शिक्षक निभा रहे सरकारी ‘गुप्तचर’ की भूमिका

जिले में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति का रिकार्ड तैयार कर प्रशासन को करवा रहे उपलब्ध
- 24 घंटे दे रहे सेवा, स्कूलों में बनाए क्वारंटाइन सेंटर भी शिक्षकों के भरोसे

By: shyam choudhary

Updated: 18 Apr 2020, 06:45 PM IST

नागौर. कोरोना वायरस के संक्रमण से फैली वैश्विक महामारी में चिकित्सक एवं नर्सिंगकर्मी जहां कर्मवीर की भूमिका निभा रहे हैं, वहीं देश का भविष्य निर्माण करने वाले शिक्षक इन दिनों सरकारी गुप्तचर की भूमिका निभा रहे हैं। जिले भर में विभिन्न स्थानों पर बनाई चैक पोस्ट पर रात-दिन ड्यूटी देकर पर्दे के पीछे साइलेंट हीरो की तरह काम कर रहे हैं। सच पूछा जाए तो शिक्षकों व पुलिसकर्मियों की बदौलत ही जिले में प्रवेश करने वाले बाहरी लोगों का पूरा रिकॉर्ड तैयार कर चिकित्सा विभाग एवं जिला प्रशासन को उपलबध करवा रहे हैं।
अकेले नागौर शहर की बात करें तो यहां शहर में प्रवेश करने वाले सात रास्तों पर बनाई गई चैक पोस्ट पर शिक्षक आठ-आठ घंटे की पारी में 24 घंटे तैनात रहकर हर आने-जाने वाले की जानकारी रजिस्टर में दर्ज कर रहे हैं।

ग्रामीणों को कर रहे जागरूक, क्वारंटाइन सेंटर की बागडोर भी संभाली
कोरोना जैसी महामारी के बीच अपनी जान दांव पर लगाकर शिक्षक एक ओर जहां विभिन्न चैक पोस्ट पर ड्यूटी देकर सीमा पर तैनात सिपाही की तरह मोर्चा संभाले हुए हैं, वहीं सरकारी स्कूलों में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों की बागडोर भी शिक्षकों के हाथों में है। घर जाने की जिद करने वाले लोगों को समझाइश कर 14 दिन तक क्वारंटाइन में रख रहे हैं। सबसे बड़ी परेशानी तो 14 दिन पूरे करने वाले लोगों को समझाने में आ रही है। लॉकडाउन के चलते परिवहन के साधन नहीं होने से ऐसे लोगों को रोके रखना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।

पर्दे के पीछे निभा रहे बड़ी जिम्मेदारी
जिले के शिक्षक कोरोना जैसी महामारी में सरकारी निर्देशों की पालना में सातों दिन 24 घंटे ड्यूटी देेकर आमजन को जागरूक करने के साथ बचाने में बड़ी भूमिका निभा रहे हैं। शिक्षक के कंधों पर हमेशा ही बड़ी जिम्मेदारी रही है और इस संकट में भी शिक्षक अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं।
- धर्मपाल डोगीवाल, जिला महामंत्री, राजस्थान शिक्षक संघ (सियाराम), नागौर

16 हजार शिक्षक दे रहे ड्यूटी
कोरोना वायरस से फैल रही महामारी की रोकथाम व आमजन को बचाने के लिए नागौर जिले के करीब 16 हजार शिक्षक विभिन्न कार्यों में लगे हुए हैं, जिसमें चैक पोस्ट, सर्वे कार्य एवं क्वारंटाइन सेंटर आदि प्रमुख हैं। सभी शिक्षकों की ड्यूटी उपखंड अधिकारी कार्यालयों के माध्यम से लगाई गई है।
- अजय कुमार वाजपेयी, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, नागौर

Corona virus
shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned