तो अधिकतर एक-दूसरे से सटे हुए ही खड़े नजर आए।

उधर, एजेंसी संचालक प्रणय गहलोत ने बताया कि कई लोग उज्जवला योजना के तहत नम्बर रजिस्ट्रेशन के लिए आए थे। इसमें से कुछ लोग खाली गैस सिलेंडर भी साथ लेकर आए थे। ऐसे में भीड़ लग गई। उन्होंने बताया कि सोमवार को उपभोक्ताओं की कतार लगने का अंदेशा था इसलिए दो पुलिसकर्मी बुलाए गए, लेेकिन लोग कतार में खडे रहे।

पत्रिका व्यू: उपभोक्ताओं को समझदारी दिखानी चाहिए

महामारी के इस दौर में उपभोक्ताओं को भी समझदारी दिखानी चाहिए। अनावश्यक रूप से बाहर आने पर रोक लगी रहे तो कोरोना को आसानी से हराया जा सकता है। उज्जवला योजना के तहत जो सिलेंडर लेने की मारामारी मच रही है उसके लिए भी चिंतित होने की जरूरत नहीं है। नियमानुसार मुफ्त में मिल रहे तीनों सिलेंडर इस वित्तीय वर्ष में 31 मार्च, 2021 तक कभी भी लिए जा सकते हैं। कनेक्शन धारक को अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर से इसकी बुकिंग करवानी होगी। पहली किस्त आने के बाद सिलेंडर लेना होगा, ताकि दूसरी किस्त मिल सके। 31 मार्च तक की अवधि में वे अपने तीनों सिलेंडर इसी तरह ले सकेंगे। जिन उपभोक्ताओं ने रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर बदल दिया है वे अपना रजिस्ट्रेशन नए सिरे से करवा सकते हैं। इसके लिए उन्हें सम्बंधित गैस एजेंसी पर आधार कार्ड दिखाना होगा। वैसे गैस एजेंसियां भी चाहे तो सिलेंडर घर-घर पहुंचाते हुए अपने वैंडर के जरिए ही घर-घर जाकर मोबाइल नम्बर रजिस्टर्ड करवा सकती है। भीड़ कम करने का यह बेहतर विकल्प हो सकता है।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned