अब होगी असली जंग, हनुमान व ज्योति होंगे आमने-सामने

नागौर लोकसभा सीट पर आखिरकार भाजपा व आरएलपी का गठबंधन

By: shyam choudhary

Published: 04 Apr 2019, 12:10 PM IST

नागौर. देश भर में अपनी विशेष पहचान रखने वाली नागौर लोकसभा सीट पर अब आरएलपी के हनुमान बेनीवाल कांग्रेस की ज्योति मिर्धा से सीधा मुकाबला करेंगे। भाजपा ने आरएलपी के साथ गठबंधन करके राजस्थान की 25 में से 24 सीटों पर ही चुनाव लडऩे का निर्णय किया है, जबकि नागौर सीट आरएलपी को देने का फैसला किया गया है।

भाजपा के गठबंधन से आरएलपी समर्थकों में जहां खुशी की लहर है, वहीं सीआर चौधरी को टिकट देने का विरोध करने वाले भाजपा नेताओं के भी विरोधी सुर नरम पड़े हैं। भाजपा आलाकमान ने भाजपा के स्थानीय नेताओं को शांत करने के लिए आरएलपी के साथ गठबंधन कर नागौर की सीट निकालने के लिए तुरूप का पत्ता फेंका है। अब देखना यह है कि भाजपा का यह दांव कांग्रेस की ज्योति मिर्धा के सामने किस हद तक सफल होता है।

आखिर इंतजार हुआ समाप्त
कांग्रेस द्वारा ज्योति मिर्धा का टिकट फाइनल करने के बावजूद भाजपा ने नागौर सीट से प्रत्याशी की घोषणा नहीं की, जिससे नागौर के भाजपा कार्यकर्ता आलाकमान की ओर टकटकी लगाए बैठे थे कि जैसे ही प्रत्याशी की घोषणा हो, वे प्रचार में लगे। इधर, आरएलपी के संयोजक हनुमान बेनीवाल भी कांग्रेस से गठबंधन नहीं होने पर चुप्पी साधे बैठै थे, जिससे आरएलपी के कार्यकर्ता भी किसी बड़ी घोषणा के इंतजार में थे। हनुमान बेनीवाल को लेकर लगाई जा रही अटकलों पर गुरुवार सुबह उस समय विराम लग गया, जबकि उनकी पार्टी का भाजपा से गठबंधन हो गया।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned