योजना नहीं बनी तो त्योहारी सीजन में भी खानी पड़ेगी ठोकरें

शहर में सीवरेज लाइन बिछाने के बाद बिना मरम्मत ही छोड़ दी हैं सड़कें, न ठेकेदार ने मरम्मत करवाई और न नगर परिषद ही ध्यान दे रही

By: Jitesh kumar Rawal

Updated: 17 Oct 2020, 10:10 PM IST

नागौर. त्योहारी सीजन शुरू हो चुकी है, लेकिन लोगों की समस्याएं खत्म होने का नाम नहीं ले रही। नगर परिषद की ओर से न तो मार्गों को दुरुस्त किया जा रहा है और न ही मरम्मत करवाई जा रही है। क्षतिग्रस्त मार्गों पर निकलने से हरदम हादसे का अंदेशा बना रहता है। घर से बाहर निकलते ही जर्जर मार्ग पर चलना काफी मुसीबत भरा है। शहर में सीवरेज लाइन बिछाने का काम चल रहा है, लेकिन जिन जगहों पर सीवरेज लाइन डाल चुके हैं वहां भी सड़कों का समतलीकरण नहीं करवाया गया। जर्जर मार्ग पर वाहन चलाना तो दूर पैदल चलना भी दिक्कत भरा साबित हो रहा है। ऐसे में यदि समय रहते इन मार्गों की मरम्मत को लेकर योजना नहीं बनी तो त्योार के दिनों में भी लोग ठोकरें खाने को मजबूर होंगे।

बदहाल पड़े हैं शहर के भीतरी मार्ग
शहर के भीतरी भाग में भारी समस्या है। नगर सेठ बंशीवाला मंदिर मार्ग अर्से से बदहाल पड़ा है। पूरी तरह से संकरी गली है और क्षतिग्रस्त होने से आमने-सामने गुजरना मुश्किल हो रहा है। दोनों ओर नालियां होने से दिक्कत और बढ़ जाती है। वहीं बिखरे सीमेंटेड ब्लॉक्स के कारण ठोकरें खानी पड़ रही है।

फिर भी नतीजा सिफर रहा
शहरवासी बताते हैं कि क्षतिग्रस्त मार्गों की समय पर मरम्मत नहीं हो रही है। इससे मुश्किल बढ़ गई है। कई बार आयुक्त को व जिला कलक्टर को भी शिकायत की गई, लेकिन नतीजा सिफर ही रहा। इन मार्गों की सुध नहीं ली जा रही है। कभी-कभार औपचारिक तौर पर मरम्मत जरूर हो जाती है, लेकिन ठोस काम नहीं होने से लोगों की समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned