दल-बल के साथ टॉवर हटवाने पहुंचे आयुक्त, कंपनी को निर्देश देकर लौट गए

सालभर पहले दिए थे दो नोटिस, तब भी कंपनी ने नहीं हटाया मोबाइल टॉवर, रहवासी इलाके में टॉवर का विरोध, हटवाने के मामले में ढिलाई बरत रही परिषद

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 01 Jul 2020, 11:05 AM IST

नागौर. शहर के रहवासी इलाके में लगे मोबाइल टॉवर को हटाए जाने के नोटिस जारी हुए सालभर बीत गया, लेकिन न तो कंपनी ने इस टॉवर को हटाया और न ही नगर परिषद ने कार्रवाई की। लोगों का विरोध होने के बावजूद नगर परिषद इस टॉवर को हटवाने में ढिलाई बरत रही है। मंगलवार को नगर परिषद आयुक्त पुलिस जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे, लेकिन नतीजा सिफर ही रहा। टीम यहां आने के बाद भी मोबाइल कंपनी को चेतावनी देकर लौट गई।

जानकारी के अनुसार शहर के रहवासी इलाके में मोबाइल टॉवर लगाए जाने पर आसपास के लोगों एवं सामाजिक संगठनों ने विरोध शुरू किया। इसके बाद नगर परिषद की ओर से टॉवर लगाने की अनुमति रद्द कर दी गई, लेकिन मोबाइल कंपनी अवैध रूप से टॉवर लगाने को प्रयासरत रही। इस पर नगर परिषद ने गत वर्ष मई व जून माह में दो नोटिस जारी कर मोबाइल कंपनी को टॉवर का काम रोकने एवं सामान ले जाने के भी निर्देश दिए, लेकिन कंपनी ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया। कुछ दिन पहले टॉवर का काम वापस शुरू हो गया तो लोग एकत्र हुए एवं वापस विरोध जताया। इस पर जिला कलक्टर व मुख्यमंत्री को भी ज्ञापन भेजे गए। उधर, मंगलवार को नगर परिषद आयुक्त दल-बल के साथ मौके पर आए, लेकिन कंपनी के कार्मिकों को ही मोबाइल टावॅर हटवाने की चेतावनी देकर लौट गए।

कंपनी को ही निर्देशित किया है
आयुक्त ने बताया कि तीन मंजिला टॉवर को तकनीकी तरीके से हटवाना पड़ेगा। इसके लिए कंपनी को ही निर्देशित किया गया है। कंपनी नहीं हटाती है तो परिषद की ओर से तकनीकी सहायता से टॉवर हटवाया जाएगा। उधर, टॉवर के लिए मौके पर टीम पहुंची तो आसपास के लोग भी एकत्र हुए। उन्हें उम्मीद थी कि मांग के अनुरूप कार्रवाई हो जाएगी, लेकिन कुछ कोई परिणाम नहीं निकला।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned