जय जन्मोत्सव पर ऑनलाइन गुणगान, जय चालीसा का पाठ

जैनाचार्य जयमल महाराज के जन्मोत्सव पर त्रिदिवसीय कार्यक्रम

By: Jitesh kumar Rawal

Updated: 30 Aug 2020, 09:37 PM IST

नागौर. श्वेतांबर स्थानकवासी जयमल जैन श्रावक संघ के तत्वावधान में आचार्य सम्राट जयमल महाराज का 313 वां जन्मोत्सव जप-जाप, तप-त्याग एवं जीव दया के कार्य कर मनाया जा रहा है। जयमल जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में हो रहे त्रिदिवसीय कार्यक्रम के दूसरे दिन रविवार को सभी मुख्य कार्यक्रमों का प्रसारण ऑनलाइन किया गया।

इस दौरान नागौर के जय संघीय श्रावक-श्राविकाओं ने सुबह 10 बजे से दोपहर एक बजे तक ऑनलाइन जुड़ कर आचार्य जयमल महाराज का गुणगान किया। ऑनलाइन कार्यक्रम में आचार्य सम्राट जयमल महाराज के जीवन चरित्र पर नाटिका, जैन समणी वृंद का प्रवचन, भजन, जयगच्छीय चातुर्मास स्थलों की जानकारी सहित कई कार्यक्रम हुए। नागौर जय संघ की गतिविधियां संजय पींचा ने प्रस्तुत की। दोपहर 2 बजे से 3 बजे तक जयमल जैन पौषधशाला में जय चालीसा का पाठ किया गया। सभी उपस्थित महानुभावों को महावीरचंद, पारसमल, शांतिलाल भूरट परिवार की ओर से प्रभावना वितरित की गई। इस मौके पर पुष्पा कांकरिया, रीता ललवानी, पुष्पा ललवानी, विनीता पींचा, संगीता चौरडिय़ा सहित अन्य श्रावक-श्राविकाएं उपस्थित रहे। जय जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में हो रहे तेले तप के तहत रविवार को अनेक श्रावक-श्राविकाओं ने बेला तप किया।

शांति जिन स्तुति से आज होगा समापन
जय जन्मोत्सव पर हो रहे त्रिदिवसीय कार्यक्रम का समापन सोमवार को होगा। जयमल जैन पौषधशाला में दोपहर 2 बजे से 3 बजे तक शांति जिन स्तुति का पाठ किया जाएगा। वहीं, सोमवार को अनेक श्रावक-श्राविकाएं तेला तप करेंगे। तेले तप करने वालों का बहुमान गौतमचंद, किशोरकुमार, ललितकुमार सुराणा परिवार की ओर से किया जाएगा। संघ मंत्री हरकचंद ललवानी ने बताया कि तेला तप नहीं करने वाले श्रावक-श्राविकाओं के लिए सोमवार को जन्मोत्सव के दिन घर बैठे एकासन तप का आयोजन रखा गया है।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned