दूषित जलापूर्ति की जांच करने पहुंची इंजीनियरों की टीम

Nagaur. राजस्थान पत्रिका में हाथीचौक में दूषित जलापूर्ति की खबर प्रकाशित होने के बाद जिला कलक्टर के निर्देश पर पहुंचा जांच दल

By: Sharad Shukla

Published: 11 Sep 2021, 09:39 PM IST

नागौर. शहर के हाथीचौक के बाशिंदों की एक साल से पी रहे दूषित पानी की खबर का राजस्थान पत्रिका में शनिवार के अंक में प्रकाशित होने के बाद जिला कलक्टर जितेन्द्र के निर्देश पर शहरी जलप्रदाय योजना के सहायक अभियंता व अमृत योजना के कर्मचारियों की संयुक्त रूप से टीम क्षेत्र में पहुंची। यहां पर दूषित जलापूर्ति के तकनीकी कारकों की जांच की गई। इस दौरान वार्ड में रहने वाले अनिल पारीक व रवि पारीक के मकान व आस-पास के मकानो से जिला प्रयोगशाला रसायन विभाग जन स्वा.अभि. विभाग की टीम द्वारा पानी के सैंपल लिये लिए जाने के साथ इस समस्या के बारे मे जानकारी ली गई। गंदे पानी की सप्लाई की समस्या पाई गई है। अमृत योजना के अधिकारियों का कहना है कि इस स्थान पर नई पाईप लाईन डाली हुई है। इनके इंटर कनेक्शन किये जाना शेष है। समस्या को ध्यान में रखते हुए आगामी दिवसों में नई लाईनो को जुड़वा कर निवारण कर दिया जाएगा। इस मौके पर शहरी जल प्रदाय योजना के सहायक अभियंता कलीम अशरफ, अमृत योजना के इंजीनियर ओमाराम ज्याणी के अलावा जिला प्रयोगशाला रसायन विभाग जन स्वा.अभि. विभाग की टीम में मनीष दवे तथा नंदकिशोर एवं क्षेत्र के नागरिकों में अनिल पारीक और रवि पारीक आदि मौजूद थे।
बेंच प्रेस प्रतियोगिता में भाग लेने खिलाड़ी रवाना
नागौर. राज्यस्तरीय 26वीं बेंच प्रेस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए जिले की टीम चित्तौडगढ़़ के लिए रविवार को रवाना हो गई। इसमें महिला वर्ग में हर्षिता गिरी, शोभा सांखला व गजल भूरट हैं। जबकि पुरुष वर्ग में जितेन्द्र नायक, महावीर, सुरेन्द्रसिंह, सुनील नागौरा, रोहित नागौरा, हर्षित पंवार, मोहित टाक, मधुसूदन सिंह, हेमंत कुमावत, शिवम जांगीड़ एवं लक्ष्यजीत शामिल हैं। टीम का मुख्य कोच संगम के सहसचिव कमलेश गिरी और टीम मैनेजर पूर्व खिलाड़ी राजेश सोनी को बनाया गया है। संगम के अध्यक्ष भंवर बिश्नोई व कोच रजत कच्छावा ने दल को शुभकामनाओं के साथ रवाना किया।
ऋषि पंचमी पर्व धूमधाम से मनाया गया
नागौर. गोचिकित्सालय में चल रहे मासिक सत्संग कार्यक्रम के तहत ऋषि पंचमी पर्व शनिवार को मनाया गया। स्वामी कुशालगिरी महाराज व प्रसिद्ध कथा वाचिका देवी ममता के सानिध्य में ऋषि पंचमी के पावन पर्व पर पं. हरेन्द्र गौड़ ने विधिवत् मन्त्रोच्चारण के साथ यज्ञ कुण्ड में 1008 मंत्रों की आहूतियाँ देकर जन कल्याणार्थ हेतु प्रार्थना की और सात ऋषियों की विशेष अर्चना की गई। इसकी महत्ता समझाते हुए कहा कि सनातन धर्म में ऋषि पंचमी का विशेष महत्व है, ऋषि पंचमी सप्तऋषियों के रूप में प्रख्यात महान सात ऋषियों को समर्पित है। जिन्होंने पृथ्वी से बुराई को खत्म करने के लिए स्वयं के जीवन का त्याग कर दिया और मानव जाति के उद्धार के लिए महान कार्य किये। प्राचीन समय से संत अपने शिष्यों को अपने ज्ञान और बुद्धि से शिक्षित करते आये है जिससे प्रेरित होकर मनुष्य दान, मानवता और ज्ञान के मार्ग की पालन करता है। महाभारत के अनुसार ऋषि कश्यप, ऋषि अत्रि, ऋषि भारद्वाज, ऋषि विश्वामित्र, ऋषि गौतम, ऋषि जमदग्नि और ऋषि वशिष्ट ये सभी सातों ऋषि सप्त ऋषियों के नाम से जाने जाते है। ऋषि पंचमी का व्रत रखने एवं कथा सुनने से लोगों के कष्ट दूर होते है और पापों से मुक्ति मिलती है। इस दौरान कलाकारों की ओर से भजनों की प्रस्तुतियां दी गई।

 

Sharad Shukla Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned