आरएसएससी नागौर के प्रबंधक मीणा की सड़क दुर्घटना में मृत्यु

रक्षाबंधन पर परिवार के साथ जाने वाले थे नैनवा, पहले ही आ गई मौत
- रात करीब साढ़े आठ बजे बीकानेर रोड पर हुई दुर्घटना

By: shyam choudhary

Published: 21 Aug 2021, 11:09 AM IST

नागौर. शहर के बीकानेर रोड पर शुक्रवार रात करीब साढ़े आठ बजे सड़क दुर्घटना में राजस्थान स्टेट सीड्स कार्पोरेशन (आरएसएससी) नागौर के संयंत्र प्रबंधक श्योजीलाल मीणा की मौत हो गई। दुर्घटना के बाद मीणा के शव को जेएलएन अस्पताल की मोर्चरी में रखवाकर परिजनों को सूचना दी। परिजनों से सूचना मिली कि संयंत्र प्रबंधक मीणा शनिवार को परिवार के साथ नैनवा जाने वाले थे, लेकिन विधि के विधान को कुछ और ही मंजूर था, जिसके कारण शुक्रवार रात को उनकी दुर्घटना में मृत्यु हो गई।

अस्पताल चौकी पुलिस के अनुसार मूल रूप से बूंदी जिले के नैनवा निवासी श्योजीराम मीणा पुत्र राजूलाल मीणा नागौर के बालवा रोड स्थित आरएसएससी संयंत्र में प्रबंधक के पद पर कार्यरत थे, जो शुक्रवार रात करीब साढ़े आठ बजे मोटरसाइकिल से जा रहे थे। बीकानेर रोड पर टाटा शोरूम के पास एक ट्रक चालक ने मीणा को चपेट में ले लिया, जिससे वह गंभीर घायल हो गए। दुर्घटना के बाद मीणा को जेएलएन अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची तथा ट्रक को जब्त किया। पुलिस के अनुसार ट्रक चालक दुर्घटना के बाद मौके से फरार हो गया। उधर, दुर्घटना की सूचना मिलने पर कृषि विभाग के कृषि अधिकारी शंकरराम सियाक अस्पताल पहुंचे तथा घटना की जानकारी लेने के बाद विभागीय अधिकारियों को जानकारी दी।

घर जाने के लिए पत्नी व बच्चों को रोका
जानकारी के अनुसार संयंत्र प्रबंधक मीणा, पत्नी व बच्चों के साथ शुक्रवार को नैनवा जा रहे थे। लेकिन बीज संयंत्र में काम अधिक होने के कारण शुक्रवार को अवकाश के बावजूद कार्यालय गए और पत्नी व बच्चों को भी रोक लिया और बोले कि शनिवार सुबह सब साथ चलेंगे। शुक्रवार शाम को काफी देर तक मीणा घर नहीं पहुंचे तो पत्नी ने उन्हें फोन किया, जिस पर मीणा ने कहा कि वे पांच मिनट में घर पहुंच रहे हैं, लेकिन रास्ते में दुर्घटना होने के कारण फोन भी टूट गया। कृषि अधिकारी शंकरराम सियाक ने बताया कि उनकी सिम जैसे ही दूसरे फोन में डाली, उनकी पत्नी का फोन आ गया। बोली- पांच मिनट में आने वाले थे, एक घंटा हो गया, घर क्यों नहीं आए। सियाक ने उन्हें दिलासा देते हुए बताया कि दुर्घटना में उनके पैर में चोट लग गई, इसलिए अस्पताल में उपचार करवा रहे हैं, लेकिन उन्हें शायद अनहोनी का अहसास हो गया, इसलिए फोन पर ही रोने लगी।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned