जोधपुर रूट पर खींवसर पर रूकेगी रोडवेज, अन्य स्टेशनों से सरपट दौड़

इस रूट की छह बसों के लिए निर्धारित किया केवल एक ही स्टेशन, अन्यत्र जाना है तो जरा पूछ कर बैठिएगा, नहीं तो मुश्किल बढ़ सकती है

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 22 Jun 2020, 08:24 PM IST

नागौर. नागौर से जोधपुर के रास्ते में किसी गांव का सफर करना है तो जरा संभलकर, ऐसा न हो कि आपका स्टेशन आए और बस सरपट ही निकल जाए। कोरोना संक्रमण से बचाव को देखते हुए रोडवेज बसों का ठहराव स्थल गिने-चुने स्टेशन ही कर रखा है। लिहाजा इन स्टेशन के अलावा अन्य जगह से चढऩा या उतरना है तो पूछे बगैर बस में बैठना मुश्किल बढ़ा सकता है। इस रूट पर छह बसें तो ऐसी हैं, जो केवल एक ही स्टेशन कवर करेंगी। नागौर केंद्रीय बस स्टैंड से दो दर्जन बसें शुरू की गई है, जो विभिन्न जिलों को कवर करते हुए यात्रियों को मंजिल तक ले जाएंगी। इसी प्लानिंग में जोधपुर रूट के लिए भी कुछ बसें संचालित हो रही है, लेकिन नागौर से जोधपुर अप डाउन में छह बसें ऐसी है, जो केवल खींवसर पर ही ठहराव करेंगी। इन बसों का ठहराव स्थल यह एक ही स्टेशन रहेगा। अन्य स्टेशनों से ये सरपट निकल जाएंगी।

... ताकि संक्रमण से बचाव हो
कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर रोडवेज प्रबंधन एहतियात भी बरत रहा है। बचाव को देखते हुए अधिकतर स्टेशन कवर नहीं किए जा रहे। लिहाजा ठहराव स्थल काफी कम कर दिए हैं। महज गिने-चुने स्टेशन कवर किए जा रहे हैं, ताकि बस में बैठने से पहले यात्रियों की स्क्रीनिंग हो सके। अभी तक उन स्टेशन पर ही बसें रोकी जा रही है, जहां थर्मल स्क्रीनिंग की सुविधा है। जिन स्टेशनों पर यह सुविधा नहीं है, वहां ठहराव नहीं हो रहा।

यात्रियों के लिए रहेगा फायदेमंद
जोधपुर-नागौर रूट नोन स्टॉप की तरह यात्री करने वालों को यह कम समय में पहुंचा सकती है। रास्ते में केवल एक ही ठहराव स्थल होने से ये बसें कम समय में दूरी तय करेंगी। ऐसे में जिन यात्रियों को सीधा जोधपुर जाना हो या नागौर आना हो, वे इन बसों के जरिए आराम से सफर कर सकते हैं। यात्रियों के लिए यह काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned