रायधनू सहकारी समिति में गबन की जांच करने पहुंची टीम

रायधनू सहकारी समिति में गबन की जांच करने पहुंची टीम
रायधनू सहकारी समिति में गबन की जांच करने पहुंची टीम

Dharmendra Gaur | Updated: 04 Jun 2019, 11:54:15 AM (IST) Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

ग्रामीणों ने की थी समिति में भ्रष्टाचार व गबन की शिकायत

नागौर. ग्राम पंचायत रायधनू में सेंट्रल कॉ ऑपरेटिव बैंक के अधीन ग्राम सेवा सहकारी समिति में भ्रष्ष्टाचार व गबन की जांच करने राज्य स्तरीय तीन सदस्यीय टीम रायधनू पहुंची व दस्तावेजों की जांच की। गौरतलब है कि गत दिनों ग्रामीणों ने समिति में भ्रष्टाचार व गइन की शिकायत की थी। रजिस्ट्रार, सहकारिता विभाग को शिकायत करने पर अतिरिक्त सहकारी समितियां, अजमेर ने त्वरित कार्यवाही करते हुए जांच टीम गठित करने का आदेश जारी किया। इसके बाद जांच कमेटी ने रायधनू पहुंच दस्तावेज खंगाले। इस दौरान ग्रामीणों ने सबूतों के साथ शिकायत प्रस्तुत करते हुए आरोप लगाया कि अध्यक्ष तथा व्यवस्थापक ने मिलीभगत करते हुए फसल ऋण माफी-2018 में सरकारी कर्मचारियों के फर्जी शपथ पत्र पेश करते हुए बड़े स्तर पर गबन कर राशि हड़प ली।


झूठे शपथ पत्र से दिया ऋण


शिकायत लेकर पहुंचे ग्रामीण नेमाराम धुंधवाल ने बताया कि व्यवस्थापक व अध्यक्ष ने मिलकर फसली ऋण माफी-2018 में बड़े स्तर पर सरकारी राशि का गबन किया। व्यवस्थापक ने अपने रिश्तेदारों को रेवडिय़ां बांटते हुए जमीन साख के नियम कायदों को एक तरफ रखकर फर्जी ऋण वितरण कर गरीबों का हक मार लिया। सरकार ने सरकारी कर्मचारियों का ऋण माफ नहीं किया था लेकिन यहां के व्यवस्थापक ने सरकारी कर्मचारियों के नाम से कर्मचारी ना होने के झूठे शपथ-पत्र लगाकर ऋण बांट दिए। एक ही वर्ष में दो-दो बार ऋण माफी का लाभ दिया गया। ज्ञात हो कि रायधनू समेत जिले के अन्य गांवों में भी भ्रष्टाचार व गबन के आरोपों के बाद जांच की जानी है। इस दौरान व्यवस्थापक व शिकायतकर्ताओं के बीच झड़प भी हुई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned