वीडियो में देखिए जनता कर्फ्यू की तस्वीर, नागौर के लोगों ने दिया पूरा समर्थन

शहर व जिले के सभी रास्ते सील, लोगों को घरों में रहने की हिदायत

By: shyam choudhary

Published: 22 Mar 2020, 10:50 AM IST

नागौर. कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किए गए आह्वान एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा प्रदेश में लॉकडाउन की घोषणा करने के बाद रविवार को नागौर जिला मुख्यालय सहित जिलेभर के गांव व कस्बों में जनताा कर्फ्यू को पूरा समर्थन दिया जा रहा है। शहर के बाजार पूरी तरह बंद हैं और कोई भी व्यक्ति अपने घर से बाहर नहीं है, सिवाय जरूरी सेवाओं में लगे कर्मचारियों के। शहर में पुलिस की टीमें गश्त कर रही हैं, कहीं भी न तो कोई दुकान खुली है और न ही कोई व्यक्ति घर से बाहर है।

हालांकि नागौर में जिले में जनता कर्फ्यू की स्थिति शनिवार को ही उत्पन्न हो गई थी। तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए सुबह जिला कलक्टर दिनेश कुमार यादव ने 22 मार्च (रविवार) सुबह 6 बजे से 23 मार्च रात 10 बजे तक जरूरी सेवाओं को छोडकऱ समस्त प्रतिष्ठान एवं दुकानें बंद रखने के आदेश दिए थे तथा आदेश की पालना सुनिश्चित करने के लिए जिला पुलिस अधीक्षक, जिला रसद अधिकारी एवं सभी उपखण्ड मजिस्ट्रेट को निर्देश दिए। लेकिन देर रात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उच्च स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर 22 से 31 मार्च तक लॉकडाउन के आदेश जारी कर दिए।

अब प्रदेश में 31 मार्च तक सबकुछ बंद रहेगा, सिवाय चिकित्सा, बिजली-पानी, मीडिया सहित जरूरी सेवाओं को छोडकऱ। आप को बता दें कि प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है, जिसकी रोकथाम को लेकर सरकार आवश्यक कदम उठा रही है। रविवार को जनता कर्फ्यू के तहत पसरे सन्नाटे से यह अंदाज लगाया जा सकता है कि प्रदेश की जनता भी सरकार का पूरा सहयोग कर रही है।

पुलिस ने किए सभी रास्ते सील
शाम को पुलिस प्रशासन ने नागौर शहर सहित जिले में प्रवेश करने वाले रास्तों को सील कर दिया। पुलिस ने शहर में प्रवेश करने वाले सभी रास्तों के साथ शहर के भीतरी इलाकों में भी बेरिकेड लगाकर रास्ते बंद कर दिए। नागौर शहर में एसपी कार्यालय के सामने, सर्किट हाउस, एसपी निवास के आगे, विजय वल्लभ चौराहा से शहर में आने वाले रास्ते पर, मानासर चौराहे से शहर में आने वाली रोड पर, पुराना अस्पताल के आगे, गांधी चौक सहित बीकानेर रोड के रास्तों पर बेरिकेड लगाकर पुलिस जाब्ता तैनात किया गया। एसपी डॉ. विकास पाठक व एएसपी रामकुमार कस्वां ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है। शहर के साथ जिले में प्रवेश करने वाले रास्तों को भी बंद किया गया है। उन्होंने बताया कि लाडनूं रोड, जोधपुर रोड, बीकानेर रोड, अजमेर रोड सहित अन्य रास्तों को भी सील किया गया है।

जिले में मिल रहा पूरा समर्थन
जिला मुख्यालय सहित पूरे जिले में जनता कर्फ्यू को पूरा समर्थन मिल रहा है। पादूकलां के बाजार में रविवार को एक भी दुकान खुली नहीं मिली। वहीं बाजारों में सन्नाटा पसरा है। सभी लोग अपने घरों में कैद हो रखे हैं। सभी दुकानदारों व स्थानीय लोगों ने कोरोना वायरस से सतर्क रहने एवं जागरूकता के लिए सरकार और प्रशासन के साथ कंधा से कंधा मिलाकर साथ देने का संकल्प लिया है।
स्थानीय लोगों ने बताया कि सरकार और प्रशासन जो भी हमें दिशा-निर्देश देंगे, उसकी पालना हम करेंगे और हम उनके साथ हैं। उन्होंने कहा कि हम कोरोना से डरेंगे नहीं बल्कि सतर्क रहकर लोगों को जागरूक करेंगे।

रोल कस्बे का बाजार भी पूर्णतया बंद है। लोग जनता कर्फ्यू का पालन कर रहे हैं। जिले में प्रवेश करने वाले रास्ते सील करने से नागौर रोड पर एक भी वाहन नजर नहीं आया। पुलिस लाउडस्पीकर पर लोगों को घरों में रहने की अपील कर रही है। कस्बे में सिर्फ अस्पताल व मेडिकल की दुकानें खुली है।

इसी प्रकार बड़ी खाटू कस्बे का सम्पूर्ण बाजार बन्द है। पुलिस लाउडस्पीकर के जरिए लोगों को घरों में रहने की हिदायत दे रही है। चारों ओर सन्नाटा छाया हुआ है। हाईवे स्थित सभी होटलें, निजी वाहन भी बन्द है।
चौसला कस्बे में कोरोना वायरस को लेकर जनता कफ्र्यू के तहत सन्नाटा पसर गया है। गली मोहल्लों व सार्वजनिक चौक कहीं भी कोई भी व्यक्ति नजर नहीं आ रहा है। लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहे अनुसार सुबह 7 बजे से घरों में रहकर जनता कर्फ्यू का समर्थन कर रहे हैं। घरों में कई लोग सूर्य नमस्कार तो कई पूजा पाठ करने में लगे। वहीं नागौर-जयपुर मेगा हाइवे भी सूनसान नजर आ रहा है।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned