scriptSOG reached to arrest former municipal head Gulzar Khan | पूर्व पालिकाध्यक्ष गुलजार खां को दुबारा गिरफ्तार करने पहुंची एसओजी, खां अस्पताल में भर्ती | Patrika News

पूर्व पालिकाध्यक्ष गुलजार खां को दुबारा गिरफ्तार करने पहुंची एसओजी, खां अस्पताल में भर्ती

फर्जी दस्तावेजों से पट्टा व लीज डीड जारी करने व नियम विरुद्ध खांचा भूमि आवंटित करने के मामले में एसओजी ने कसा शिकंजा
- कोतवाली थाने के छह साल पुराने दो मामलों में आरोपी है गुलजार खां
- मंगलवार को नागौर के पूर्व पालिकाध्यक्ष के सहयोगी रहे हिम्मताराम माली व नीरज गुप्ता को भी किया गिरफ्तार

नागौर

Published: July 27, 2022 10:25:48 pm

नागौर. शहर के बीकानेर रोड स्थित खसरा नम्बर-53 में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर जमीन का आवंटन करने के बाद पट्टा, लीज डीड व निर्माण कार्य की स्वीकृति देने के मामले में एसओजी ने करीब छह साल पुराने मामले में मंगलवार को पूर्व पालिकाध्यक्ष सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। इसके बाद बुधवार को मैढ़ स्वर्णकार छात्रावास के पास नियम विरुद्ध दो बार खांचा भूमि आवंटन करने के मामले में एसओजी की टीम पूर्व पालिकाध्यक्ष गुलजार खां को दुबारा गिरफ्तार करने पहुंची, लेकिन गुलजार खां बीमार होने के कारण उसे जेएलएन अस्पताल में भर्ती कराया गया।
नागौर नगर परिषद
नागौर नगर परिषद
एसओजी की एएसपी दिव्या मित्तल ने बताया कि 14 अगस्त 2016 में राजपूत कॉलोनी निवासी एडवोकेट महावीर बिश्नोई ने कोतवाली थाने में दर्ज करवाए गए मामले में पूर्व पालिकाध्यक्ष हाजी गुलजार खां, सहयोगी हिम्मताराम माली व नीरज गुप्ता को मंगलवार को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से तीनों को जेल भेज दिया।
सूत्रों के अनुसार इस मामले में अभी और गिरफ्तारियां की जानी शेष है। गौरतलब है कि इस मामले में मुख्य आरोपी हरिराम ने न्यायालय से स्थगन ले रखा था, जिसकी गत दिनों मृ़त्यु हो गई । इधर, तीन आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद एडवोकेट विश्नोई ने कहा कि खसरा नम्बर 53 में जिन-जिन लोगों ने फर्जीवाड़े से जमीनों पर कब्जे किए हैं, उन सब के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाएंगे।
यह था मामला
जानकारी के अनुसार एडवोकेट विश्नोई ने छह साल पहले दर्ज करवाई गई रिपोर्ट में बताया कि नागौर के भू-माफिया हरिराम पुत्र आशाराम जाट ने नागौर में बीकानेर रोड स्थित नगर परिषद के खसरा नम्बर-53 में दुकानें व भवन निर्माण के लिए स्वीकृति पत्रावली संख्या-277/2014-15 में फर्जी व कूटरचित दस्तावेजों का सहारा लेकर व नगर परिषद के कार्मिकों से मिलीभगत कर भ्रष्ट तरीके से करोड़ों रुपए की सम्पत्ति हड़पने की रिपोर्ट दर्ज करवाई।
ये लगाए थे आरोप

विश्नोई ने रिपोर्ट में बताया कि हरिराम ने बीकानेर रोड, सरस डेयरी के सामने खसरा नम्बर-53 में अपनी खरीद शुदा, पट्टा शुदा जमीन बताते हुए दुकान व भवन निर्माण के लिए स्वीकृति के लिए एक पत्रावली प्रस्तुत की। उस पत्रावली में अपनी जायगा बताने के लिए सर्वप्रथम चैनल दस्तावेज के रूप में यह जायगा ताऊसर के जमासर बास निवासी हिम्ताराम पुत्र जगदीश माली व नागौर के नीरज कुमार पुत्र धुरेन्द्र कुमार महाजन को बेचना व धुरेन्द्र कुमार से जरिये रजिस्ट्री हरिराम की ओर से खरीदना बताया। उसके बाद अपने उक्त रजिस्टर्ड दस्तावेज के आधार पर नगर परिषद नागौर के समक्ष दूसरी पत्रावली पेश कर खांचा भूमि प्राप्त की। परिवादी ने आरोप लगाया कि हरिराम से मिलीभगत कर नगर परिषद के कर्मचारियों ने जांच करना भी उचित नहीं समझा और पत्रावली में भवन निर्माण की स्वीकृति देकर नगर परिषद को करोड़ों रुपए का नुकसान पहुंचाया।
कलक्टर ने निरस्त किया था पट्टा
विश्नोई ने रिपोर्ट में बताया कि उक्त जमीन का हिम्मताराम पुत्र जगदीश माली के पक्ष में पट्टा व नगर पालिका नागौर की लीज डीड़ जारी हो रखे थे। उस लीज डीड व पट्टा को जिला कलक्टर नागौर ने जरिये निगरानी आदेश 26 फररवरी 2008 को ही निरस्त कर दिया था। ऐसी स्थिति में जहां नगर पालिका के पट्टे को जिला कलक्टर ने खारिज कर दिया हो, हिम्मताराम की ओर से नीरज कुमार को खारिज पट्टे के दस्तावेज को असल के रूप में उपयोग लेकर उसके आधार पर कूटरचित दस्तावेज तैयार कर बेचान करना ही अपने आप में अवैध व शून्य था। इसके बाद नीरज कुमार की ओर से 26 मार्च 2008 को हरिराम को बेचान करना भी पूर्ण रूप से विधि विरुद्ध था।
अध्यक्ष नहीं था, फिर भी किए हस्ताक्षर

रिपोर्ट में बताया कि खांचा भूमि की पत्रावली संख्या-11/2008-09 की लीज डीड पर अध्यक्ष हाजी गुलजार ने हस्ताक्षर किए थे, जबकि लीज डीड का निष्पादन 8 जून 2012 को किया गया है तथा उस समय हाजी गुलजार अध्यक्ष ही नहीं था। इसमें प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से नगर परिषद नागौर के तत्कालीन आयुक्त पोकरराम चौहान व नगर परिषद के कर्मचारियों ने अपने पदीय कर्तव्य के निर्वहन में जानबूझ कर गम्भीर लापरवाही बरती और सरकार को नुकसान पहुंचाया।
53 नम्बर का जिन्न निकला बाहर

गौरतलब है कि खसरा नम्बर 53 पर नियम विरुद्ध कब्जे करने व उनके पट्टे जारी करने को लेकर पिछले कई वर्षों से विवाद चल रहा है। आए दिन अवैध कब्जा करने की शिकायतें भी होती हैं और कई बार नगर परिषद ने यहां निर्माण कार्य को ध्वस्त भी करवाया है। दो दिन पहले पूर्व पालिकाध्यक्ष मनोहरसिंह राठौड़ व पूर्व सभापति के पुत्र अखिलेश सोलंकी की ओर से भी इसी खसरे को लेकर एक-दूसरे के खिलाफ मामले दर्ज करवाए गए हैं।
खांचा भूमि से बना लिए बड़े भूखंड

पहले छोटी-सी सरकारी जमीन पर कब्जा करके उसके कागज तैयार करवाना और फिर उसके पास खाली पड़ी सरकारी जमीन को खांचा भूमि के नाम पर हथियाने का ट्रेंड नागौर में पिछले कई सालों से चल रहा है। हाल ही कोतवाली थाने में दर्ज कराए गए मामलों से यह भी स्पष्ट हुआ है कि जहां एक बार खांचा भूमि के नाम पर जमीन ली जा सकती है, वहां लोगों ने नगर परिषद के कर्मचारियों से मिलीभगत कर तीन से चार बार खांचा भूमि लेकर बड़े-बड़े भूखंड बना लिए।
आरोपियों को जेल भेजा
कोतवाली थाने में दर्ज करीब छह साल पुराने मामले की जांच एसओजी के पास थी, जिसमें आज पूर्व पालिकाध्यक्ष हाजी गुलजार खां सहित तीन जनों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। वहां से तीनों को जेल भेज दिया है।
- दिव्या मित्तल, एएसपी, एसओजी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.