रावणा राजपूत समाज ने निकाली वाहन रैली

रावणा राजपूत समाज ने निकाली वाहन रैली
डीडवाना. मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपते समाज के लोग।

Pratap Singh Soni | Updated: 23 Sep 2019, 06:31:33 PM (IST) Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

मनाया मेजर दलपतसिंह शेखावत का 101वां बलिदान दिवस, इजरायल की किताबों में पढ़ाए जाते हैं भारत के ये हाइफा हीरो, प्रथम विश्वयुद्ध में जोधपुर सेना की तरफ से तुर्की सेना के खिलाफ लड़ी थी लड़ाई

डीडवाना. शहर की लाडनंू रोड स्थित रावणा राजपूत छात्रावास में सोमवार को हाइफा हीरो मेजर दलपतसिंह शेखावत का 101वां बलिदान दिवस मनाया गया। इस अवसर पर रावणा राजपूत समाज के लोगों ने मेजर दलपतसिंह की प्रतिमा के आगेे दीप प्रज्जवलित कर पुष्प अर्पित किए। दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धासुमन भी अर्पित किए। राष्ट्रीय चामुंडा सेना तहसील अध्यक्ष भवानीसिंह ने बताया कि कार्यक्रम में सैकड़ों समाज बंधु एवं युवा मौजूद रहेंं। कार्यक्रम की शुरूआत में वक्ताओं ने हाइफा हीरो मेजर दलपतसिंह के जीवन के बारे में बताया। वक्ताओं ने समाज के युवाओं व विद्यार्थियों मेजर दलपतसिंह की तरह साहस का परिचय देते हुए समाज एवं देश हित में कार्य करने के लिए प्रेरित किया। वक्ताओं ने कहा कि मेजर दलपतसिंह ने प्रथम विश्वयुद्ध में जोधपुर की सेना की तरफ से तुर्की सेना के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। इस लड़ाई में दलपतसिंह ने अपने साहस व धैर्य के साथ तुर्की की सेना को शिकस्त दी। विक्रमसिंह आकोदा ने शहीद मेजर दलपतसिंह देवली के बारे में बोलते हुए कहा कि दलपतसिंह का जन्म जोधपुर के देवली गांव में 26 जनवरी 1892 को कर्नल हरीसिंह शेखावत के यहां हुआ था। इनके पिता पोलो खिलाड़ी थे। इनकी शिक्षा-दिक्षा जोधपुर शहर में ही हुई। अपने अदम्य साहस और वीरता का परिचय देने के कारण इन्हें मिलिट्री क्रॉस से भी नवाजा गया था। कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने कहा कि शहीद कभी मरते नहीं वरन अमर हो जाते है। वक्ताओं ने कहा कि सम्मान में त्रिमूर्ती सर्किल देश की राजधानी में स्थित है। जोधपुर एवं पाली शहर में मुख्य चौराहे पर अश्वारूढ मूर्ति स्थापित है। वहीं 23 सितम्बर को इजरायल एवं भारतीय सेना द्वारा हेफा दिवस के रूप में यह दिवस मनाया जाता है। वर्तमान सरकार ने सरकारी स्कूलों में कक्षा 9वीं के पाठयक्रम में हेफा हीरो मेजर दलपतसिंह की जीवनी के वृतांत को देश के अमर शहीदों की सूची में सम्मलित किया गया है।

शहर में निकाली बाइक रैली
इस अवसर पर शहर में बाइक रैली का भी आयोजन किया गया। जिसमें समाज के युवाओं ने बढ़-चढ़ कर उत्साह के साथ भाग लिया। रैली को समाज के लोगों ने शहर के रहमान गेट से गाजे-बाजे के साथ रवाना किया। बाइक रैली शहर भगतसिह सर्किल, अशोक स्तम्ब, मुख्य बस स्टैंड, फंवारा सर्किल, बांगड़ कॉलेज से हॉस्पिटल चौराहा होते हुए वापस लाडनूं रोड स्थित रावणा राजपूत समाज छात्रावास पहुंची। रैली का जगह-जगह स्वागत किया गया। इस दौरान हाइफा हीरो मेजर दलपतसिह देवली अमर रहें के नारो से वातावरण गूंज उठा।

सार्वजनिक चौराहे के नामांकरण की मांग
कार्यक्रम के बाद रावणा राजपूत समाज की ओर से मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में डीडवाना शहर के सार्वजनिक चौराहे का नामकरण हाइफा हीरो मेजर दलपतसिंह शेखावत के नाम से करने की मांग की गई। ज्ञापन में बताया गया कि इजरायल शहर को आजाद कराने वाले अमर शहीद मेजर दलपतसिंह देवली के शहादत दिवस को यादगार बनाने के लिए मारावड़ प्रान्त के वीर सपूत के नाम से डीडवाना शहर में चौराहे का नामकरण मेजर दलपतसिंह देवली चौराहे के नाम से किया जाना चाहिए। जिससे आने वाली पीढिय़ा मेजर सिंह के बलिदान को याद कर प्रेरित होती रहें।

शहीद महापुरुषों को किया याद
केशरियां रंग में रंगी रावणा राजपूत समाज की उक्त रैली के दौरान देश के अमर शहीदों को भी नमन किया गया। शहर की चूंगी चौकी स्थित सुभाष सर्किल पर सुभाषचन्द्र बोस, भगतसिंह सर्किल पर शहीद भगतसिह व लाडनूं रोड स्थित अम्बेकर चौराहे पर लगी डॉ. भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर पुष्प चढ़ाकर नमन किया गया।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned