वाहनों के साथ लावारिस पशुओं पर भी लगेंगे रिफ्लेक्टर

जिला प्रशासन, नगर परिषद व परिवहन विभाग ने शहर में शुरू किया अभियान
- ‘नो रिफ्लेक्टर, नो व्हीकल' अभियान को प्राथमिकता से चलाया जाएगा
- हादसों में कमी लाने की कवायद

By: shyam choudhary

Updated: 03 Apr 2021, 09:47 AM IST

नागौर. रात के अंधेरे व कम विजिबिलिटी में वाहनों से होने वाली दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए जिला प्रशासन, नगर परिषद और परिवहन विभाग द्वारा संयुक्त रूप से जिले में शुक्रवार को ‘नो रिफ्लेक्टर-नो व्हीकल’ अभियान शुरू किया गया। अभियान की शुरुआत कलक्ट्रेट के सामने जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी, पुलिस अधीक्षक श्वेता धनखड़, नगर परिषद सभापति मीतू बोथरा, आयुक्त श्रवणराम चौधरी एवं अन्य जनप्रतिनिधियों द्वारा वाहनों पर रिफ्लेक्टर लगाकर की गई।

इस मौके पर .डॉ सोनी ने मौजूद जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों और आमजन को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार ‘नो रिफ्लेक्टर-नो व्हीकल’ अभियान के अन्तर्गत अब तक जिले में पुलिस और परिवहन विभाग की तरफ से सराहनीय काम किया गया और हजारों की संख्या में वाहनों पर रिफ्लेक्टर लगाए गए। अब इस कार्य में नगर परिषद नागौर ने शहर को न्यूनतम दुर्घटना क्षेत्र बनाने और इसी दिशा में ‘नो रिफ्लेक्टर-नो व्हीकल’ अभियान के साथ शहर की सडक़ों को सही करने व साइन बोर्ड लगवाने का संकल्प लिया है। डॉ. सोनी ने जिला प्रशासन की तरफ से समस्त पार्षदों व नगर परिषद सभापति मीतू बोथरा को साधुवाद देते हुए कहा कि जनप्रतिनिधियों द्वारा शहर को न्यूनतम दुर्घटना क्षेत्र बनाने के लिए लिया गया संकल्प एक सराहनीय कदम है।
नगर परिषद सभापति मीतू बोथरा ने कहा कि ‘नो रिफ्लेक्टर-नो व्हीकल’ अभियान सडक़ दुर्घटनाओं को रोकने के लिए चलाया जा रहा है। इसमें अब नगर परिषद भी अपना पूरा सहयोग देगी और प्रशासन के साथ मिलकर शहर को न्यूनतम दुर्घटना क्षेत्र बनाने का प्रयास किया जाएगा।

एसपी धनखड़ ने कहा कि रात में विजिबिलिटी कम हो जाने के कारण बिना बैकलाइट वाले वाहनों को देखने में परेशानी होती है। यदि ऐसे वाहनों पर रिफ्लेक्टर लगा दिए जाएं तो दुर्घटनाओं की संभावना कम हो जाती है। उन्होंने वाहनों के साथ-साथ लावारिस पशुओं, जो रात में कई बार दुर्घटना का कारण बन जाते हैं, उनके सींगो पर भी रिफ्लेक्टर लगवाने की बात कही। उन्होंने कहा कि कई बार अंधेरे में वाहन चालक इन पशुओं को नहीं देख पाते हैं। रिफ्लेक्टर लगने से चालकों के साथ लावारिस पशुओं की जान बचाई जा सकेगी। साथ ही उन्होंने जनता से अपील की कि तेज गति से वाहन ना चलाएं और दुपहिया वाहन चलाते समय हमेशा हेलमेट का उपयोग करें।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned