रोहिणी स्कूल के अध्यापकों ने लिया ड्रेस कोड में आने का संकल्प

रोहिणी गांव के राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में पीईईओ क्षेत्र के सभी अध्यापकों ने जताई सहमति

By: shyam choudhary

Published: 20 Jul 2018, 12:38 PM IST

नागौर. जिला प्रशासन व राजस्थान पत्रिका के संयुक्त तत्वावधान में चल रहे नींव अभियान के तहत नागौर पंचायत समिति के रोहिणी गांव के राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में पीईईओ क्षेत्र के सभी शिक्षकों ने अगस्त के प्रथम सप्ताह से ड्रेस कोड में आने का संकल्प लिया है। प्रधानाचार्य रामावतार चिनिया ने बताया कि पत्रिका और जिला प्रशासन के इस अभियान से शिक्षकों में नई जागृति आई है और हर शिक्षक पूर्ण मनोयोग से अभियान को सफल बनाने के लिए कृत संकल्प है। गुरुवार को पीईइओ रोहिणी के राजकीय उच्च प्राथमिक बीरमसर संख्या-2 के संस्था प्रधान मनसुखलाल मीणा, राप्रावि बीरमसर के नेनूराम जान्दू, बीरमसर संख्या-3 के राजेश कुमार सेन, राप्रावि तीन तलाई के चतराराम, राप्रावि मेघवालों की ढाणी के श्रवण कुमार मांझू, राप्रावि तोलान नाडी के नरेश कुमार सिंह, राप्रावि पंडरिया नाडा के बन्नाराम, कांकरियों की ढाणी के राजेन्द्र, शिक्षाकर्मी विद्यालय के छगनाराम, शिक्षाकर्मी पूनियों की ढाणी से आशा सहित सभी विद्यालयों के शिक्षकों ने ड्रेस कोड में आने का संकल्प लिया। प्रधानाचार्य चिनिया ने बताया कि अगस्त के प्रथम सप्ताह में सभी अध्यापक ड्रेस कोड में आएंगे।
21 को होगी मोटीवेशन सेमिनार
अभियान के तहत 21 जुलाई को रोहिणी के राआउमा विद्यालय में मोटिवेशन सेमिनार का आयोजन होगा, जिसमें खजवाना विद्यालय के प्रधानाचार्य प्रेमप्रकाश मिश्र, स्थानीय पीएचसी के डॉ. रामअवतार जाखड़ व स्थानीय प्रधानाचार्य चिनिया सहित कई अतिथि विद्यार्थियों को सम्बोन्धित करेंगे। इसके बाद नवाचार के तहत नव दम्पती द्वारा विद्यालय में पौधरोपण कर ‘हरियाळो राजस्थान’ अभियान की शुरुआत की जाएगी।


बदलाव के दस सूत्र अपनाएगा चाऊ का सरकारी विद्यालय
नागौर. बच्चों के शैक्षिक एवं विद्यालय हित में परिवेश बदलने वालों की फेरहिस्त में राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय, चाऊ भी शामिल होगा। जल्द ही इस विद्यालय के साथ ही चाऊ ग्राम पंचायत क्षेत्र के सभी स्कूलों के संस्था प्रधान एवं शिक्षक ड्रेस कोड में नजर आएंगे। राजस्थान पत्रिका एवं जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में चलाए जा रहे ‘हर स्कूल बने मॉडल स्कूल’की मुहिम में कई संस्था प्रधान एवं शिक्षकों ने शामिल होकर प्रदेश के इतिहास में शैक्षिक क्षेत्र में बदलाव की इबारत लिख दी है। बदलाव की इस मुहिम में शामिल विद्यालयों में नामांकन संख्या में अप्रत्याशित बढ़ोतरी के साथ ही बच्चों में गुरु एवं शिष्य के प्रति परस्पर सम्मान एवं अनुशासन का संदेश भी गया है। इससे उत्साहित होकर राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय, चाऊ के संस्था प्रधान मदनलाल शर्मा ने खुद के विद्यालय के साथ ही ग्राम पंचायत के अन्य संस्था प्रधानों और शिक्षकों के साथ ड्रेस कोड में आने की घोषणा की है।

शर्मा का कहना है कि ड्रेस कोड सहित बदलाव के लिए बने दस सूत्रों के अमल से निश्चित रूप से विद्यालयों का कायाकल्प होगा, बल्कि राजकीय विद्यालय प्रत्येक क्षेत्र में निजी शिक्षण संस्थानों को पीछे छोड़ देंगे। निश्चित रूप से सभी स्कूलों का रंग एक होने के साथ ही शिक्षक एवं शिक्षिकाओं का ड्रेस कोड होने से शिक्षक वर्ग को न केवल नई पहचान मिलेगी, बल्कि अनुशासन की शृंखला में बदलाव का संदेश जाएगा।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned