बुआ ने डांटा तो भतीजा रूठकर ट्रेन में जा बैठा

मेड़ता रोड. घर में बुआ द्वारा डांट लगाने से गुस्साया बालक ट्रेन में बैठ गया, लेनिक जोधपुर- वाराणसी मरूधर एक्सप्रेस के सीटीआई शेरसिंह पंवार की सर्तकता से मिले बालक को परिजनों के सुपुर्द किया गया।

घर से भाग कर आया बारह वर्षीय बालक सीटीआई की सर्तकता से जोधपुर- वाराणसी मरूधर एक्सप्रेस के आरक्षित कोच में मिला।

By: Ravindra Mishra

Published: 13 Aug 2019, 08:04 PM IST


मेड़ता रोड. मंगलवार को जोधपुर से सुबह दस बजे जोधपुर- वाराणसी मरूधर एक्सप्रेस रवाना होने के बाद सीटीआई शेरसिंह पंवार, पूराराम पूनिया, नितेश गहलोत ने ट्रेन में टिकट चैकिंग कार्य शुरू किया। इस दौरान आरक्षित कोच संख्या एस 4 में एक बालक बैठा था। सीटीआई शेरसिंह की नजर बालक पर पड़ी। टिकट के बारे में पूछा तो उसने कोई जबाब नहीं दिया। बालक स्कूल डे्रस में था व पीछे बैग लगा होने पर उन्हें शक हुआ। सीटीआई भी उसके पास में बैठ गए और फिर पूछने पर उसने अपना नाम सोमदेव जाखड़ (12) पुत्र नेमीचंद निवासी लाडनंू तहसील के बीदासरी बताया। बालक ने बताया कि उसके पिता दुबई में रहते हैं। वह अपनी बुआ के पास जोधपुर के शिकारगढ़ में रहता है। विद्यापीठ विद्यालय में कक्षा सात में पढ़ाई करता है। बुआ द्वारा गुस्सा करने पर वह स्कूल जाने के वजाय ट्रेन में जा बैठा। मेड़ता रोड आने पर बालक को उतारा गया। सीटीआई ने बालक के स्कूल के प्रिंसीपल व परिजनों से बात होने पर बालक सोमदेव ही होने की पुष्टि की गई। व बालक को बीकानेर- बांद्रा रणकपुर एक्सप्रेस से वापस जोधपुर लेकर गए। वहां पर परिजनों के सुपुर्द किया। वाणिज्य निरीक्षक वीरेन्द्रसिंह तंवर ने भी उच्चाधिकारियों को सूचना दी।

Ravindra Mishra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned