विद्यार्थियों को बताए पर्चा हल करने के साथ भविष्य में आगे बढऩे के महत्वपूर्ण टिप्स

राजस्थान पत्रिका की स्वर्णिम भारत मुहिम के तहत राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित शिक्षक शिवशंकर व्यास ने बताए टिप्स

By: shyam choudhary

Published: 07 Mar 2020, 10:02 PM IST

नागौर. विद्यार्थी देश का भविष्य हैं और स्वर्णिम भारत के संवाहक भी। इनका आधार मजबूत होगा तो ये भविष्य की इमारत को बुलंद रख पाएंगे। इनका सकारात्मक और ऊर्जावान बने रहना जरुरी है। इनकी परीक्षा तैयारियां बेहतर हों, तनाव से दूर रहें, परीक्षा प्रबंधन अच्छे से कर पाएं, इसी उद्देश्य को लेकर स्वर्णिम भारत मुहिम के तहत राजस्थान पत्रिका के स्थापना दिवस पर शुरू किए गए ‘पत्रिका मास्टर की’ अभियान के तहत शनिवार को जिला मुख्यालय के सेठ किशनलाल कांकरिया उच्चा माध्यमिक विद्यालय में राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित शिक्षक शिवशंकर व्यास ने विद्यार्थियों को तनाव प्रबंधन, एकाग्रता से परीक्षा देने, विषय को समझने, परीक्षा पर्चे को हल करने के साथ ही भविष्य में आगे बढऩे जैसे महत्वपूर्ण टिप्स बताए।

शिक्षक व्यास ने विद्यार्थियों को बताया कि परीक्षा से पूर्व पाठ्यक्रम का हर बिन्दू एवं पाठ पढ़ लें तथा परीक्षा में यदि पहला ही प्रश्न नहीं आ रहा हो तो उससे घबराएं नहीं, पहले उन प्रश्नों के उत्तर लिखें, जो सही और पूरे आते हों। उन्होंने बताया कि कई बार प्रश्न पत्र हल करते करते कई प्रश्न के उत्तर याद आ जाते हैं, इसलिए परीक्षा में घबराना नहीं चाहिए। व्यास ने विद्यार्थियों को बताया कि लगातार पढ़ते रहने से कई बार बोरिंग होने लगती है, ऐसे में बीच-बीच में पांच मिनट का ब्रेक लें और अपने आप को ताजा महसूस करें। इसके साथ मोबाइल व सोशल मीडिया से दूर रहने, होली पर सावचेती से रंग लगाने जैसे टिप्स दिए।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned