नागौर में तमाम प्रयासों के बावजूद नहीं बढ़ा मतदान

नागौर में तमाम प्रयासों के बावजूद नहीं बढ़ा मतदान

Dharmendra Gaur | Publish: Dec, 08 2018 08:28:29 PM (IST) Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

जिले में 72.88 प्रतिशत रहा मतदान
-वीवीपैट के कारण अधिक लगा समय
नागौर. प्रदेश की 15वीं विधानसभा के लिए शुक्रवार को मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गया। निर्वाचन विभाग की ओर से मतदाताओं को जागरूक करने के प्रयासों के बावजूद मतदान प्रतिशत में अपेक्षा के अनुरूप बढ़ोतरी नहीं हुई। 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में जिले में 73.51 फीसदी मतदान हुआ था जबकि 2018 के चुनाव में यह आंकड़ा 72.88 पर आकर रुक गया। विभाग की ओर से चुनाव में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए किए गए नवाचार काम नहीं आए। विभाग की उम्मीद के अनुरूप प्रदेश में मतदान का आंकड़ा 80 फीसदी नहीं पहुंच पाया। आयोग को उम्मीद थी कि यह आंकड़ा बढ़ेगा लेकिन यह गत चुनावी मतदान प्रतिशत से भी कम रह गया।


नवाचारों का भी नहीं हुआ असर


आयोग की ओर से ईवीएम मशीन के साथ वीवीपैट के इस्तेमाल से पहली बार मतदाताओं की ओर से डाला गया वोट उन्हें नजर भी आया। वीवीपैट के इस्तेमाल से प्रति व्यक्ति मताधिकार के औसत समय में सात सैकेण्ड का अधिक समय लगा। महिलाओं को मतदान केन्द्रों की जिम्मदारी दी। युवा मतदाताओं को पहली बार मतदान के लिए जोड़ाा। दिव्यांगजनों के लिए विशेष सुविधा उपलब्ध करवाई गई। पहली बार मतदान के लिए आदर्श मतदान केन्द्र स्थापित किए। इतना कुछ करने क बाद भी आयोग मतदान बढ़ाने की कोशिश में कामयाब नहीं हो पाया।


धीमी गति से हुआ मतदान


निर्वाचन आयोग के अलावा राजनीतिक पार्टियों के समर्थकों व उम्मीदवारों ने भी मतदाताओं को बूथ तक लाने के लिए कोशिश की लेकिन वे मतदाताओं को बूथ तक लाने में सफल नहीं हो सके। मतदाताओं राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने भी जयपुर में मीडिया से कहा कि मतदान के दिन कई मतदान केन्द्रों से मतदान धीरे चलने की जानकारी मिलने के बाद जरूरी होने पर मशीनों को भी बदला गया। जिस तरह से मतदान का प्रतिशत बढ़ाने का प्रचार किया गया था, उस हिसाब से काफी कम मतदान हुआ है और इसका हमें मलाल रहेगा।


नहीं छू पाए गत बार का आंकड़ा


जिले की दस विधानसभा सीटों में से छह सीटों पर मतदान प्रतिशत गत चुनाव के आंकड़े को भी नहीं छू पाया। हालांकि जायल, नागौर, मकराना व मेड़ता सीटों पर मतदान में मामूली बढोतरी दर्ज की गई। नागौर विधानसभा क्षेत्र के बू कर्मसोता गांव में मतदाताओं के मतदान का बहिष्कार करने के चलते मतदान प्रतिशत जीरो रहा। कामकाज के सिलसिले में बाहर रहने वाले लोगों का इस चुनाव में रुचि नहीं लेना भी मतदान कम होने का एक कारण रहा। हालांकि जिले में युवाओं व नव मतदाताओं में मतदान को लेकर उत्साह नजर आया।

नागौर जिले की सीटों पर मतदान प्रतिशत

सीट 2013 2018
लाडनूं 71.61 69.83
डीडवाना 75.06 71.44
जायल 69.11 69.31
नागौर 72.05 72.11
खींवसर 77.09 75.26
मेड़ता 67.04 70.87
डेगाना 73.94 72.35
मकराना 77.03 77.59
परबतसर 77.81 77.38
नावां 75.07 72.90
कुल 73.51 72.88

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned