कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहन योजना के क्रियान्वयन में कलक्टर प्रभावी भूमिका निभाएं - मुख्य सचिव

राज्य के मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दिए निर्देश

By: shyam choudhary

Published: 07 Sep 2021, 10:06 PM IST

नागौर. प्रदेश के मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने राजस्थान कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहन योजना-2019 को राज्य के कृषि परिदृश्य की तस्वीर बदलने वाली बताते हुए जिला कलक्टरों को इसके क्रियान्वयन में प्रभावी भूमिका निभाने के निर्देश दिए।
मुख्य सचिव आर्य मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संभागीय आयुक्त एवं जिला कलक्टरों के साथ विभिन्न योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। मुख्य सचिव ने कहा कि इस नीति के माध्यम से राजस्थान, कृषि प्रसंस्करण एवं निर्यात को बढ़ावा देने के लिए देश में सबसे ज्यादा प्रोत्साहन एवं सहुलियतें मुहैया कराने वाला राज्य है। उन्होंने कहा कि इस योजना को लागू करवाने में जिला कलक्टर की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिए वह हर माह जिला स्तरीय समिति की बैठक कर प्रस्तावों की स्वीकृति जारी करें। उन्होंने कम प्रगति वाले जिलों के कलक्टर से चर्चा कर प्रगति बढ़ाने के निर्देश दिए। आर्य ने मुख्यमंत्री स्मॉल स्केल इंडस्ट्रीज प्रमोशन स्कीम एवं राजस्थान इनवेस्टमेंट प्रमोशन स्कीम (रिप्स)-2019 की समीक्षा करते हुए जिला कलक्टरों को प्रभावी क्रियान्वयन के निर्देश दिए।

‘गांधीजी का संदेश जन-जन तक पहुंचाने के लिए प्रभावी कार्य करें’
आर्य ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष के आयोजन के तहत हो रहे कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए कहा कि यह मुख्यमंत्री की प्रमुख प्राथमिकताओं में शामिल है और इसके लिए संस्थागत स्तर पर काफी कार्य किए गए हैं। उन्होंने गांधी दर्शन समिति के समर्पित एवं अनुभवी गैर सरकारी सदस्यों के सहयोग से गांधीजी का संदेश जन-जन तक पहुंचाने के लिए प्रभावी एवं नवाचारी कार्य करने के निर्देश भी दिए।
नागौर से जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष के आयोजनों और 02 अक्टूबर 2021 को आयोजित की जाने वाली गतिविधियों की प्रस्तावित कार्ययोजना के बारे में मुख्य सचिव को जानकारी दी। वहीं गांधी दर्शन समिति के जिला सह संयोजक हीरालाल भाटी ने भी मुख्य सचिव को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष के आयोजन के तहत हो रहे कार्यक्रमों और गांधीजी के विचारों के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए नवाचारी कार्यों के संबंध में महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

358 प्रकरण स्वीकृत कर 121 करोड़ का अनुदान जारी
इस अवसर पर कृषि विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री भास्कर ए सावंत ने कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहन योजना के प्रावधानों एवं प्रोत्साहनों से अवगत कराते हुए बताया कि इसके तहत राज्य में 1471 करोड़ रुपए निवेश के 756 प्रकरण प्राप्त हुए हैं, जिनमें से 358 प्रकरणों को स्वीकृत कर 121 करोड़ रुपए का अनुदान जारी किया गया है, जिन पर 593 करोड़ रुपए का निवेश हुआ है। उन्होंने बताया कि 754 करोड़ रुपए निवेश के अन्य प्रकरणों की मंजूरी के लिए प्रक्रिया जारी है।

बाल विज्ञान कांग्रेस में बच्चों की भागीदारी बढ़ाने के निर्देश
श्रीमती मुग्धा सिन्हा ने बाल विज्ञान कांग्रेस में बच्चों की भागीदारी बढ़ाने, स्कूलों में विज्ञान क्लबों के संचालन को प्रोत्साहित करने तथा राज्य नव प्रवर्तन परिषद् के जिले में होने वाले ग्रामीण नवाचारों को अग्रेषित करने के निर्देश दिए। बैठक में उद्योग विभाग की आयुक्त श्रीमती अर्चना सिंह एवं कृषि विपणन विभाग के निदेशक श्री सोहनलाल शर्मा भी उपस्थित थे। इस अवसर विभिन्न विभागों के शासन सचिव, संभागीय आयुक्त एवं जिला कलक्टर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में शामिल हुए।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned